logo
(Trust Registration No. 393)
Write Your Expression

20 अक्टूबर को महर्षि वाल्मीकि की जयन्ती को भव्य रूप में मनाया जायेगा : डीएम

अलीगढ(उप्र)।  जनपद में आजादी के अमृत महोत्सव की श्रृंखला में 20 अक्टूबर को महर्षि वाल्मीकि जी की जयन्ती को भव्य रूप में मनाया जाए।

वाल्मीकि रामायण में निहित मानव मूल्यों, सामाजिक मूल्यों व राष्ट्र मूल्यों से जनमानस को जोडने के लिए महर्षि वाल्मीकि से संबंधित स्थलों, मन्दिरों आदि पर दीप प्रज्जवलन के साथ-साथ अनवरत 08, 12 अथवा 24 घण्टे का वाल्मीकि रामायण का पाठ भी कराया जाए। डीएम ने आज यहां इस आश्य के आदेश जारी किये है।

उन्होने अधिकारियों को निर्देश दिए है कि कार्यक्रम के अन्तर्गत श्रीराम व श्री हनुमान तथा रामायण से संबंधित अन्य महत्वपूर्ण स्थलों एवं मन्दिरों का चयन करते हुए, वहाँ सुरूचिपूर्ण आयोजन के साथ रामायण पाठ एवं भजन आदि के कार्यक्रम आयोजित कराये जाएं।

उन्होने यह भी निर्देश दिए कि निर्धारित कार्यक्रम को समयबद्ध रूप से कार्यवाही सुनिश्चित करने के साथ ही अपेक्षित विवरण भी समयबद्ध उपलब्ध कराना सुनिश्चित करें।

उन्होने कहा कि प्रत्येक जनपद के श्रीराम मन्दिर, श्री हनुमान मन्दिर अथवा रामायण से संबंधित अन्य कोई मन्दिर का पूरा पता, फोटो, जी0पी0एस0 लोकेशन तथा मन्दिर प्रबन्धक का सम्पर्क नम्बर उपलब्ध कराना सुनिश्चित करें।

यदि किसी जनपद में राम-जानकी मार्ग तथा राम वन गमन मार्ग के स्थल हो तो उसका पूर्ण विवरण, पता, फोटो तथा सम्पर्क महानुभाव का मोबाइल नम्बर उपलब्ध कराएं। 08, 12 एवं 24 घण्टे अनवरत रामायण पाठ के लिए जनपद में चयनित मंदिरों एवं स्थलों का विवरण नाम व पते सहित उपलब्ध कराएं।

चयनित मंदिरों एवं स्थलों पर कलाकारों, भजन गायकों के नाम, पते एवं मोबाइल नम्बर उपलब्ध कराने के साथ ही चयनित मंदिरों पर नामित नोडल अधिकारी के नाम, पदनाम, पता तथा मोबाईल नम्बर भी उपलब्ध कराना सुनिश्चित करें।

उन्होंने निर्देश दिए कि जनपद में जनपद स्तरीय, तहसील स्तरीय एवं विकास खण्ड स्तरीय समिति का गठन शीघ्र किया जाये जिसके माध्यम से यथेष्ट जानकारी एवं प्रभावी कार्यक्रम सम्पन्न किये जा सकें। प्रत्येक आयोजन स्थल पर कोविड-19 के शासन के निर्देशों का कडाई से पालन सुनिश्चित किये जाने के लिए संबंधित नोडल अधिकारी, मंदिर प्रबन्धक तथा कलाकारों को भी सुस्पष्ट निर्देश जारी किये जाएं। प्रत्येक आयोजन स्थल पर साफ-सफाई, पेयजल, ध्वनि, प्रकाश, दरी, बिछावन एवं सुरक्षा की विशेष व्यवस्था की जाये। उन्होने कहा कि सभी आयोजन स्थलों पर आयोजन के लिए सक्षम स्तर से अनापत्ति प्राप्त की जाए।

अनवरत वाल्मीकि रामायण के पाठ के लिए वाल्मीकि रामायण ग्रन्थ की उपलब्धता पूर्व में सुनिश्चित कर ली जाये तथा गायक कलाकारों एवं भजन मण्डलियों को पूर्व में ही अवगत कराया जाये। सीडीओ ने निर्देश दिए कि आयोजन की पूर्व संध्या 19 अक्टूबर 2021 को तैयारियों की फोटो संस्कृति विभाग की ईमेल valmikijayantiup@gmail.com पर भेजी जाये। आयोजन से संबंधित किसी भी जानकारी के लिए संस्कृति विभाग के नोडल अधिकारी श्री प्रभाकर जौहरी, संयुक्त निदेशालय, उत्तर प्रदेश के व्हाट्सएप नम्बर 9452986601 पर सम्पर्क कर सकते है।

आयोजन तिथि 20 अक्टूबर 2021 को उद्घाटन सहित सम्पूर्ण कार्यक्रम की कम से कम 10 फोटो मोबाइल से भी खींचकर ईमेल पर पोस्ट की जाये। फोटो प्रेषित करते समय स्थल का नाम, पता तथा जिले का नाम अवश्य लिखा जाये।

0
475 Views
61
4027 Views
69 Shares
Comment
7
1286 Views
14 Shares
Comment
1
91 Views
0 Shares
Comment
27
1919 Views
14 Shares
Comment
14
533 Views
3 Shares
Comment