logo
(Trust Registration No. 393)
Write Your Expression

झारखंड सरकार का बड़ा फैसला, बिना अनुमति गायब हुए डॉक्टर तो रद्द होगा लाइसेंस

मशेदपुर (झारखंड) झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन लगातार कोरोना संक्रमण पर नजर बनाये हुए है और इसे नियंत्रित करने की दिशा में लगातार प्रयास कर रहे है। इस सिलसिले में मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन कोरोना की जांच में तेजी लाने और अस्पतालों में संक्रमितों के बेहतर इलाज के लिए पहले ही निर्देश दे चुके है। मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने पहले ही कहा है कि संक्रमित मरीजों की जान बचाना उनकी पहली प्राथमिकता है।

इस बीच झारखंड सरकार ने बिना पूर्व अनुमति के डॉक्टरों के अनुपस्थित होने पर कडा रुख अख्तियार किया है। स्वास्थ्य विभाग ने साफ कह दिया है कि जो डॉक्टर बिना अनुमति के अनुपस्थित रहेंगे, ख़ास तौर पर कोविद अस्पतालों में प्रतिनियुक्त डॉक्टर, उनपर कड़ी कार्रवाई की जाएगी। संक्रमण के दौरान ड्यूटी में लापरवाही बरतने का मामला दर्ज किया जायेगा। साथ ही उन डॉक्टरों का लाइसेंस भी रद्द कर दिया जायेगा।


ड्राइविंग लाइसेंस की प्रक्रिया स्थगित :

राज्य सरकार ने लर्निंग लाइसेंस और ड्राइविंग लाइसेंस की प्रक्रिया को तत्काल प्रभाव से स्थगित कर दिया है। इस अवधि में वैधता समाप्त होने वाले इन दस्तावेजों को वैध समझा जायेगा। कोरोना के संक्रमण को रोकने और आम नागरिकों की सुविधा के लिए यह फैसला लिया गया है।

63
10023 Views
26 Shares
68
9750 Views
21 Shares
Comment
63
10081 Views
43 Shares
Comment
63
8567 Views
0 Shares
Comment
63
8566 Views
0 Shares
Comment
63
9684 Views
0 Shares
Comment