logo
(Trust Registration No. 393)
अपने विचार लिखें....

कोरोना काल के चलते। जीव सेवार्थ करते हुए। मकर सक्रांति का महा पुण्य पर्व मनाया गया।
 खंडार कस्बे में देखा गया कि कोराना महामारी काल के चलते पिछले वर्ष की भांति इस वर्ष भी आम जनता के लिए। मकर सक्रांति पर्व के रंग फिके रहे हैं। समाजसेवी पंडित मनोज कुमार शर्मा, राजस्थान मंडल प्रमुख हरीश मथुरिया, समाजसेवीओम प्रकाश बैरवा, एलआईसी एजेंट समाजसेवी सीताराम बैरवा,महिला पर पोस्ट से समाजसेवी द्रोपती बैरवा, रजनी बैरवा आदि ने बताया कि कोराना महामारी के संक्रमण रोकथाम एवं सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों की पालना मे मकर सक्रांति पर्व पर होने वाले कई आयोजन स्थगित रहे हैं। मकर सक्रांति के पावन पर्व के अवसर पर खंडार कस्बे में कई जगहों पर हर वर्ष गरीब परिवारों के सदस्यों के लिए। भोजन के लिए। कई जगहों पर लंगर लगाए जाते थे। लेकिन 2 वर्षों से कोरानामहामारी काल के चलते गरीब परिवारों के सदस्यों के लिए भोजन के लंगरो के आयोजन स्थगित रहे।   पिछले वर्ष की भांति इस वर्ष भी खंडार कस्बे में मकर संक्रांति के पर्व के अवसर पर गरीब परिवारों के सदस्यों के लिए। लगने वाले लंगरो के आयोजन स्थगित रहे हैं। आज मकर सक्रांति के पावन पुण्य पर्व के अवसर पर ग्रामीणों ने गोवंश की सेवा करते हुए एवं गरीब परिवारों के सदस्यों को गर्म वस्त्रों का दान करते हुए। इस प्रकार से जीव सेवार्थ करते हुए। मकर सक्रांति का महा पुण्य पर्व मनाया गया। इस प्रकार से पिछले वर्ष की भांति इस वर्ष भी खंडार कस्बे में आमजन के लिए।मकर सक्रांति पर्व के रंग फिके ही रहे हैं।

5
301 views