logo

मेरठ में बढ़ते कोरोना मरीजों की संख्या पर मण्डलायुक्त गंभीर

 -अधिकारियों, मेडिकल कॉलेजो व नर्सिंग होम प्रतिनिधियों के साथ की बैठक
 मेरठ। जनपद में कोरोना मरीजों की बढ़ती संख्या को गंभीरता से लेते हुए मण्डलायुक्त अनीता सी मेश्राम ने आयुक्त सभागार में स्वास्थ्य विभाग व प्रशासनिक अधिकारियों, प्राईवेट नर्सिंग होम संचालकों के साथ बैठक कर उन्हें निर्देशित किया कि कोरोना के बढ़ते मरीजों की संख्या को सभी परस्पर समन्वय के साथ नियंत्रित करें। 

उन्होंने कहा कि प्रायः दिल्ली से आने जाने वाले लोगों, बुजुर्ग व्यक्तियों व मरीजों पर विशेष ध्यान दिया जाये। उन्होंने कहा कि समय से कोरोना जांच, समय से उपचार व समय से रेफरल जरूरी है।

आयुक्त अनीता सी. मेश्राम ने नवम्बर माह में कोरोना के बढ़ते मरीजों की संख्या पर चर्चा करते हुए कहा कि कोरोना के संदिग्ध मरीजों की कोरोना जांच प्राथमिकता पर करायी जाये तथा संदिग्ध मरीजों को जब तक उनकी जांच रिपोर्ट नहीं आती है, तब तक उनके घर में ही आईसोलेट किया जाये ताकि अगर वह कोरोना पॉजिटिव निकलते हैं तो संक्रमण न फैले।


आयुक्त ने कहा कि प्राईवेट अस्पताल कोरोना व मृत्यु दर नियंत्रण में सहयोग करें तथा नियमित रूप से आईएलआई व साॅरी मरीजों की सूचना प्रतिदिन स्वास्थ्य विभाग को दें तथा स्वास्थ्य विभाग की यह जिम्मेदारी है कि वह उन सभी मरीजों की कोरोना जांच करायें। आयुक्त ने कहा कि कोई कोरोना पाजिटीव मिलने पर कान्ट्रेक्ट टेस्टिंग को ठीक प्रकार से किया जाये तथा निर्धारित समय में ऐक्टिव केस सर्च पूर्ण की जाये।

आयुक्त ने कहा कि जिन स्थानों में 48 घंटे में कोरोना से दो या तीन मृत्यु हुयी है उन स्थानों पर भी विषेष ध्यान दिया जाये। उन्होने कहा कि स्वास्थ्य विभाग सरकारी व प्राईवेट अस्पतालों को मिलाकर बैड, एम्बुलेन्स आदि को बढ़ाने की कार्यवाही करें। उन्होने कहा कि प्राईवेट एम्बुलेन्स संचालको की माॅनीटरिंग की जाये व मरीज के स्वजनो से वह ज्यादा चार्ज न करें इसको भी देखा जाये। उन्होंने कहा कि सर्विलांस को बढ़ाते और प्रभावी ढंग सेे किया जाये।

मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. राजकुमार ने बताया कि जनपद में 17 नवम्बर से 27 नवम्बर 2020 तक कोरोना के संदिग्ध मरीजों की पहचान के लिए घर-घर सर्वे अभियान चलाया जा रहा है। इसके लिए 1400 टीमें पूरे जनपद में बनायी गयी हैं। उन्होंने बताया कि 200 बेड की क्षमता वाले धन सिंह कोतवाल मंडलीय होमगार्ड प्रशिक्षण केन्द्र, पांचली को पुनः प्रारंभ किया जायेगा। उन्होंने बताया कि एलएलआरएम मेडिकल कॉलेज ने अपनी बेड क्षमता 200 से बढ़ाकर 250 कर ली है।

मंडलीय सर्विलांस अधिकारी डॉ. अशोक तालियान ने बताया कि घर-घर सर्वे अभियान के पहले दिन 17 नवम्बर 2020 को गठित टीमों ने 71666 घरों का सर्वे करते हुए 353702 जनसंख्या को कवर किया। उन्होंने कहा कि कोरोना के साथ-साथ स्वाईन फ्लू व डेंगू की जांच को भी ध्यान में रखा जाये।

इस अवसर पर सीडीओ ईशा दुहन, एलएलआरएम मेडिकल कॉलेज के प्रधानाचार्य डॉ. ज्ञानेन्द्र कुमार, मंडलीय सर्विलांस अधिकारी डॉ. अशोक तालियान, डॉ. पीपी सिंह, आईएमए के अध्यक्ष डॉ. अनिल कपूर, सचिव डॉ. मनीषा त्यागी, प्राईवेट नर्सिंग होम एसोसिएशन के अध्यक्ष डॉ. अम्बरीष पंवार, एनसीआर इन्स्टीटयूट आफ मेडिकल साइंस, आनंद अस्पताल, सुभारती मेडिकल कॉलेज, लोकप्रिय अस्पताल आदि के प्रतिनिधियों सहित अन्य अधिकारी उपस्थित रहे।

All News