logo

*नवयुवक को मारकर रस्सी के सहारे लटका दिया थाना रेउसा की घटना* सीतापुर थाना रेउसा इलाके में दुश्मनी निकालने के लिए नवय

*नवयुवक को मारकर रस्सी के सहारे लटका दिया थाना रेउसा की घटना*

सीतापुर थाना रेउसा इलाके में दुश्मनी निकालने के लिए नवयुवक को मार कर रस्सी के सहारे लटका दिया पेड़ से पहले अपहरण का कथित आरोप लगाया फिर दिया जघन्य वारदात को अंजाम। पुलिस की लचर कार्यशैली के चलते दबंगों ने दिया सनसनीखेज वारदात को अंजाम। परदेश कमाने गया था मृतक।
स्थानीय थाना क्षेत्र के अंतर्गत भीरी निवासी मुकेश उम्र करीब 22 वर्ष हिमांचल में मेहनत मजदूरी करके परिवार का पालन पोषण करता था। बीते बुधवार की दोपहर करीब 12 बजे गांव के ही आरोपी गण कन्हैया, अमर, अमित, व कन्हैया का साला नाम व पता अज्ञात ने सुनियोजित ढंग से मजदूरी करने गए मुकेश को जबरन अपने गांव ले आये। इसके बाद मुकेश से विवाद करने के बाद उसका मोबाइल फोन छीन लिया और आरोप लगाया कि लड़की को भगाने में हाथ है, और मुकेश को पकड़ कर अपने साथ ले जाने लगे तो मुकेश के पिता रामपाल ने पूछा तो आरोपियों ने बताया कि केवल बात करनी है, जिसके बाद मृतक का पिता रामपाल खेत की रखवाली करने चला गया। जिसके बाद बीते गुरुवार की सुबह गांव के दक्षिण लगे पेड़ से परिजनों ने मुकेश का शव लटकते पाया। मृतक के परिजनों का आरोप है कि बुधवार की रात उक्त आरोपियों ने मिलकर मुकेश की हत्या कर दी और आत्महत्या में बदलने के लिए शव को पेड़ से लटका दिया। आरोपियों ने साक्ष्य मिटाने व पुलिस को गुमराह करने में कसर नहीं छोड़ी तो वहीं पुलिस आरोपियों का बचाव करते नजर आई। पीड़ित रामपाल ने उक्त आरोपियों के विरुद्ध स्थानीय थाने पर तहरीर देकर कार्यवाही किये जाने की मांग की है। सूचना पर मौके पर पहुंची पुलिस ने विधिक कार्यवाही करते हुए शव को चिकित्सकीय परीक्षण हेतु जिला मुख्यालय भेज दिया है। मामले को लेकर थाना प्रभारी रेउसा संतोष कुमार ने बताया कि मृतक ने फांसी लगाई है। अन्य कार्यवाही की जा रही है।परिजनों का रो रोकर बुरा हालअगर पुलिस चेत जाती तो नहीं होती हत्या" परिजनों ने बताया कि मुकेश ने आज तक किसी से वाद विवाद नहीं किया था। हमेशा परदेश जाकर मेहनत मजदूरी करके पूरे परिवार को अभिभावक के रूप में देखभाल करता था। परिजनों का आरोप है कि आरोपियों ने मुकेश पर लड़की को भगाने में सहयोग करने का झूठा आरोप मढ़ दिया, जबकि काफी समय से मृतक दूसरे प्रदेश में मजदूरी कर रहा था। अगर समय रहते पुलिस ने अपनी कार्यवाही में तेजी लाई होती तो आज मुकेश जिंदा होता। मृतक के परिजन व रिश्तेदारों का रो रोकर बुरा हाल है।शव को चिकित्सकीय परीक्षण हेतु भेजा गया है। मृतक के परिजन की तहरीर व मेडिकल रिपोर्ट के आधार पर विधिक कार्यवाही की जाएगी। इस संबंध में सीओ अभिषेक प्रताप सिंह अजेय ने बताया कि जांच व तथ्यों के आधार पर अग्रिम कार्यवाही प्रचलित है। मामले को लेकर अन्य सभी बिंदुओं पर गहनता से जांच प्रचलित है, कठोर कार्यवाही अमल में लाई जाएगी।

4
3068 views
  
1 shares