logo

विकास कि आश पर विधायक पद के मतदान। वही वर्षों पुराने चेहरे। आम जन का विश्वास होगा पूरा। या फिर दोबारा मिलेगी उदासीनता।

विकास कि आश पर विधायक पद के मतदान। वही वर्षों पुराने चेहरे। आम जन का विश्वास होगा पूरा। या फिर दोबारा मिलेगी उदासीनता।

खंडार विधानसभा क्षेत्र में अभी के हालातो में आगामी होने वाले विधानसभा क्षेत्र के चुनावी दौर के दौरान विधायक पद का प्रचार प्रसार विकास के नाम पर बड़े जोर शोरों पर चल रहा है। हर बार विधानसभा चुनावी दौर में जनप्रतिनिधियों द्वारा आम जन को विकास का बड़ा आश्वासन दिया जाता है। लेकिन पूरे 5 वर्ष निकल जाने के पश्चात भी विकास के नाम पर दिया गया आश्वासन का दौर पूरा नहीं हो पाता है। खंडार विधानसभा क्षेत्र में कई वर्षों से कांग्रेस बीजेपी पार्टी के प्रत्याशी विधायक पद पर विकास के नाम पर शासन करते हुए आ रहे हैं। इस वर्ष भी विधायक पद के उम्मीदवार के रूप में दोनों ही पार्टियों के कई वर्ष पुराने एवं कई बार विधायक पद पर शासन करने वाले चेहरे उभर कर आमजन के सामने आए। पिछले विधानसभा क्षेत्र के चुनावी दौर की भांति इस वर्ष भी आमजन से जन समस्या निस्तारण एवं विकास के नाम पर प्रचार प्रसार के तहत दोनों ही पार्टियों के उम्मीदवार बड़े-बड़े बादे करते हुए। विकास के नाम पर बड़ा आश्वासन दे रहे हैं। दोनों ही पार्टियों की उम्मीदवार कई वर्षों से खंडार विधानसभा क्षेत्र में विकास के नाम पर आश्वासन देकर के विधायक पद पर शासन करते हुए आ रहे हैं। लेकिन अब देखना है कि इस वर्ष के चुनावी दौर में विधायक पद पर विजय होने के पश्चात आमजन को दिया हुआ आश्वासन पूरा होता है। या फिर पिछले वर्षों की भांति आगामी वर्षों में भी आमजन को विकास के नाम पर मायूसी प्राप्त होगी। क्योंकि खंडार विधानसभा क्षेत्र में कई वर्षों से देखा जा रहा है कि हर 5 वर्ष में विधानसभा क्षेत्र के चुनावी दौर के तहत कांग्रेस बीजेपी दो पार्टियों के चेहरे उभर कर विधायक पद के लिए आमजन के सामने आते हैं। यहां तक की दोनों ही पार्टियों के विधायक पद के उम्मीदवार कई वर्षों से विकास के आश्वासन के ध्वज के तले विजय होते हुए। विधायक पद पर शासन करते हुए आ रहे हैं। लेकिन विजय होने के पश्चात दोनों ही पार्टियों के विधायक विकास एवं आश्वासन शब्दों का महत्व ही भूल जाते हैं। विकास के नाम पर दिए आश्वासन के विश्वास को लेकर आम जन पूरे 5 वर्ष विधायक के आगे पीछे घूमते रहते हैं। लेकिन 5 वर्ष व्यतीत हो जाते हैं। लेकिन आश्वासन का दौर पूरा नहीं होता है। विकास के नाम पर आमजन को बड़ी मायूसी का ही सामना करना पड़ता है। इस वर्ष के विधानसभा क्षेत्र के चुनावी दौर में भी पिछले वर्षों जैसे हालात देखे जा रहे हैं। आमजन को विकास के नाम पर आश्वासन देकर लुभाया जा रहा है। लेकिन देखना यह है कि इस वर्ष के विधानसभा चुनावी दौर में दोनों ही पार्टियों के कई वर्षों से विधायक पद पर शासन करने वाले पुराने चेहरे आमजन के सामने उभर कर आए हैं। विजय होने के पश्चात आमजन से विकास को नाम पर दिया हुआ आश्वासन पूरा होगा या फिर दोबारा आमजन को विकास के नाम पर मायूसी का ही सामना करना होगा। या फिर खंडार विधानसभा क्षेत्र की आम जनता तीसरे विकल्प से गुजरते हुए। कई वर्षों के हालातो में परिवर्तन लायगी। या फिर खंडार विधानसभा क्षेत्र के पिछले वर्षों के हालात जैसे ही आगामी वर्षों में भी बने रहेंगे। क्योंकि खंडार विधानसभा क्षेत्र में यह हालात कई वर्षों से देखे जा रहे हैं।

17
11161 views