logo

★छोलाछाप डॉक्टर की कमाई का जरिया बना बुखार★

●छोलाछाप डॉक्टर से इलाज करा रही महिला की हुई मौत●

हरियावां(हरदोई)।स्वास्थ्य विभाग की लापरवाही के चलते ग्रामीण क्षेत्रों में झोलाछाप डॉक्टरों के खिलाफ कार्रवाई नहीं हो पा रही है इसकी वजह से उनका धंधा धड़ल्ले से चल रहा है झोलाछाप डॉक्टरों के हौंसले बुलंद मरीजों की जान से कर रहे खिलवाड़ इनमें से किसी भी चिकित्सक की मौके पर पहुंचकर न तो जांच की जाती और न ही उनके प्रमाणपत्रों की पड़ताल की जाती है हरदोई जिले में गांव-गांव में झोलाछाप डॉक्टरों की भरमार है। चाय की गुमटियों जैसी दुकानाें में झोलाछाप डॉक्टर मरीजों का इलाज कर रहे हैं। मरीज चाहे उल्टी, दस्त, खांसी, बुखार से पीड़ित हो या फिर अन्य कोई बीमारी से। सभी बीमारियों का इलाज यह झोलाछाप डॉक्टर करने को तैयार हो जाते हैं।
ऐसा ही एक मामला हरियावां थाना क्षेत्र का है जहाँ क्षेत्र के संधिनाँवा मजरा फतियापुर निवासी अमिता जो कि बीमार चल रही थी ऐसे ही संधिनाँवा में झोलाछाप डॉक्टर से दवा लेती रही, ओर आज अपने जीवन से हाथ धो बैठी ❓

*इन झोलाछाप डॉक्टरो पर क्यों है महेरबान अधीक्षक हरियावां*

जानकारी मिलते ही पहुची हरियावां थाने की पुलिस ने शव को पंचनामा भरकर पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया है

28
6351 views