logo
logo
(Trust Registration No. 393)
aima profilepic
HARISH KUMAR SONWANI
     हरीश सोनवानी 
 राजनांदगांव छत्तीसगढ़

अधिकारियों की लापरवाही से त्रिवेणी परिसर में अव्यवस्था का आलम - शिव वर्मा

राजनांदगांव । नगर पालिक निगम इन दिनों अपने कार्य की लापरवाही के चलते अखबारों की सुर्खियों में हमेशा बने रहने का शौक हो गया है, इसलिए अपनी जिम्मेदारी व शहरवासियों की सुविधा को दरकिनार करते हुए हमेशा अपने पल्ले झाड़ने में लगे रहते हैं, इसी प्रकार नगर पालिक निगम के पूर्व निगम अध्यक्ष व पार्षद श्री शिव वर्मा ने निगम प्रशासन को आड़े हाथ लेते हुए बताया निगम के उच्च अधिकारी और नेताओं की गैर जिम्मेदारी के चलते दिग्विजय कॉलेज के पीछे त्रिवेणी परिसर में असामाजिक तत्वों द्वारा चोरी तोड़फोड़, मोटर व लाइट की चोरी जैसे घटना को अंजाम दे रहे हैं, और नगर पालिक निगम के जिम्मेदार अधिकारी अपनी जिम्मेदारी से पीछे हट रहे हैं, जबकि यहां त्रिवेणी परिसर में साहित्यकारों का स्मारक स्टैचू लगा हुआ है, जो संस्कारधानी का एक ऐतिहासिक धरोहर माने जाते हैं, लेकिन नगर पालिक निगम के उच्च अधिकारी ऐसे धरोहर स्थानों पर किसी प्रकार से कोई जिम्मेदार चौकीदार नहीं रखने के चलते आज त्रिवेणी परिषद खंडहर में तब्दील होते जा रहे हैं ।                                                                                         श्री वर्मा ने यह भी बताया शहर की सफाई तो बेहाल है, क्योंकि साहित्यकारों के स्टेच्यू त्रिवेणी परिसर में लगे हुए हैं, ऐसे महत्वपूर्ण स्थानों पर सफाई में ध्यान नहीं देना यह दुर्भाग्य की बात है, त्रिवेणी परिसर की अव्यवस्था को देखकर शहरवासी भी अब सोचने लगे हैं, साहित्यकारो की मूर्ति लगाने के बाद अपनी जिम्मेदारी से नगर पालिक निगम पल्ला झाड़ देते हैं, उन्होंने जिला प्रशासन को संज्ञान में लाते हुए बताया अगर इस प्रकार से त्रिवेणी परिसर की अव्यवस्था को देखकर कभी भी शहर के बुद्धिजीवी गणमान्य नागरिक त्रिवेणी परिसर में व्यवस्था को दुरुस्त करने के लिए आंदोलन भी कर सकते हैं।

..........
0
0 views    0 comment
1 Shares

नाकाम मुख्यमंत्री भूपेश बघेल सरकार सत्ता सुंदरी का वरण करने बेच दिया छत्तीसगढ़ महतारी - शिव वर्मा

राजनांदगांव । जिला भाजपा पिछड़ा वर्ग मोर्चा के जिला अध्यक्ष व पार्षद दल के प्रवक्ता शिव वर्मा ने कहा कि कांग्रेस गला फाड़ फाड़ के चिल्लाती थी, बेच दिया बेच दिया उस वक्त तो देश न बिका कांग्रेसियों का गला फाड़ रुदन सफेद झूठ साबित हुआ लेकिन आज कांग्रेस शासित छत्तीसगढ़ बिकने की कगार पर पहुंच गया है।
श्री वर्मा ने आगे कहा कि मात्र 3 साल में भूपेश सरकार ने 51 हजार करोड़ का कर्ज छत्तीसगढ़ पर लाद दिया साथ ही RTI से प्राप्त जानकारी के अनुसार छत्तीसगढ़ सरकार के 15 बैंक एकाउंट NPA घोषित हो चुके हैं, अर्थात भूपेश सरकार इन ऋण खातों में न किश्त जमा कर पा रही न ही ब्याज का भुगतान कर पा रही है, एक प्रकार से भूपेश सरकार नाकाम घोषित हो चुकी है, इसलिए बैंक छत्तीसगढ़ - राज्य की बंधक संपत्ति को कुर्क कर रहे नीलाम कर रहे है, एक छत्तीसगढ़िया होने के नाते अपने राज्य की ये बदतर हालात देखना कष्टकारी है, लेकिन हम तमाशबीन बनके देखने के अलावा कुछ कर भी नहीं सकते है, भूपेश जी छत्तीसगढ़ को बदलने आये थे, पूरी तरह बदल के निकल जाएंगे पीछे छूटे जाएगा एक बीमारू राज्य मात्र 3 साल के शासनकाल में कांग्रेस ने छत्तीसगढ़ को 10 साल पीछे ढकेल दिया है, अच्छे भले मेरे प्रगतिशील छत्तीसगढ़ राज्य पर कांग्रेस ने ग्रहण लगा दिया दुःखद।

..........
4
665 views    0 comment
0 Shares

प्रदेश की राजधानी बनी हाट स्पॉट, अब राजनांदगांव शहर की बारी
0 रायपुर, दुर्ग के बाद राजनांदगांव नगर निगम सीमा का रेसों 10 % के आसपास
0 निगम क्षेत्र में तेजी से बढ़ रहे मरीज
0 फिर भी प्रशासन नही करा पा रहा स्कूल- कालेज बन्द
0 क्या स्थिति बिगड़ने का कर रहे इंतजार
 राजनांदगांव । प्रदेश के कई जिले कोरोना संक्रमण की चपेट में आ गए हैं। फिर भी प्रशासन है कि इस ओर किसी भी प्रकार की कड़ाई नही कर पा रहा है, जिसके कारण स्थिति गंभीर बनती जा रही है। यदि यही हाल रहा तो राजनांदगांव जिले को भी हाट स्पॉट बनते देर नही लगेगी। ग्रामीण क्षेत्रों में अभी स्थिति थोड़ी ठीक है । लेकिन राजनांदगांव नगर निगम क्षेत्र में संक्रमण की दर लगभग 10% के आसपास पहुंच रही है । इसके बाद भी राजनांदगांव नगर निगम सीमा क्षेत्र में कड़ाई से पालन नहीं हो पा रहा है । लोग बगैर मास्क के घूमते दिखाई दे रहे हैं । वहीं व्यापारी वर्ग में भी सिर्फ खानापूर्ति करते दिखाई दे रहा है। यदि इस तरह की लापरवाही होती रही, तो वह दिन भी दूर नहीं जब राजनांदगांव जिले में भी रोजाना 500 से 700 लोग संक्रमित होंगे। 
मिली जानकारी के अनुसार आज छत्तीसगढ़ जिले कि राजधानी में 752 कोरोना संक्रमित मरीज मिले हैं वहीं दुर्ग में 314 बिलासपुर में 326 रायगढ़ में 247, राजनांदगांव की बात करे तो 2 से 3 दिन के भीतर यहां भी डॉक्टर सहित 200 लोग संक्रमण की चपेट में आ गए हैं। राजनांदगांव नगर निगम सीमा क्षेत्र में संक्रमण की दर 10 प्रतिशत के आसपास आ गई है। लगभग सभी वार्डो में कोरोना के मरीज मिल रहे हैं। इसके बावजूद भी प्रशासन इस ओर ध्यान नही दे रहा है। सभी दुकाने रात के 10 से 11 बजे तक खुली रह रही हैं। वही स्कूलों में भी किसी भो प्रकार की कोई शतर्कता नही बरती जा रही है। 
 *9 जनवरी को पीईटी की परीक्षा* 
एक तरफ जहां कोरोना का संक्रमण बढ़ता जा रहा है, वही दूसरी ओर छत्तीसगढ़ शासन पीईटी की परीक्षा कराने जा रहा है। जिसमें लगभग लाखो की संख्या में परीक्षार्थी पूरे प्रदेशभर में परीक्षा देने पहुंचेंगे। इतनी बड़ी लापरवाही प्रशासन द्वारा को जा रही है। परीक्षा के लिए प्रवेश पत्र भी ऑनलाइन जारी कर दिया गया है। इससे साफ जाहिर होता है कि ऊपर बैठे अधिकारियों को प्रदेश में बढ़ते कोरोना संक्रमण से कोई लेना देना नही। एक तरफ पूरे प्रदेश में कोरोना के नए वैरियंट ओमीक्रान को लेकर राज्य सरकार सजग नजर आ रही है, तो वही  दूसरी तरफ राज्य सरकार पीईटी की परीक्षा व्यापम के द्वारा आयोजित करा रही है। राज्य सरकार का यह दोहरापन प्रदेश की जनता को भारी न पड़ जाए।

..........
51
2615 views    0 comment
1 Shares

5
1071 views    0 comment
1 Shares

1
207 views    0 comment
1 Shares

19
824 views    0 comment
1 Shares

6
263 views    0 comment
1 Shares

19
990 views    0 comment
1 Shares

37
2787 views    0 comment
1 Shares

छत्तीसगढ़ में ओलों भरी बरसात… रायपुर, बिलासपुर सहित अधिकांश जिलों में तेज बरसात के साथ ओले भी गिरे… 30 तक ऐसे ही मौसम का अंदेशा…
चक्रवाती हवाओं ने छत्तीसगढ़ का मौसम बदल दिया है। मंगलवार को रायपुर, भिलाई, राजनांदगांव, कोरिया, कवर्धा, बिलासपुर, जांजगीर-चांपा, कोरबा, बेमेतरा सहित अधिकांश जिलों में बरसात हुई। रायपुर, कवर्धा, बेमेतरा में तो ओले गिरे हैं। इस बरसात की वजह से दिन के तापमान में भी 3 से 4 डिग्री सेल्सियस की गिरावट होगी।


प्रदेश के कोरिया, बिलासपुर जैसे कुछ हिस्सों में दोपहर बाद गरज-चमक के साथ बरसात शुरू हो गई थी। शाम होते-होते सरगुजा, बिलासपुर और रायपुर संभाग के अधिकांश हिस्सों में बरसात होने लगी। इस बीच दुर्ग संभाग के जिलों में बरसात के साथ ओले गिरे। रायपुर में शाम को हवा तेज हो गई। करीब 8 बजे से यहां बरसात होने लगी। इसके साथ ओले भी गिरे। गरज-चमक के साथ बरसात देर रात तक होती रही। इस दौरान कई निचले इलाकों में पानी भर गया। ठंडी हवाओं की वजह से रात अधिक ठंडी महसूस होने लगी है।

..........
9
637 views    0 comment
1 Shares

धान खरीदी केंद्रों में रखे धान को बचाने लगे कैप कव्हर


0 अधिकारियों को धान ख़रीदी केंद्रो में पहुँच कर धान के बचाव के निर्देश

 *राजनंदगांव* । छत्तीसगढ़ में धान खरीदी 1 दिसंबर से शुरू हो गई है और लगभग सभी धान खरीदी केंद्रों में हजारों क्विंटल धान खरीदे जा चुके हैं। कल दिनांक 28 दिसंबर को अचानक मौसम में हुए परिवर्तन और बारिश के चलते सभी धान खरीदी केंद्रों में कैप कव्हर की व्यवस्था पहले से ही सुनिश्चित करा दी गई थी और अब अधिकारियों को निर्देश दिए गए हैं कि सभी खरीदी केंद्रों में कैप कव्हर पूरी तरह से ढक कर रखें ताकि धान की सुरक्षित रह सके।
        मिली जानकारी के अनुसार कलेक्टर तारन प्रकाश सिन्हा ने कल सुकुलदैहान सहित आसपास के खरीदी केंद्रों का निरीक्षण किया था और मौसम परिवर्तन के चलते सभी धान खरीदी केंद्र के संचालकों को निर्देश दिया था कि बारिश के आसार को देखते हुए खुले में रखे धान को कैप कव्हर से ढक कर रखें । इसी के चलते अधिकारियों की भी ड्यूटी धान खरीदी केंद्रों में लगाई गई है और उन्हें स्पष्ट निर्देश दिए गए हैं कि बारिश से धान को सुरक्षित रखना है और खुले में रखे धान को कैप कव्हर से पूरी तरह से ढक कर रखे।

..........
6
557 views    0 comment
1 Shares

फिर शुरू हुआ हुक्का बार...!
0 पुलिस को भनक तक नही
0 रात- दिन युवाओं का लग रहा मजमा

राजनांदगांव । छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा हुक्का बार पर पूरी तरह प्रतिबंध लगाने के बाद भी हुक्का बार संचालक अपनी मनमानी से बाज नहीं आ रहे हैं और आज पर्यंत तक हुक्का बार में युवाओं का मजमा लगा हुआ दिख रहा है। पुलिस को इस बात की भड़क तक नहीं है कि कहां-कहां हुक्का बार चल रहा है या फिर पुलिस जान कर भी अंजान बनी हुई हैं।
            सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार और सोशल मीडिया में वायरल हो रहा है वीडियो से साफ नजर आ रहा है कि राजनांदगांव में हुक्का बार प्रतिबंध का कोई असर नहीं हुआ है। हुक्का बार का कारोबार बेधड़क चल रहा है, जबकि राज्य सरकार ने इस पर स्पष्ट आदेश निकाला है कि यदि हुक्का बार संचालन करते कोई पकड़ता है तो उसे 3 वर्ष का कारावास और 50 हजार रुपए तक का जुर्माना देना होगा। इसके बाद भी हुक्का बार संचालक सरकार के इस फैसले को ठेंगा दिखाते नजर आ रहे हैं और बेधड़क हुक्का बार का संचालन कर रहे हैं । इससे साफ नजर आ रहा है कि यह सब कुछ या तो सेटिंग में चल रहा है या फिर पुलिस की नाक के नीचे पुलिस को ठेंगा दिखाने का काम हुक्का संचालक कर रहे हैं।

..........
3
1147 views    0 comment
1 Shares

फिर शुरू हुआ हुक्का बार...!
0 पुलिस को भनक तक नही
0 रात- दिन युवाओं का लग रहा मजमा

राजनांदगांव । छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा हुक्का बार पर पूरी तरह प्रतिबंध लगाने के बाद भी हुक्का बार संचालक अपनी मनमानी से बाज नहीं आ रहे हैं और आज पर्यंत तक हुक्का बार में युवाओं का मजमा लगा हुआ दिख रहा है। पुलिस को इस बात की भड़क तक नहीं है कि कहां-कहां हुक्का बार चल रहा है या फिर पुलिस जान कर भी अंजान बनी हुई हैं।
            सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार और सोशल मीडिया में वायरल हो रहा है वीडियो से साफ नजर आ रहा है कि राजनांदगांव में हुक्का बार प्रतिबंध का कोई असर नहीं हुआ है। हुक्का बार का कारोबार बेधड़क चल रहा है, जबकि राज्य सरकार ने इस पर स्पष्ट आदेश निकाला है कि यदि हुक्का बार संचालन करते कोई पकड़ता है तो उसे 3 वर्ष का कारावास और 50 हजार रुपए तक का जुर्माना देना होगा। इसके बाद भी हुक्का बार संचालक सरकार के इस फैसले को ठेंगा दिखाते नजर आ रहे हैं और बेधड़क हुक्का बार का संचालन कर रहे हैं । इससे साफ नजर आ रहा है कि यह सब कुछ या तो सेटिंग में चल रहा है या फिर पुलिस की नाक के नीचे पुलिस को ठेंगा दिखाने का काम हुक्का संचालक कर रहे हैं।

..........
0
0 views    0 comment
0 Shares

फिर शुरू हुआ हुक्का बार...!
0 पुलिस को भनक तक नही
0 रात- दिन युवाओं का लग रहा मजमा

राजनांदगांव । छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा हुक्का बार पर पूरी तरह प्रतिबंध लगाने के बाद भी हुक्का बार संचालक अपनी मनमानी से बाज नहीं आ रहे हैं और आज पर्यंत तक हुक्का बार में युवाओं का मजमा लगा हुआ दिख रहा है। पुलिस को इस बात की भड़क तक नहीं है कि कहां-कहां हुक्का बार चल रहा है या फिर पुलिस जान कर भी अंजान बनी हुई हैं।
            सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार और सोशल मीडिया में वायरल हो रहा है वीडियो से साफ नजर आ रहा है कि राजनांदगांव में हुक्का बार प्रतिबंध का कोई असर नहीं हुआ है। हुक्का बार का कारोबार बेधड़क चल रहा है, जबकि राज्य सरकार ने इस पर स्पष्ट आदेश निकाला है कि यदि हुक्का बार संचालन करते कोई पकड़ता है तो उसे 3 वर्ष का कारावास और 50 हजार रुपए तक का जुर्माना देना होगा। इसके बाद भी हुक्का बार संचालक सरकार के इस फैसले को ठेंगा दिखाते नजर आ रहे हैं और बेधड़क हुक्का बार का संचालन कर रहे हैं । इससे साफ नजर आ रहा है कि यह सब कुछ या तो सेटिंग में चल रहा है या फिर पुलिस की नाक के नीचे पुलिस को ठेंगा दिखाने का काम हुक्का संचालक कर रहे हैं।

..........
0
0 views    0 comment
0 Shares

फिर शुरू हुआ हुक्का बार...!
0 पुलिस को भनक तक नही
0 रात- दिन युवाओं का लग रहा मजमा

राजनांदगांव । छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा हुक्का बार पर पूरी तरह प्रतिबंध लगाने के बाद भी हुक्का बार संचालक अपनी मनमानी से बाज नहीं आ रहे हैं और आज पर्यंत तक हुक्का बार में युवाओं का मजमा लगा हुआ दिख रहा है। पुलिस को इस बात की भड़क तक नहीं है कि कहां-कहां हुक्का बार चल रहा है या फिर पुलिस जान कर भी अंजान बनी हुई हैं।
            सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार और सोशल मीडिया में वायरल हो रहा है वीडियो से साफ नजर आ रहा है कि राजनांदगांव में हुक्का बार प्रतिबंध का कोई असर नहीं हुआ है। हुक्का बार का कारोबार बेधड़क चल रहा है, जबकि राज्य सरकार ने इस पर स्पष्ट आदेश निकाला है कि यदि हुक्का बार संचालन करते कोई पकड़ता है तो उसे 3 वर्ष का कारावास और 50 हजार रुपए तक का जुर्माना देना होगा। इसके बाद भी हुक्का बार संचालक सरकार के इस फैसले को ठेंगा दिखाते नजर आ रहे हैं और बेधड़क हुक्का बार का संचालन कर रहे हैं । इससे साफ नजर आ रहा है कि यह सब कुछ या तो सेटिंग में चल रहा है या फिर पुलिस की नाक के नीचे पुलिस को ठेंगा दिखाने का काम हुक्का संचालक कर रहे हैं।

..........
0
0 views    0 comment
0 Shares

फिर शुरू हुआ हुक्का बार...!
0 पुलिस को भनक तक नही
0 रात- दिन युवाओं का लग रहा मजमा

राजनांदगांव । छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा हुक्का बार पर पूरी तरह प्रतिबंध लगाने के बाद भी हुक्का बार संचालक अपनी मनमानी से बाज नहीं आ रहे हैं और आज पर्यंत तक हुक्का बार में युवाओं का मजमा लगा हुआ दिख रहा है। पुलिस को इस बात की भड़क तक नहीं है कि कहां-कहां हुक्का बार चल रहा है या फिर पुलिस जान कर भी अंजान बनी हुई हैं।
            सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार और सोशल मीडिया में वायरल हो रहा है वीडियो से साफ नजर आ रहा है कि राजनांदगांव में हुक्का बार प्रतिबंध का कोई असर नहीं हुआ है। हुक्का बार का कारोबार बेधड़क चल रहा है, जबकि राज्य सरकार ने इस पर स्पष्ट आदेश निकाला है कि यदि हुक्का बार संचालन करते कोई पकड़ता है तो उसे 3 वर्ष का कारावास और 50 हजार रुपए तक का जुर्माना देना होगा। इसके बाद भी हुक्का बार संचालक सरकार के इस फैसले को ठेंगा दिखाते नजर आ रहे हैं और बेधड़क हुक्का बार का संचालन कर रहे हैं । इससे साफ नजर आ रहा है कि यह सब कुछ या तो सेटिंग में चल रहा है या फिर पुलिस की नाक के नीचे पुलिस को ठेंगा दिखाने का काम हुक्का संचालक कर रहे हैं।

..........
5
1693 views    0 comment
6 Shares

7
769 views    0 comment
5 Shares


  राजनांदगांव। जिला भाजपा पिछड़ा वर्ग मोर्चा के जिलाध्यक्ष व पार्षद दल के प्रवक्ता शिव वर्मा ने कहा कि कांग्रेश सरकार में किसान सुरक्षित नहीं है।

जिस प्रकार आप सब ने देखा है कि किसान अपने धान बेचने के लिए 2 दिन रात जागकर टोकन प्राप्त करने के लिए लाइन में लगे हुए थे और जैसे ही टोकन प्राप्त करने की बारी आई सबने एक दूसरे को धक्का मारते गिरते पढ़ते जिससे कई लोग घायल हो गए।

प्रशासन की नाकामी के चलते कई लोगों को चोट भी पहुंचा है वहीं दूसरी ओर किसानों को बारदाना स्वयं को उपलब्ध कराने यह सरकार कह रही है। लोक  लुभावना घोषणापत्र से प्रदेश क हर वर्ग इस सरकार से दुखी  पीड़ित है।
श्री वर्मा ने आगे कहा कि कल 1 दिसंबर को धान खरीदी होने वाली है, लेकिन छत्तीसगढ़ में भूपेश बघेल कांग्रेस की सरकार के द्वारा धान खरीदी को लेकर खास इंतजाम नहीं किया गया है, जिसका खामियाजा किसानों को भुगतना पड़ रहा है, एक तरफ तो बारदाने की समस्या और वही दूसरी तरफ टोकन की समस्या से किसान हलकान हो रहा है, समर्थन मूल्य पर धान की खरीदी शुरू होने से पहले ही अन्नादाता आफत में पड़ गए हैं,किसानों को बारदाना लाने कहा जा रहा है, बारदाना लाने वाले किसानों को ही धान बेचने के लिए टोकन जारी होगा। इसको लेकर अन्नादाताओं की परेशानी बढ़ गई है, फसल मिंजाई के बाद अन्नादाता उपज बेचने के लिए अब बारदाना ढूंढने में लग गए हैं, किसानों को धान की मात्रा के आधार पर 25 प्रतिशत बारदाना लाने कहा गया है, विडंबना यह है, कि बारदाना संकट को लेकर बाजार में इसके भाव बढ़ गए हैं, खुले बाजार में किसानों को बारदाना 25 से 35 रूपये में मिल रहा है, जबकि सरकार ने किसानों द्वारा लाए बारदानों की कीमत 18 रूपये निर्धारित की है, इसके चलते भी किसानों की चिंता बढ़ गई है, विकास की बात करके छत्तीसगढ़ वासियों को जोतराम माया जाल में फंसा कर राज करने वाले कांग्रेस सरकार सबसे पहले किसानों के हितैषी सरकार किसानों को सोसाइटी में टोकन उपलब्ध कराएं क्योंकि जब से छत्तीसगढ़ में कांग्रेस की सरकार कुर्सी में बैठे हैं, तब से किसानों, गरीबों और मध्यम वर्ग व समाज के अंतिम व्यक्ति तक सरकार की कार्यप्रणाली से नाखून उदासीनता नजर आ रहे हैं, और वही एक तरफ कल से धान खरीदी की शुरुआत हो रहा है, लेकिन सोसायटीओं में भारी अनियमितता और असुविधा देखने को मिल रहा है, छत्तीसगढ़ में बड़ी विडंबना है, कि किसान अपने मेहनत की कमाई को बेचने के लिए सोसायटीओं में लाइन लगाना पढ़ रहा है, उसके बाद भी किसानों को टोकन नहीं मिलना दुर्भाग्य की बात है।

..........
15
1087 views    0 comment
13 Shares

16
135 views    0 comment
28 Shares


राजनांदगांव। बागनदी थाना क्षेत्र के ग्राम सड़क चिरचारी में खेत में रखे धान के खरही में अज्ञात आरोपी ने आग लगा दी। घटना में किसान को करीब डेढ़ लाख रुपए का नुकसान हुआ है।

धान को कटाई के बाद खेत में रखा गया था। पीड़ित किसान कुशाल साहू ने पुलिस को बताया कि उन्हें सुबह 8 बजे पड़ोसी ने आकर बताया कि उनके धान की खरही में आग लग गई है।

इसके बाद कुशाल परिवार के सदस्यों के  साथ खेत पहुंचे। जहां दो एकड़ खेत में लगे धान की खरही पूरी तरह जलकर खाक हो गई थी। किसान ने बताया कि कटाई के बाद मिंजाई के लिए उन्होंने खरही खेत में ही रख दी थी। किसान कुशाल साहू ने सरकार से मुआवजे के लिए गुहार लगाई है । वहीं पुलिस ने कहा कि जांच जारी है। 

..........