logo

सेहत के लिए हानिकारक होता है अधिक नमक का सेवन

शरीर में नमक की अधिक मात्रा स्वास्थ्य के लिए हानिकारक हो सकती है।  यह उच्च रक्तचाप का कारण बन सकता है। इसलिए हाइपरटेंशन के मरीजों को अत्यंत सावधानी के साथ इसका उपयोग करना चाहिए। इतना ही नहीं, नमक गुर्दे से जुड़ी कई प्रकार की बीमारियों की भी वजह बन सकता है। कुछ अध्ययन के मुताबिक, नमक से प्रतिरोधक तंत्र भी खराब होता है।

अगर आप भी भोजन में नमक का अधिक उपयोग करना पसंद करते हैं या ज्यादा नमकीन खाना खाते हैं तो अपनी यह आदत बदल दीजिए। फूड सेफ्टी एंड स्टैंडर्ड ऑथोरिटी ऑफ इंडिया (FSSAI) ने खाने में नमक की मात्रा को नियंत्रित करने के कुछ बेहतरीन उपाय बताये हैं। उच्च रक्तचाप या गुर्दे की बीमारी से बचाव के लिए ये बेहद कारगर हो सकते हैं।

भोजन में नमक का अधिक उपयोग करने की बजाय सीजन में मिलने वाले दूसरे विकल्पों का उपयोग करें। आप नमक के स्थान पर लेमन पाउडर, आमचूर पाउडर (आम का पिसा हुआ चूर्ण), अजवाइन, काली मिर्च, ऑरिगैनो की पत्ती का उपयोग कर सकते हैं।

भोजन पकाते वक्त क्या करें?
FSSAI ने अपने ट्वीट में लिखा, 'भोजन बनाते समय बीच में नमक डालने की बजाय, बिल्कुल अंत में नमक डालें। इस तरह आप खाना पकाने की प्रक्रिया में कम नमक का इस्तेमाल करेंगे।'

अक्सर लोग लंच-डिनर में खाने के साथ पापड़, अचार, सॉस, चटनी या नमकीन साथ में खाना कभी नहीं भूलते। इन चीजों में नमक की अधिक मात्रा होती है। ये जुबान का स्वाद तो बढ़ा देती हैं, लेकिन रक्तचाप के लिए खतरनाक हैं। इसलिए इनका कम से कम उपयोग करें।

कुछ लोग सब्जियों के अतिरिक्त भी खाने की कई चीजों में बिना वजह नमक डालते हैं। चावल, डोसा, रोटी, पूरी या सलाद को बिना नमक डाले भी खाया जा सकता है। इन चीजों में नमक डालने से इनकी स्वाभाविक मिठास कम हो जाती है।

All News