logo
logo
(Trust Registration No. 393)
aima profilepic
Amrendra Kumar
All India Media Association

दुमका। विवेक हत्याकांड में फरार आरोपी बुद्धदेव गोराई उर्फ मेघु गोराई को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है।

दुमका शहर के हरणाकुंडी रोड निवासी विवेक कुमार साह की हत्या की घटना 15 नवम्बर को दुमका मुफस्सिल थाना क्षेत्र के सरुवा गांव के पास हुई थी।

आरोप है कि उसे जहर देकर और पीट-पीट कर हत्या कर दी गई थी।बता दें कि प्रेम प्रसंग में विवेक कुमार साह की निर्मम हत्या की गई थी।उसके विरुद्ध सरुवा गांव की एक लड़की ने छेड़खानी की प्राथमिकी दर्ज की थी जबकि विवेक के परिजनों का कहना है कि दोनों एक-दूसरे से प्रेम करते थे।इसे लेकर 13 नवम्बर को दुमका महिला थाना में दोनों परिवारों के बीच पंचायती भी हुई थी।बांड भरवाया गया था।

आरोप है कि  दो दिन बाद ही 15 नवम्बर को लड़की के पिता ने विवेक को फोन कर घर बुलवाया और जहर देकर उसकी बेरहमी से पिटाई की।

गंभीर हालत में उसे फूलो झानो मेडिकल कॉलेज अस्पताल दुमका में भर्ती कराया गया और जहां इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई।इस मामले में उक्त लड़की के पिता की गिरफ्तारी 16 नवम्बर को ही हो गई थी।

उसका चाचा बुद्ध देव गोराई उर्फ मेघु गोराई पुलिस हिरासत से फरार हो गया था जिसे 19 नवम्बर को गिरफ्तार किया गया।उसे शनिवार को अदालत में पेशी कर जेल भेजने की कार्रवाई की जा रही है।

..........
0
422 views    0 comment
0 Shares

दुमका। राष्ट्रीय जनता दल जिला अध्यक्ष अमरेंद्र कुमार यादव ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के द्वारा तीनों कृषि बिल वापस लेने की घोषणा पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा कि मोदी सरकार का कृषि क़ानून वापसी का यह फ़ैसला विशुद्ध रूप से चुनावी नफ़ा-नुक़सान देखकर लिया गया है।

उन्होंने कहा कि इस एक वर्ष में इस सरकार ने किसानों को डराने, आंदोलन को मिटाने एवं दुष्प्रचारित करने में कोई कोर कसर नहीं छोड़ी।इस आंदोलन को धर्म विशेष से जोड़ा, किसानों को खालिस्तानी, आतंकवादी, देशद्रोही, आढ़तिए, बिचौलिये, अराजक, उपद्रवी, आंदोलनजीवी, अंतरराष्ट्रीय साज़िश, मोदी को हराने का एजेंड़ा इत्यादि कहा गया।

राजद नेता ने कहा कि किसानों के रास्ते रोके गए, कीलें ठोंकी गयी, काँटेदार बैरिकेडिंग की गयी, गोलियाँ चलाई गयी, केंद्रीय मंत्रियों द्वारा उन्हें गाड़ियों तले रौंदा गया, आंदोलन को जातियों में बाँटा गया, सामाजिक विद्वेष पैदा किया, लालच दिया गया लेकिन किसान अपनी दूरदर्शिता और जज़्बे के दम पर सर्दी, गर्मी, आँधी-तूफ़ान और बारिश के बीच घर बार छोड़ अपने मोर्चे पर डटे रहे। इस आंदोलन ख़ातिर 700 सत्याग्रही किसानों ने शहादत दी। वर्तमान परिपेक्ष में भाजपा सरकार का यह निर्णय सौ चूहे खाकर बिल्ली हज को चली कहावत को चरितार्थ करती है। याद रखना है जिस दिन ये दोबारा मज़बूत होंगे तो इस बार कान दूसरे तरीक़े से पकड़ेंगे। साँप अगर अपने ज़हरीले फ़न को नीचे कर लें तो इसकी कोई गारंटी नहीं कि वो डसेगा नहीं। भाजपा चुनाव हारेगी तभी महंगाई और बेरोजगारी कम होगी। समाज में आपसी प्रेम और भाईचारा क़ायम रहेगा। सरकारी संपत्तियाँ बची रहेंगी। सीमा पर जवान, खेत में किसान और मंडी में अनाज व एमएसपी सुरक्षित रहेंगे। अगर ये वोट के लिए स्टंट करते है तो इन्हें अच्छे से वोट की चोट देना है। तभी हमारे हक़-अधिकार सुरक्षित रहेंगे अन्यथा धर्म विशेष के प्रति नफ़रत फैला कर ये हमारे व्यापार, धँधे, आरक्षण व नौकरी को समाप्त कर सरकारी संपत्ति को निजी हाथों एवं पूंजीपतियों को सौंपते रहेंगे। भाजपा अब प्रचार में लगेगी कि प्रधानमंत्री जी किसानों के कितने बड़े हितैषी है। तमाम किसान संगठनों और विपक्षी दलों के आंदोलन से यह बात साबित हुई है कि देश में आज भी लोकतंत्र जीवित है।


राजद मांग करती है कि प्रधानमंत्री तत्काल इस आंदोलन में मारे गए किसानों को मुआवज़ा दें और उन्हें शहीद का दर्जा प्रदान करे। मारे गए किसानों के परिवार के सदस्य को नौकरी दें। किसान आंदोलन में जो एफआईआर हुए हैं, न्यायालय में मामले लम्बित हैं, उन्हें अविलंब वापस लिया जाय। इतने वक्त तक किसान जो सड़कों पर थे, जो घर-बार छोड़कर बाल-बच्चों के साथ सड़क पर थे, उन देश के सभी किसानों को फसल की क्षतिपूर्ति का भुगतान किया जाना चाहिए।

..........
6
847 views    0 comment
0 Shares

दुमका। उपायुक्त रविशंकर शुक्ला के कड़े आदेश का असर मंगलवार को शिकारीपाड़ा थाना क्षेत्र अंतर्गत दिखाई दिया। जिला खनन पदाधिकारी के नेतृत्व में चलाए गए अवैध परिवहन के जांच के दौरान पत्थर चिप्स एवं बालू लदे ट्रैक्टर सहित कुल 18 वाहन जब्त किए गए, लेकिन थाना में जब्ती की सूची केवल 12 वाहनों की ही बनी, शेष छह वाहन भागने में सफल रहे।

शिकारीपाड़ा थाना क्षेत्र अंतर्गत चल रहे खनिज संपदा के अवैध खनन एवं परिवहन पर रोक लगाने के उद्देश्य से उपायुक्त रविशंकर शुक्ला के आदेश पर अनुमंडल पदाधिकारी महेश्वर महतो के नेतृत्व में जिला खनन पदाधिकारी कृष्ण कुमार किस्कू, अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी नूर मुस्तफा, अंचल अधिकारी राजू कमल, पुलिस निरीक्षक सह थाना प्रभारी सुशील कुमार एवं जिला पुलिस बल तथा एसएसबी के जवानों की मदद से मंगलवार को कार्रवाई शुरू की गई।

थाना पहुंचते ही अचानक अनुमंडल पदाधिकारी महेश्वर महतो की तबीयत खराब हो गई। तत्काल सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र शिकारीपाड़ा के प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी मनोज कुमार हंसदा ने एसडीएम की स्वास्थ्य जांच की और उसके बाद अनुमंडल पदाधिकारी वापस दुमका चले गए।

जिला खनन पदाधिकारी के नेतृत्व में टीम ने दुमका रामपुरहाट राष्ट्रीय उच्च पथ पर बगैर परिवहन चालान एवं क्षमता से अधिक बोल्डर पत्थर चिप्स एवं बालू लदे ट्रैक्टर सहित कुल 18 वाहनों को जब्त किया, लेकिन थाना पहुंचते-पहुंचते 6 वाहन भागने में सफल रहे।

12 वाहनों की जब्ती सूची बनाकर जिला खनन पदाधिकारी ने पुलिस के हवाले कर दी। श्री कृष्ण कुमार ने बताया कि शाम को सारी रिपोर्ट उपायुक्त दुमका को दी जाएगी| उनके आदेश के बाद ही पकड़े गए वाहनों के ऊपर प्राथमिकी दर्ज की जाएगी या जुर्माना करके छोड़ा जाएगा। पकड़े गए सभी वाहनों के चालक पुलिस अभिरक्षा में थाने में रखे गए हैं। कृष्ण कुमार ने बताया कि किसी भी हालत में जिले में अवैध पत्थर, कोयला एवं बालू का खनन एवं परिवहन नहीं चलने दिया जाएगा। जो सरकार के आदेश की अवहेलना करेंगे उनके विरुद्ध कड़ी से कड़ी कार्रवाई की जाएगी। उपायुक्त रवि शंकर शुक्ला अवैध कारोबार एवं पासिंग को लेकर काफी गंभीर हैं।

..........
1
223 views    0 comment
0 Shares

दुमका। मसानजोर में मयूराक्षी नदी के मझधार में एक युवती कई घंटे तक एक टीलानुमा चट्टान पर फंसी रही। यह घटना बुधवार को झारखंड के दुमका जिला में मसानजोर के पास रानीबहाल पुल की नीचे हुई।

आसपास के लोगों की सूचना पर मसानजोर और टोंगरा थाना की पुलिस मौके पर पहुंची और रेस्क्यू कर युवती को सुरक्षित नदी किनारे लाया। टोंगरा थाना क्षेत्र के मुड़जोड़ा गांव की करीब 18 वर्षीय प्रतिमा हांसदा बुधवार को तड़के करीब 4.30 शौच के लिए नदी के किनारे गई थी। इसी दौरान पैर फिसलने से वह नदी में गिर गई।

इन दिनों मयूराक्षी में पानी का जलस्तर बढ़ा रहने के कारण मसानजोर डैम का 7 गेट खोल कर पानी छोड़ा जा रहा है। डैम के प्रत्येक गेट से प्रति घंटा 2500 क्यूसेक पानी छोड़े जाने से छोड़े जाने के कारण नदी की धार काफी तेज है। इसी तेज धार में वह युवती बह गई थी।

मयूराक्षी नदी में कई स्थान पर चट्टान है। रानीबहाल पुल के नीचे ऐसे ही टीलानुमा चट्टान को प्रतिमा ने पकड़ लिया जिससे उसकी जान बच गई। पर काफी देर तक वह नदी के बीच टीला पर फंसी रही। वहां से निकलना उसके लिए चुनौती थी।

इस बीच सुबह हो गई। सुबह आसपास के लोगों की उस पर नजर पड़ी तो पुलिस को सूचना दी गई। मसानजोर के थाना प्रभारी मनोज राय ने बताया कि युवती को सुरिक्षत निकाल कर उसके परिजनों को सौंप दिया गया।

..........
0
232 views    0 comment
0 Shares

दुमका । झारखंड में इन दिनों पत्रकार के साथ बदसलूकी ओर मारपीट की घटना बढ़ती जा रही है। ताजा मामला सिदो कान्हु मुर्मू विश्वविद्यालय की है । जहां हरदेव कंस्ट्रक्शन के मुंशी ने पत्रकार का आईडी कार्ड छीन लिया और बदतमीजी की ।

इस कंपनी के द्वारा बनायी जा रही सड़क का ढलाई का काम बुधवार कराया जा रहा था। इस दौरान बाइब्रेटर का उपयोग नहीं किया गया है। एप्रोच पथ के ढलाई के लिये सीमेंट, बालू और गिट्टी का मिश्रण डीपीआर के हिसाब से नहीं था। ये सवाल पूछने पर हरदेव कन्स्ट्रक्शन का मुंशी मुकेश यादव पत्रकार से ही उलझ गया। मुंशी ने पत्रकारों को पहले किसी भी तरह की जानकारी देने से इंकार कर दिया। उसके बाद पत्रकार से उसका आइडी कार्ड दिखाने को कहा। कार्ड दिखाने पर पत्रकार का कार्ड मुंशी मुकेश यादव ने छीन लिया। उसके बाद पत्रकार ने सिदो कान्हु मुर्मू विश्वविद्यालय के मीडिया प्रभारी डा विनय सिन्हा, कुलसचिव डा संजय कुमार सिंह एवं सीसीडीसी डा विजय कुमार को इसकी जानकारी दी।

उसके बाद विश्वविद्यालय ओपी में इसकी सूचना देने के बाद ओपी के पुलिस पदाधिकारियों ने त्वरित कारवाई करते हुए हरदेव कन्स्ट्रक्शन के मुंशी से पत्रकार प्रेस कार्ड बरामद किया।

यहां बता दें कि हरदेव कन्स्ट्रक्शन के मुंशी को सड़क के निर्माण में गड़बड़ी को छुपाने के लिये पत्रकारों के साथ दुर्व्यवहार कर रहा है और मौके से जेइ भी नदारद थे।

..........
1
126 views    0 comment
0 Shares

देवघर। साइबर थाना की पुलिस ने पंद्रह साइबर अपराधियों को गिरफ्तार किया है। साइबर थाना की पुलिस ने देवघर जिला के करौं थाना क्षेत्र के नागादरी और भोरनडीहा, पथरौल थाना क्षेत्र के ठेंगाडीह, मधुपुर थाना क्षेत्र के मधुपुर बाजार और भेड़वानावाडीह और देवीपुर थाना क्षेत्र के महुआटांड से पंद्रह साइबर अपराधियों को गिरफ्तार किया है।

शनिवार को इस बाबत आयोजित एक प्रेस कांफ्रेंस में पूरे मामले की जानकारी देते हुए साइबर डीएसपी सुमित प्रसाद ने बताया कि इन साइबर अपराधियों के पास से 28 मोबाइल, 42 सिम कार्ड और 1 पासबुक बरामद किया गया है।

गिरफ्तार अपराधियों में 30 वर्षीय नूर आलम, 32 वर्षीय रियासत अंसारी, 19 वर्षीय तबारक अंसारी, 30 वर्षीय इसराइल अंसारी, 21 वर्षीय इकरार अंसारी, 21 वर्षीय फैयाज अंसारी, 25 वर्षीय मुकेश मंडल, 22 वर्षीय प्रीतम दास, 20 वर्षीय गौतम दास, 28 वर्षीय टिकैत दास, 19 वर्षीय शिबू दास, 27 वर्षीय दीपक दास, 25 वर्षीय रोहित रवानी, 21 वर्षीय मिथुन रवानी और 30 वर्षीय पिंटु रवानी का नाम शामिल है।

डीएसपी द्वारा यह जानकारी दी गयी कि गिरफ्तार साइबर अपराधी इसरायल और इकरार, प्रीतम और गौतम, मिथुन और पिंटु सगे भाई हैं। इसके साथ ही डीएसपी ने बताया कि पकड़े गए अपराधी मुकेश मंडल का आपराधिक इतिहास है। वह साइबर थाना में दर्ज एक मामले में जेल जा चुका है।

 इसके अलावा डीएसपी ने बताया कि इन साइबर अपराधियों द्वारा साइबर ठगी की घटना को अंजाम देने के लिए तरह-तरह के हथकंडे अपनाए जाते थे। साइबर अपराधी फोन पे कस्टमर को रिक्वेस्ट भेजकर ड्रीम 11, रम्मी और तीन पत्ती गेम के माध्यम से ठगी करते हैं। इसके साथ साइबर अपराधी गूगल सर्च इंजन का कस्टमर केयर अधिकारी बनकर लोगों को लॉटरी का प्रलोभन देकर पैसों की ठगी करते थे। साथ ही ये साइबर अपराधी फर्जी बैंक अधिकारी बनकर लोगों को फोन करते हैं और उन्हें बताते हैं कि उनका एटीएम बंद होने वाला है। इसके अलावा केवाइसी अपडेट कराने के नाम पर भी ठगी की जाती है।

इन अपराधियों द्वारा साइबर ठगी के लिए गूगल पे का भी सहारा लिया जाता था। साथ ही साइबर अपराधियों द्वारा वर्चुअल पेमेंट एड्रेस के माध्यम से भी ठगी की जाती थी।

..........
3
637 views    0 comment
2 Shares

0
1207 views    0 comment
0 Shares

दुमका। भारतीय रेड क्रॉस सोसायटी के संयुक्त सचिव मनोज कुमार घोष एवं उनकी पत्नी सीमा कुमारी घोष ने अपने माताजी स्व खीरु बाला घोष के प्रथम पुण्यतिथि के मौके पर दुमका ब्लड बैंक में रक्तदान किया। मनोज कुमार घोष ने कहा कि रक्तदान के प्रति लोगों को जागरूक करने के लिए एवं सच्ची श्रद्धांजलिअर्पित करने के लिए हम दोनों पति पत्नी ने मां के पुण्यतिथि पर रक्तदान किया है। ताकि माँ के नाम का ब्लड से किसी की जिंदगी बचाई जा सके।

उन्होंने बताया कि शाम में गरीबों के बीच भोजन का वितरण किया जाएगा। भारतीय रेड क्रॉस सोसाइटी के सचिव अमरेंद्र कुमार यादव ने कहा कि सभी लोगों को भी जन्मदिन, शादी के सालगिरह आदि मौकों पर भी रक्तदान करना चाहिए। मौके पर ब्लड बैंक प्रभारी डॉ कुणाल पांडे, सोसाइटी के आजीवन सदस्य रमन कुमार वर्मा, ब्लड बैंक कर्मी काजल सेन, एली टुडु, रामप्रसाद पंडित आदि लोग मौजूद थे।

..........
0
876 views    0 comment
2 Shares

दुमका। प्रखंड के पाटजोड़, आसनवनी, रानीश्वर बाजार एवं पाथरा के सीएससी केंद्र में आधार कार्ड बनाया जाता हैं। प्रखंड मुख्यालय में बिगत एक साल से मशीन खराब बोलकर आधार कार्ड बनाना बंद कर दिया गया हैं। बताया जाता हैं कि यहाँ सीएससी संचालक के द्बारा आधार कार्ड बनाने के लिये तीन सौ से पांच सौ रूपये की वसूली की जा रही हैं।

जानकारों ने बताया कि पाटजोड़ 
का एक सीएससी संचालक  स्कूली छात्रों का फिंगर अपडेट करने हेतु तीन सौ रुपये लेता हैं, जबकि नाम सुधार करने के लिये पांच सौ रुपये की वसूली करता हैं ।बताया जाता हैं कि यहां के कई सीएससी केंद्र में फर्जी प्रमाण पत्र के आधार पर बांग्लादेश के लोगो का आधार कार्ड बनाया जा रहा हैं ।

..........
2
203 views    0 comment
1 Shares

रांची। झारखंड लोकसेवा आयोग की ओर से सातवीं से 10 वीं संयुक्त सिविल सेवा परीक्षा 19 सितंबर को लेने की घोषणा की है यह परीक्षा दो पाली में ली जायेगी परीक्षा से संबंधित शेड्यूल आयोग की वेबसाइट पर जारी कर दिया गया है यह परीक्षा विभिन्न जिला मुख्यालय में बनाये गये केन्द्रों में ली जायेगी 

पहली पाली की परीक्षा सुबह 10 बजे से दोपहर 12 बजे तक ली जायेगी
 इस पाली में पहले पेपर यानी सामान्य अध्ययन पेपर वन की परीक्षा वहीं दूसरे पेपर की परीक्षा दोपहर दो बजे से शाम चार बजे तक ली जायेगी इसमें सामान्य अध्ययन पेपर दो की परीक्षा ली जायेगी. आयोग की ओर से जारी नोटिफिकेशन में कहा गया है कि परीक्षा से संबंधित गाइडलाइन, एडमिट कार्ड सहित अन्य महत्वपूर्ण सूचना आयोग की वेबसाइट पर चार सितंबर को 12 बजे जारी की जायेगी

..........
0
581 views    0 comment
0 Shares

दुमका। भारतीय रेड क्रॉस सोसायटी दुमका शाखा और बाबा वैद्यनाथ पॉली क्लीनिक राँची के संयुक्त तत्वावधान में रविवार को रेड क्रॉस भवन में नि:शुल्क चिकित्सा शिविर लाया गया। सचिव अमरेन्द्र कुमार यादव ने बताया कि मेडिका सुपर स्पेशलिटी हॉस्पिटल राँची के कंसलटेंट कार्डियोलॉजिस्ट डॉ महेश कुशवाहा द्वारा हृदय से संबंधित सभी जटिल रोगों का निःशुल्क जाँच एवं परामर्श दिया गया। इस दौरान हार्ट के सभी मरीजों का ब्लड प्रेशर की जांच एवं कुछ जरूरतमंद मरीजों का ईसीजी टेस्ट किया गया।

चर्म रोग विशेषज्ञ डॉ प्रदीप ने चर्म रोग से संबंधित बीमारियों का नि:शुल्क इलाज किया। जिसमें 41 हृदय रोग से संबंधित थे और करीब 70 मरीज स्किन रोग से संबंधित थे। शिविर में शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्रों के कुल 111 मरीजों का नि:शुल्क इलाज किया गया। दुमका में चर्म रोग के स्पेशलिस्ट डॉक्टर नहीं रहने के कारण स्किन से संबंधित काफी मरीज आए थे।

संयुक्त सचिव मनोज कुमार घोष ने बताया कि सोसाईटी नियमित रूप से मोतियाबिंद शिविर, ब्लड डोनेशन कैंप, रक्तदान जागरूकता शिविर, मेडिका सुपर स्पेशियलिटी हाॅस्पीटल के माध्यम से निःशुल्क हेल्थ जांच और स्माइल ट्रैन के सहयोग से कटे होंठ एवं तालु के इलाज के लिए कैंप लगाया करती है। सोसाइटी का हमेशा प्रयास रहता है। यहां के गरीब गुरबों के जरूरत के हिसाब से सोसाइटी नि:शुल्क चिकित्सा शिविर लगाने के लिए कृत संकल्पित है।

मौके पर सचिव अमरेन्द्र कुमार यादव, संयुक्त सचिव मनोज कुमार घोष, आजीवन सदस्य रमण कुमार वर्मा व कुमार प्रभात थे। कार्यक्रम को सफल बनाने में आशुतोष झा, जय किशोर कुमार एवं रोशन शर्मा का सराहनीय योगदान रहा।

..........
0
1339 views    0 comment
0 Shares

दुमका। कलवार महासभा का मिलन समारोह -सह- संगोष्ठी का आयोजन उत्सव महल शिवपहाड़ में किया गया। ततपश्चात कलवार महासभा का जिला कमिटी का गठन किया गया। कार्यक्रम की अध्यक्षता डॉ उमाशंकर जायसवाल ने किया एवं कार्यक्रम का संचालन अशोक कुमार के द्वारा किया गया। इस कार्यक्रम का उद्घाटन दीप प्रज्वलन और सहस्त्रबाहु अर्जुन और बलभद्र के चित्र पर माल्यार्पण एवं पुष्प अर्पित कर किया गया।

सर्वप्रथम उपस्थित लोगों का स्वागत भाषण राधेश्याम वर्मा द्वारा किया गया। मुख्य रूप से विचार प्रकट करने वालों में चंद्रशेखर चौधरी, संतोष चौधरी (अभिनव कुमार), प्रमोद जायसवाल, अनंत चौधरी, रामनारायण भगत, राजीव जायसवाल, आकर्षण चिराग, आदित्य चिराग, विनीत जायसवाल, अमरनाथ साह, सुबोध जायसवाल, नकुल चौधरी, विजय जायसवाल, सुनील जायसवाल, साकेत जायसवाल आदि ने अपने विचार रखे। 

इस महासभा का मुख्य उद्देश्य है कि कलवार समाज के लोगों के बीज सद्भावना, एकता एवं सामंजस बनाकर लोगों के आवश्यकताओं को पूरा करने का प्रयास करना। समाज में शिक्षा, स्वास्थ, विवाह, आर्थिक रूप से कमजोर लोगों का सहयोग कर उसे आगे बढ़ाने का कार्य किया जाएगा।
आज सर्वसम्मति से कलवार महासभा, दुमका का जिला कमिटी का गठन किया गया जो निम्न प्रकार है: पद नाम अध्यक्ष-प्रमोद जायसवाल उपाध्यक्ष -उदित चौधरी, पप्पू भगत, राजीव जायसवाल सचिव-अभिनव कुमार (संतोष चौधरी) संयुक्त सचिव-उत्तम कुमार चौधरी, प्रभु चंद्र जायसवाल कोषाध्यक्ष -गणेष जायसवाल, मिडिया प्रभारी-आर्कषण चिराग कार्यकारिणी सदस्य - अनंत कुमार चौधरी, प्रफुल्ल जायसवाल, दीप नारायण भगत, आदित्य चिराग, विनय कुमार भगत, कौशल जायसवाल, अनिल कुमार जायसवाल, गौतम कुमार अंकेक्षण कमिटी - डॉ उमाशंकर जायसवाल, राम नारायण भगत, सुनील जायसवाल, विनीत जयसवाल, गौरी शंकर भगत, संजय कुमार चौधरी, अमरनाथ साह उपरोक्त पदाधिकारी का और उपस्थित समाज के लोगों का धन्यवाद ज्ञापन कर सभा की समाप्ति की गई। इस सभा में मुख्य रूप रूप से उपस्थित गौरीषंकर भगत, मनोज प्रसाद भगत, नकुल प्रसाद चौधरी, अनिल जायसवाल, काशी प्रसाद भगत, दुर्गा प्रसाद भगत, सरवन भगत, सरोज कुमार जायसवाल, सहदेव जायसवाल, प्रभात जायसवाल, जवाहर जायसवाल, उमेश जायसवाल, अजय कुमार, विजय जायसवाल, अरुण जायसवाल, संतोष जायसवाल, राजेश जायसवाल, अरविंद भगत, संजीव कुमार भगत, जय प्रकाश चौधरी, जीवन प्रकाश शाह, प्रदीप कुमार साह, संजय जायसवाल, अरविंद जायसवाल, श्रीकांत चौधरी, शिव शंकर भगत आदि के साथ सैकड़ों लोगों ने भाग लिया।

..........
2
2234 views    0 comment
8 Shares

दुमका। सरकार के पर्यटन सचिव अमिताभ कौशल ने मंदिरों के गाँव मलूटी का निरीक्षण किया।सर्वप्रथम वे मुख्य मंदिर पहुंचे एवं स्थानीय लोगों से बातचीत की।इस दौरान उपायुक्त दुमका भी उपस्थित थे।

उन्होंने बताया कि कुल 108 मंदिर थे जिनमें 72 मंदिर बचे हैं।उपायुक्त ने बताया कि रेनोवेशन का कार्य चल रहा था लेकिन अभी बंद है।सभी मंदिरों में टेराकोटा कलाकृति है जो इन मंदिरों को खास बनाती है।इस कलाकृति के साथ सभी मंदिरों के रेनोवेशन का कार्य किया जाना है।

पर्यटन सचिव अमिताभ कौशल ने कहा कि उपायुक्त के माध्यम से स्थानीय समिति जल्द से जल्द मंदिर के रेनोवेशन से संबंधित विस्तृत रिपोर्ट तैयार कर विभाग को भेजें ताकि विभाग द्वारा इस संबंध में यथाशीघ्र आवश्यक कार्रवाई की जा सके।

इस दौरान उन्होंने गाँव का भ्रमण कर मंदिरों का भी अवलोकन किया। मंदिर के संरक्षण हेतु पूर्व में किये जा रहे कार्यों को देखा।टेराकोटा कलाकृति का भी अवलोकन किया। इस दौरान प्रखंड स्तर के अधिकारी उपस्थित थे।

..........
9
2236 views    0 comment
0 Shares

दुमका। जामा थाना पुलिस ने सरकारी राशि के गबन मामले में गुरुवार को चिकनिया पंचायत के पंचायत सचिव चक्रधर मंडल को गिरफ्तार किया।

पुलिस ने पंचायत सचिव को हंसडीहा थाना क्षेत्र के जमजोरी गांव स्थित घर से गिरफ्तार कर जेल भेज दिया। थाना प्रभारी जितेंद्र कुमार सिंह ने बताया कि बुधवार की देर रात छापेमारी कर पंचायत सचिव चक्रधर मंडल को गिरफ्तार किया गया है।

बीडीओ ने प्राथमिकी दर्ज करायी थी जानकारी के अनुसार तत्कालीन बीडीओ डॉ शिशिर कुमार सिंह ने चिकनिया पंचायत के चिकनिया, लखनपुर और कल्होड़ीया गांव में संचालित मनरेगा योजना में व्यापक पैमाने पर गड़बड़ी मामले में प्राथमिकी दर्ज करायी थी। इसमें उन्होंने चिकनिया पंचायत के तत्कालीन व वर्तमान पंचायत सचिव चक्रधर मंडल, मनीष इंटरप्राइजेज नंदू प्रसाद साह, बिचौलिया जियालाल साह और तत्कालीन रोजगार सेवक सोनेलाल बास्की पर बकरी शेड, मुर्गी शेड और गाय शेड सहित 36 योजनाओं में उपरोक्त सभी के मिलीभगत से 9,73,571 रुपये राशि की अवैध रूप से निकासी हुई है। बताया कि सत्र 2016-17 और 2017-18 के 36 योजनाओं में 11 योजना में प्रखंड मुख्यालय से जबकि 25 योजनाओं में पंचायत से एफटीओ कर लगभग 10 लाख रुपये का गबन किया गया है।

बता दें कि जामा प्रखंड के छैलापाथर, बेदिया और भटनिया पंचायत में भी 51 लाख रुपये गबन मामले में भी तत्कालीन बीडीओ डॉ शिशिर कुमार सिंह द्वारा प्राथमिकी दर्ज करायी गयी थी।

..........
0
1651 views    0 comment
0 Shares

देवघर। केन्द्रीय मंत्री स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय, रसायन और उर्वरक मंत्रालय भारत सरकार श्री मनसुख मांडविया द्वारा देवघर एम्स के ओपीडी सेवा एवं रैन बसेरा भवन का वर्चुअल उद्घाटन किया गया।

इस दौरान सभी को संबोधित करते हुए बाबा बैद्यनाथ की नगरी देवघर में देश का 13 वां एम्स स्वस्थ झारखंड की परिकल्पना को साकार करेगा। इसके अलावे माननीय केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि एक बेहतर समाज के निर्माण का माध्यम एम्स देवघर बनेगा। साथ हीं उन्होंने एम्स की टीम से कहा कि वह सेवा भाव से काम कर जनता की अपेक्षा पर खड़ा उतरें, ताकि झारखण्ड के साथ-साथ आस पास के राज्यों के नागरिकों को भी अच्छी स्वास्थ्य सुविधा मुहैया करायी जा सके।

उन्होंने कहा कि झारखंड के आदिवासियों को बिरसा की धरती पर सर्वश्रेष्ठ स्वास्थ्य सुविधा एम्स से मिलेगा। अब यहां के लोगों को बाहर नहीं जाना होगा। आज उद्घाटन के पश्चात आयुष भवन में ही ओपीडी सेवा शुरू होगी। पूर्वी भारत का यह पहला एम्स है जहां रैन बसेरा बनाया गया है। इसमें मरीज के स्वजन के विश्राम की व्यवस्था होगी। अभी रैन बसेरा का उपयोग पठन-पाठन के लिए होगा। ओपीडी भवन बन जाने के बाद रैन बसेरा अपने मूल स्वरूप में आ जाएगा।

इसके अलावे कार्यक्रम के दौरान माननीय मुख्यमंत्री श्री हेमन्त सोरेन के प्रतिनिधि के रूप में माननीय मंत्री अल्पसंख्यक, कल्याण, पर्यटन, कला, संस्कृति एवं युवा कार्य, निबंधन विभाग झारखण्ड सरकार हफीजूल हसन अंसारी द्वारा सभी को संबोधित करते हुए कहा कि बाबा बैद्यनाथ की नगरी व बिरसा मुण्डा की धरती पर एम्स की शुरूआत की गयी है। स्वास्थ्य सुविधाओं को बेहतर करने के उदेश्य से झारखण्ड सरकार लगातार कार्य कर रही है। ऐसे में केन्द्र सरकार व राज्य सरकार एम्स निर्माण कार्य के लिए पूर्णरूप से प्रतिबद्ध है। आज एम्स के शुभारंभ के साथ पूरे झारखण्ड व आस-पास के राज्यों के लोगों को बेहतर स्वास्थ्य सुविधा प्रदान की जायेगी। 

उन्होंने कहा कि जैसा कि हम सभी जानते हैं कि स्वस्थ्य शरीर में हीं स्वस्थ्य आत्मा का निवास होता है। ऐसे में जरूरत मंद लोगों के न केवल स्वास्थ्य का ख्याल रखा जायेगा। साथ हीं रोजगार श्रृजन के लिए भी बेहतर अवसर उपलब्ध कराया है। हम सबों को ज्ञात हो कि एम्स भारत का सबसे बेहतरीन चिकित्सा संस्थान है और करोड़ो भारतीयों एवं विदेश के लोगों को जीवनदान देने में अग्रणी है। झारखण्ड जैसे संसाधन सम्पन्न परंतु गरीब राज्य में एम्स की स्थापना कर उसे चालू करने के लिए भारत सरकार का धन्यवाद। इस दिशा में राज्य ने एम्स के लिए 237 एकड़ जमीन उपलब्ध कराकर केन्द्र सरकार व राज्य सरकार के संबंध को मजबूत किया है। साथ हीं राज्य सरकार का जमीन, पानी, बिजली, रोड एवं आवश्यक सभी तरह की सुविधा उपलब्ध कराने को लेकर कृत संकल्पित है।

आज के बाद एम्स देवघर के ओपीडी में 11 विभाग चालू किये गये हैं, जिसमें मेडिसीन, सर्जरी, आंख, कान, नाक, गला रोग, मनोचिकित्सा, दांत रोग जैसा महत्वपूर्ण विभाग शामिल हैं। इसके साथ हीं मेरा यह सुझाव रहेगा कि तृतीय एवं चतुर्थ वर्ग की नियुक्तियों में 75 प्रतिशत यहां के स्थानीय व्यक्ति को लाभान्वित करना सुनिश्चित किया जाय। साथ हीं जिस परिवार का जमीन अधिग्रहण हुआ है उस परिवार को प्राथमिकता के आधार पर नियुक्ति दी जाय। अंत में मैं भारत सरकार को धन्यवाद देते हुए अपने राज्यवासियों को माननीय मुख्यमंत्री श्री हेमन्त सोरेन जी की ओर से एम्स समर्पित करते हुए सभी नागरिकों के बेहतर स्वास्थ्य का कामना करता हूँ। *इसके अलावे माननीय मंत्री* स्वास्थ्य, चिकित्सा, शिक्षा एवं परविार कल्याण विभाग झारखण्ड सरकार श्री बन्ना गुप्ता द्वारा वर्चुअल रूप से सभी को संबोधित करते हुए कहा कि एम्स की सौगात पूरे झारखण्ड वासियों के लिए हर्ष की बात है। समृद्ध झारखण्ड व स्वस्थ्य झारखण्ड की परिकल्पना को साकार करने के उदेश्य इस दिशा में लगातार कार्य किया जा रहा है। एम्स ओपीडी व रैन बसेरा की सुविधा से झारखण्ड के नागरिकों के साथ-साथ हमारे पड़ोसी राज्य के लोगों को भी इसकी सुविधा मिलेगी। वहीं एम्स की ओपीडी में जेनरल मेडिसिन, जेनरल सर्जरी, गायनेकोलॉजी एंड, ऑब्सटेट्रिक्स पीडियाट्रिक्स, ईएनटी, ऑप्थल्मोलॉजी, डेंटल, आथर्ॉपेडिक्स, डर्मेटोलॉजी, साइकिएट्री, पल्मोनोलॉजी, सर्जिकल, ऑन्कोलोजी के डॉक्टर ओपीडी में परामर्श देंगे। ओपीडी में कुल 12 मेडिकल डिपार्टमेंट अलग-अलग बनाये गये हैं। आगे उन्होंने कहा कि कोरोना संक्रमण के संभावित तीसरी लहर के रोकथाम व बचाव में देवघर एम्स काफी कारगार और महत्वपूर्ण होगा। वर्तमान में देवघर में एम्स बन जाने से यहां के आसपास के लोगों को भी बेहतर स्वास्थ्य सुविधा का लाभ मिल सकेगा। अभी तक गंभीर बीमारियों के इलाज के लिए झारखंड व इसके आसपास के लोगों को बाहर जाना पड़ता था। देवघर में एम्स बनने से लोगों को यहां अच्छी स्वास्थ्य सुविधाएं मिल सकेंगी। राज्य सरकार पूरी तरह से प्रतिबद्ध है कि एम्स निर्माण कार्य में हर सहयोग करते हुए इसे जल्द पूरा किया जा सके। साथ हीं भारत सरकार एम्स देवघर की टीम व जिला प्रशासन देवघर को धन्यवाद जिन्होंने इस कार्य में बखूबी राज्य सरकार का सहयोग किया। *■ मरीजों को रियायत दर पर मिलेंगी दवाइयां....* मरीजों को भारत सरकार द्वारा अमृत फार्मेसी के माध्यम से रियायत दर पर दवाइयां भी ओपीडी परिसर में मिलेंगी। अमृत फार्मेसी के साथ एम्स प्रबंधन का एमओयू भी कर लिया गया है। अमृत फार्मेसी के स्टोर सेंटर का स्थल चयन कर तैयारी पूरी कर ली गयी है। ओपीडी में कुल 40 कमरे हैं। मरीजों के बैठने के लिए वेटिंग हॉल में शौचालय व सेंट्रलाइज्ड एसी लगे हैं। वेटिंग हॉल में एक साथ 80 रोगियों के बैठने की क्षमता है। परिसर में मरीज के परिजनों के भी बैठने की सुविधा के अलावा पार्किंग की सुविधा उपलब्ध है। *■ बुधवार से ओपीडी में चिकित्सीय परामर्श शुरू हो जाएगा....* वर्तमान में कोविड के कारण अभी प्रतिदिन केवल 200 मरीजों का निबंधन होगा। निबंधन का समय सुबह 8रू30 से 10रू30 केवल दो घंटा का होगा। निबंधन शुल्क 30 रुपया है। जिसमें मरीज एक साल तक परामर्श ले सकते हैं। निबंधित सभी दो सौ मरीजों को चिकित्सीय परामर्श दिया जाएगा। मरीजों के लिए जांच की सुविधा और सस्ते दर पर अमृत फार्मेसी से दवा भी मिलने लगेगी। *इस दौरान मौके पर* डॉ0 भारती प्रवीण पवार, माननीया केन्द्रीय राज्य मंत्री स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय भारत सरकार, माननीय मंत्री अल्पसंख्यक, कल्याण, पर्यटन, कला, संस्कृति एवं युवा कार्य, निबंधन विभाग झारखण्ड सरकार हफीजूल हसन अंसारी, माननीय मंत्री स्वास्थ्य, चिकित्सा, शिक्षा एवं परविार कल्याण विभाग झारखण्ड सरकार श्री बन्ना गुप्ता, माननीय सांसद, गोड्डा लोकसभा डॉ0 निशिकांत दूबे, माननीय सांसद, धनबाद लोकसभा श्री पशुपति नाथ सिंह, माननीय सांसद राज्यसभा श्री समीर उरांव, माननीय विधायक श्री नारायण दास, उपायुक्त, देवघर श्री मंजूनाथ भजंत्री, पुलिस अधीक्षक श्री धनंजय कुमार सिंह, अध्यक्ष एम्स, देवघर डॉ0 एन के अरोड़ा व कार्यकारी निदेशक व सीईओ, एम्स देवघर डॉ0 सौरभ वार्ष्णेय के साथ-साथ संबंधित विभाग के वरीय अधिकारी एम्स के चिकित्सक, छात्र व जनप्रतिनिधि आदि उपस्थित थे।

..........
0
974 views    0 comment
0 Shares

दुमका। जिले के रानीश्वर थाना क्षेत्र में महिला को निर्वस्त्र कर जूतों की माला पहना कर घुमाने की शर्मनाक घटना सामने आयी है। पुलिस ने इस मामले में त्वरित कार्रवाई करते हुए आधा दर्जन आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है।

प्रेमी के साथ भागी महिला को प्रेमी की पत्नी ने घरवालों के साथ मिलकर पहले पीटा, फिर निर्वस्त्र कर गले में जूतों की माला पहना कर उसे गांव में कुछ दूर तक घुमाया। घटना बुधवार रात की है। इस मामले में रानीश्वर थाना की पुलिस ने गुरुवार की शाम महिला के बयान पर दो महिलाओं समेत 12 लोगों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कर ली है। पुलिस ने प्रेमी की पत्नी मिनी देवी, रासमुनि देवी, सोनू मिर्धा, सनातन मिर्धा, राजू मिर्धा व मदन हांसदा को गिरफ्तार कर शुक्रवार को जेल भेज दिया गया।

मिली जानकारी के मुताबिक मसानजोर की रहने वाली महिला की शादी रानीश्वर के एक गांव में हुई है। इसी गांव में कदमा गांव के माणिक मिर्धा की भी शादी हुई। छह माह पहले माणिक और कुलुगु गांव की महिला के बीच प्रेम हो गया। एक माह पूर्व विवाहिता अपने प्रेमी  के साथ रोजगार की तलाश में पश्चिम बंगाल के वर्धमाान चली गई। बुधवार की शाम दोनों वापस कदमा गांव लौटे।

यहां पति को दूसरी महिला के साथ देखने पर पत्नी ने घरवालों के अलावा गांव में रहने वाले दूसरे रिश्तेदारों को इसकी जानकारी दी। रात करीब 10 बजे घर के एक दर्जन लोगों ने महिला को पकड़ा। पहले जमकर पिटाई की, फिर उसके कपड़े फाड़कर निर्वस्त्र कर गले में जूतों की माला पहना कर उसे गांव में कुछ दूर तक घुमाया।

गुरुवार की शाम पीड़िता ने थाना आकर पुलिस को घटना की जानकारी दी। महिला ने पुलिस को बताया कि प्रेमी व उसकी पत्नी के घरवालों ने मारपीट कर कमाए हुए 25 हजार रुपये भी छीन लिये। पुलिस ने महिला के बयान पर गांव के सोनू मिर्धा, सनातन मिर्धा, राजू सोरेन, रासमुनि डोमिन, फुलमनी देवी, सरस्वती देवी, कुसल देवी, मैनी देवी, मदन हांसदा, माणिक मिर्धा, तलावती देवी, फूलकुमारी देवी के खिलाफ भादवि की धारा 147, 148, 504, 506, 354 बी, 379, 509/34 के तहत प्राथमिकी दर्ज की है। थाना प्रभारी राजीव प्रकाश ने बताया कि जिन 12 लोगों पर मामला दर्ज किया गया है, वे सभी प्रेमी के घरवाले हैं। प्रेमी की पत्नी समेत छह को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया है। बाकी छह की गिरफ्तारी के लिए दबिश डाली जा रही है।

..........
5
1737 views    0 comment
0 Shares

दुमका। जिला के शिकारीपाड़ा थाना क्षेत्र के शहरबेरा स्थित रागदा बेसरा के घर में पुलिस ने गुप्त सूचना के आधार पर छापेमारी की। छापामारी के दौरान 500 किलोग्राम अमोनियम नाइट्रेट, 157 पीस जिलेटिन पावर जेल तथा 4500 डेटोनेटर बरामद किया गया।

पुलिस ने अवैध विस्फोटक के इस कारोबार में शामिल तीन लोगों को चिन्हित किया है। जिसमें से दो आरोपी अफजाल अंसारी और मिस्टर अंसारी को पूर्व में ही अपहरण के मामले में जेल भेज चुकी है और तीसरा आरोपी मिलन मिर्धा अभी भी पुलिस गिरफ्त से बाहर है।

शिकारीपाड़ा थाना परिसर में आयोजित प्रेस वार्ता में एसपी अंबर लकड़ा ने इसकी जानकारी देते हुए बताया कि विस्फोटक का उपयोग नक्सली संगठन के द्वारा किया जाना था या अवैध पत्थर खदान में इसका इस्तेमाल किया जाना था, पुलिस इसकी भी जांच कर रही है।

..........
8
529 views    0 comment
0 Shares

दुमका। मानवाधिकार संरक्षण प्रतिष्ठान ने पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष सह पूर्व मुख्यमंत्री बिहार डॉ जगन्नाथ मिश्रा का दूसरी पुण्यतिथि गुरुवार को बन्दरजोरी में प्रतिष्ठान के जिलाध्यक्ष शकुंतला दुबे की अध्यक्षता में मनाई गई। उपस्थित सभी सदस्यों ने उनके फोटो पर पुष्पांजलि अर्पित की

मौके पर उपस्थित संस्थान के प्रदेश उपाध्यक्ष अमरेन्द्र कुमार यादव ने डॉ मिश्रा के द्वारा किये गए कार्यों को याद करते हुए कहा कि मानवाधिकार के लिए उनका योगदान अविस्मरणीय है। उनके अधूरे कार्यो को मानवाधिकार संरक्षण प्रतिष्ठान के माध्यम से पूरा करने के लिए संगठन को मजबूत करने का संकल्प लिया। कार्यक्रम में मुख्य रूप से अधिवक्ता धर्मेंद्र नारायण प्रसाद, महिला प्रकोष्ठ के अध्यक्ष रेणु झा, जिला सचिव अभिषेक दुबे, पूर्णेन्दु कुमार झा, नूतन देवी, अल्पना देवी, सुनीता देवी, जूही दुबे सहित कई लोग मौजूद थे।

..........
1
813 views    0 comment
0 Shares

0
853 views    0 comment
0 Shares

54
2263 views    0 comment
0 Shares

दुमका। दुमका के जाने-माने होमियोपैथ चिकित्सक डॉक्टर बीरबल झा का आज प्रातः 8 बजे सिउड़ी (पश्चिम बंगाल) स्थित एक नर्सिंग होम में आकस्मिक निधन हो गया। उनका पार्थिव शरीर दुधानी (घाट रसिकपुर) स्थित उनके आवास पर लाया गया है। दाह संस्कार बुधवार को साहिबगंज में गंगा तट पर होगा।

यह जानकारी डॉ. झा की ज्येष्ठ पुत्री अराधना कुमारी ने दी। अराधना कुमारी ने बताया कि सोमवार को डॉ. बीरबल झा की तबीयत अचानक खराब हो गयी। उन्हें दुमका में दिखाया गया और बेहतर इलाज के लिये रात को सिउड़ी ले जाया गया, जहाँ उनका निधन हो गया। डॉ. बीरबल झा का पैतृक गाँव दुमका जिला स्थित मसलिया प्रखंड अन्तर्गत भेलादाहा है। पिछले लगभग 35 वर्षों से वे दुमका के दुधानी में अपना क्लिनिक खोलकर चिकित्सा कार्य में संलग्न थे।

इसके पूर्व कुछ समय तक वे भागलपुर होमियोपैथी कॉलेज में व्याख्याता रहे। डॉ. झा मूलतः स्त्री रोग विशेषज्ञ थे। 72 वर्षीय डॉ. बीरबल झा अपने पीछे पत्नी, तीन विवाहित पुत्रियों, नाती-नतनियों से भरा-पूरा परिवार छोड़ गये। उनके निधन से शहरवासी शोकाकुल हैं।

..........