logo
logo
(Trust Registration No. 393)
aima profilepic
Nandlal Mishra
All India Media Association

मुजफ्फरपुर।   धनतेरस व दिवाली पर सरैयागंज टावर से गोला रोड में नो-इंट्री।। -धनतेरस व दीपावली पर यातायात व्यवस्था के लिए एसडीओ व नगर डीएसपी ने संयुक्त रूप से अस्थायी ट्रैफिक रूट तैयार किया है।

इसके तहत पांच रूटों पर वन-वे होगा.शहर में छह जगहों पर वैकल्पिक पार्किंग स्थल भी बनाए गए हैं।

डीएसपी रामनरेश पासवान ने बताया कि दो व चार नवंबर को सरैयागंज टावर से गोला रोड में वाहनों की नो-इंट्री रहेगी।। ब्रह्मपुरा की तरफ से आने वाली सभी गाड़ियां डीएम आवास होते हुए कंपनीबाग चौक तक पहुंचेंगी।। इससे आगे गाड़ियों के प्रवेश पर प्रतिबंध लगाया गया है.पैदल जाने की अनुमति होगी।।

इसके अलावा हरिसभा चौक व छोटी कल्याणी की ओर से आने वाली सभी गाड़ियां कल्याणी चौक से मोतीझील ओवरब्रिज होकर स्टेशन की ओर निकलेंगी।। बनारस बैंक चौक से आने वाली सभी गाड़ियां होटल शुभराज के सामने गांधी पुस्तकालय के पास वाली गली से जीडी मदर स्कूल के पास अखाड़ाघाट रोड में जाएंगी।।

वहीं, अखाड़ाघाट की ओर से आने वाली सभी गाड़ियां अन्नपूर्णा मंदिर सिकंदरपुर मोड़ से रानी सती मंदिर होते हुए करबला की ओर जाएंगी।।

..........
0
97 views    0 comment
0 Shares

0
445 views    0 comment
0 Shares

0
279 views    0 comment
3 Shares

0
418 views    0 comment
0 Shares

मुंगेर। जिले के तारापुर के विषय गांव के मनीष कुमार ने यूपीएससी परीक्षा 2020 में देशभर में 49वां रैंक लाकर न केवल मुंगेर बल्कि पूरे बिहार का मान बढ़ाया है।

मनीष ने 12वीं तक की शिक्षा तारापुर से की। इसके बाद उन्होंने एनआईटी बारंगल से बीटेक किया। कुछ दिनों तक नौकरी भी की। पर यहीं उनके कदम नहीं रुके।

अपनी तथा अपने माता-पिता की इच्छा को पूरा करने को लेकर नौकरी छोड़ दी और यूपीएससी की तैयारी करने के लिए दिल्ली चले गए। दिल्ली रहकर उन्होंने यूपीएससी की तैयारी की।

वहां उन्हें सीनियर्स ने काफी मदद की। पहले प्रयास में ही मनीष ने पूरे देश में 49 वां रैंक प्राप्त कर परचम लहरा दिया है। मनीष ने अपनी सफलता का श्रेय माता पिता को दिया है।

..........
0
4571 views    0 comment
1 Shares

7
1409 views    0 comment
2 Shares

5
3694 views    0 comment
8 Shares

मुजफ्फरपुर। दि हंगर प्रोजेक्ट के बैनर तले मझौलिया स्थित प्रशिक्षण केन्द्र में चल रही क्षमतावर्द्धन प्रशिक्षण कार्यशाला के दूसरे दिन बाल विवाह का बच्चियों के स्वास्थ्य, शिक्षा एवं पूरे जीवन पर इसके खराब असर पर चर्चा की गई।‌ इसमें मड़वन प्रखंड के विभिन्न पंचायतों की 25 किशोरियां शामिल हुईं।

संस्था की काॅर्डिनेटर सह ट्रेनर रंभा सिंह ने बताया कि इस चार दिनी आवासीय कार्यशाला का मूल उद्देश्य किशोरियों के जीवन में कौशल शिक्षा से क्षमतावर्द्धन करना है। ताकि वे अपना मनचाहा सम्मान व गरिमा युक्त जीवन जीने की राह पर कदम बढ़ाती रहें।

रोजाना की जिंदगी में वे अपने जीवन में आ रही स्वास्थ्य, स्वच्छता, पोषण, शिक्षा, गतिशीलता आदि से संबंधित समस्याओं का सामना करें। इसके अलावा कोरोना काल में बढ़ी चिंताओं व तनाव को पार पाने के लिए जरूरी उपाय व समाधान करें। कार्यशाला के दौरान खेल-खेल में सहजता व सहभागिता से सिखाया जा रहा है। आशा कुमारी व मीरा देवी ने भी प्रशिक्षण दिया।

..........
0
596 views    0 comment
0 Shares

0
457 views    0 comment
1 Shares

मुजफ्फरपुर। भाजपा के सेवा और समर्पण अभियान के तहत शुक्रवार को पार्टी कार्यालय में स्कूली बच्चों के बीच निबंध, भाषण, चित्रांकन एवं रंगोली प्रतियोगिता हुई। जिसमें विभिन्न स्कूलों के बच्चों ने भाग लिया। उद्घाटन जिलाध्यक्ष रंजन कुमार ने दीप प्रज्‍जवलित कर किया।

सफल प्रतिभागियों को ट्रॉफी देकर सम्मानित भी किया। इसके अलावा प्रतियोगिता में शामिल अन्य सभी बच्चों के उत्साहवर्धन के लिए सांत्वना पुरस्कार दिए गए।

मौके पर भाजपा जिलाध्यक्ष रंजन कुमार ने कहा कि संगठन एवं समाज के साथ रचनात्मक कार्यो की निरंतरता ही भाजपा का मजबूत आधार है। इनके बल पर ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में आज भारत सभी क्षेत्रों में निरंतर प्रगति कर रहा है।

कार्यक्रम का संचालन जिला महामंत्री सह मुख्यालय प्रभारी सचिन कुमार ने किया। इसमें मुख्य रूप से जिला महामंत्री धर्मेंद्र साहू, मनोज सिंह, जिला उपाध्यक्ष हरिमोहन चौधरी, जिला मंत्री सुरेश चौधरी, संजीव झा, जिला प्रवक्ता सिद्धार्थ कुमार, संचित शाही, मीडिया प्रभारी सुजीत कुमार, धनंजय झा, ओमप्रकाश तिवारी, डॉ.रागिनी रानी, अभिषेक सौरभ, आशीष अग्रवाल, नंद किशोर पासवान, देव कुमार आदि थे।

..........
0
304 views    0 comment
0 Shares

मुजफ्फरपुर। सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय, भारत सरकार के फील्ड आउटरीच ब्यूरो, सीतामढ़ी द्वारा शुक्रवार को शहर के महंत दर्शन दास महिला महाविद्यालय में राष्ट्रीय पोषण माह के अवसर पर परिचर्चा सह प्रश्नोत्तरी प्रतियोगिता कराई गई।

इसका विधिवत उद्घाटन उप विकास आयुक्त आशुतोष द्विवेदी, सिविल सर्जन डॉ.विनय कुमार शर्मा, जिला कार्यक्रम पदाधिकारी आईसीडीएस चांदनी सिंह, डीडीएम नाबार्ड जूही प्रवासिनी, जिला जनसंपर्क पदाधिकारी कमल सिंह, काॅलेज प्राचार्य डॉ. कनुप्रिया, सीडीपीओ मुशहरी सदर नीतू, जिला कार्यक्रम प्रबंधक जीविका अनिशा, डिस्ट्रिक कॉर्डिनेटर आईसीडीएस सुषमा सुमन, जिला युवा अधिकारी नेहरू युवा केंद्र रश्मि सिंह, काॅलेज की सीडीएन विभागाध्यक्ष डॉ.सुशीला सिंह व गृह विज्ञान विभागाध्यक्ष डॉ. कुसुम कुमारी ने संयुक्त रूप से किया | इसके पूर्व डीडीसी ने आईसीडीएस, जीविका, एवं नेहरू युवा केंद्र के द्वारा लगाई प्रदर्शनी का उद्घाटन किया। जहां अन्नप्राशन, गोद भराई, पोषण सेल्फ़ी पॉइंट एवं पोषण से संबंधित अनाजों से रगोली बनाई गई थी | सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय के पंजीकृत दल कलाश्री केंद्र के कलाकारों ने पोषण पर आधारित गीत, नृत्य और नुक्कड़ नाटक का मंचन किया | विषय प्रवेश करते हुए फील्ड आउटरीच ब्यूरो के क्षेत्रीय प्रचार अधिकारी जावेद अंसारी ने कहा कि इस पूरे माह देश में सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय द्वारा जन जागरूकता का कार्यक्रम किया जा रहा है। ताकि लोगों में पोषण के प्रति जागरूकता आ सके | डीडीसी ने कहा कि पोषण के बारे में सरकार की तरफ से कई योजनाएं चलाई जा रही हैं, लेकिन सभी लोगों तक ये सूचनाएं नहीं पहुंच पा रहीं। ऐसे कार्यक्रमों द्वारा लोगों में जागरूकता लाया जा सकता है | सिविल सर्जन ने कहा कि पोषण के प्रति जागरूकता के साथ अपने आसपास के स्थानीय पौधों पर ध्यान देना चाहिए, जिससे हमें प्रचुर मात्रा में पोषक तत्व मिलते हैं। उसका उपयोग कर कुपोषण से बचा जा सकता हैं |

जिला कार्यक्रम पदाधिकारी, आईसीडीएस ने कहा कि हर लड़की को एक न एक दिन मां बनना है, इसलिए उन्हें विशेष रूप से अपने पोषण का ध्यान रखना और स्वास्थ्य को बनाए रखना है। इसके लिए सुबह का भोजन कभी भी नहीं छोड़ना चाहिए ।भोजन में सभी पोशाक तत्वों का विशेष रूप से ख्याल रखना चाहिए ।

जिला जनसंपर्क पदाधिकारी ने कहा कि पोषण की लड़ाई जीतने के लिए हममें इच्छा शक्ति का होना भी जरूरी है।पोषण से जुड़ी जो भी सूचना मिले, उसे पूरे मन से अमल करें तभी सही पोषण से देश रौशन होगा। प्राचार्य डॉ.कनुप्रिया ने कहा कि यह कार्यक्रम काफी सराहनीय है। ऐसे कार्यक्रम होते रहना चाहिए, जिससे छात्राओं में पोषण के प्रति जागरूकता बढ़े।

प्रश्नोत्तरी, चित्रकला व नारा लेखन प्रतियोगिता के विजेताओं को अतिथियों द्वारा पुरस्कृत भी किया गया ।मौके पर वरिष्ठ शिक्षिका डॉ.उषा सिंह, डॉ.नीलू कुमारी, डॉ.रंजना मल्ल, डॉ.नीलम कुमारी, पंखुरी कुमारी, डॉ.निशि रानी, डॉ.मोमिता, नीता श्रीवास्तव एवं डॉ.शालिनी कुशवाहा के साथ बड़ी संख्या में आगंबड़ी सेविका, जीविका दीदी, फील्ड आउटरीच ब्यूरो, सीतामढ़ी के ग्यास अख्तर, अर्जुन लाल, राकेश कुमार आदि भी थे। 

..........
0
395 views    0 comment
0 Shares

मुजफ्फरपुर। राज्य के पूर्व मंत्री स्वर्गीय रघुनाथ पांडे के 19 वीं पुण्यतिथि के अवसर पर भूमिहार ब्राह्मण समाजिक फ्रंट के द्वारा श्रद्धांजलि सभा आयोजित कर उन्हें श्रद्धा सुमन अर्पित किया गया।

स्थानीय तिलक मैदान स्थित रामदयालु स्मारक भवन में फ्रंट के अध्यक्ष पूर्व मंत्री सुरेश शर्मा की अध्यक्षता में आयोजित श्रद्धांजलि सभा में लोगों ने पुष्प अर्पित कर स्वर्गीय पांडे जी को नमन किया।

इस अवसर पर श्रद्धांजलि सभा को संबोधित करते हुए पूर्व मंत्री अजीत कुमार ने कहा कि भले आज स्वर्गीय रघुनाथ पांडे जी हमारे बीच नहीं हैं, लेकिन उनका कृति आज भी अमर है आगे भी रहेगा। उन्होंने स्वर्गीय पांडे के व्यक्तित्व व कृतित्व का चर्चा करते हुए कहा की सामाजिक जीवन में उन्होंने जो मुजफ्फरपुर के लिए किया वह बेमिसाल है ।

खासकर मेडिकल कॉलेज सहित दर्जनों शैक्षणिक व समाजिक संस्था इसका गवाह है। हम उन्हें श्रद्धा सुमन अर्पित करते हैं। साथ ही आने वाले पीढ़ी से अपील करते हैं कि वे स्वर्गीय पांडे जी के जीवन को आत्मसातस कर आगे बढ़े।

अपने अध्यक्षीय भाषण में पूर्व मंत्री सुरेश शर्मा ने स्वर्गीय पांडे जी को नमन करते हुए कहा कि वे इस शहर के निर्माता थे। नगर निगम से लेकर शैक्षणिक एवं राजनीतिक क्षेत्र में उन्होंने मुजफ्फरपुर को एक नया आयाम दिया। जो स्मरणीय है।

उन्होंने नए पीढ़ी को उनके जीवन से सीख लेने का भी अपील किया। इस मौके पर श्रद्धा सुमन अर्पित करने वालों में फ्रंट के वरिष्ठ नेता धर्मवीर शुक्ला, डॉक्टर प्रोफेसर अरुण कुमार सिंह, फ्रंट के नेता अरुण कुमार सिंह, रणवीर कुमार, शांतनु सत्यम, इंद्रमोहन झा, रमेश शर्मा, कमलेश कांत गिरी, निखिल कुमार, मंकु पाठक, मनीष बसंत, रणधीर कुमार सिंह, कृष्ण कुमार सिंह।

..........
0
217 views    0 comment
0 Shares

0
747 views    0 comment
2 Shares

मुजफ्फरपुर।  मुजफ्फरपुर मीनापुर प्रखंड के पैगंबरपुर पंचायत के पूर्व मुखिया प्रेमचंद्र सिंह की हत्याकांड में वांटेड हार्डकोर नक्सली प्रमोद राय को एसटीएफ की टीम ने मोतिहारी जिले के राजेपुर थाना क्षेत्र के नारायणपुर से गिरफ्तार कर सिवाईपट्टी पुलिस को सौंप दिया है। इसके खिलाफ कई थानों में जघन्य घटना का प्राथमिकी दर्ज है

यह पंचायत चुनाव में अपने पत्नी को पंचायत समिति पद पर उम्मीदवार बनाया था जिसके लिए वोट मांगने की सूचना एसटीएफ टीम को लगी जिसे मोतिहारी जिले से गिरफ्तार कर मुजफ्फरपुर जिले के सिवाई पट्टी पुलिस को सौंप दी सिवाई पट्टी में इसके खिलाफ 2009 में हत्या के मुकदमा दर्ज है।

..........
1
258 views    0 comment
0 Shares

मुजफ्फरपुर। बिहार पंचायत चुनाव का आगाज: 10 जिलों के 24 प्रखंडों में मतदान शुरू। बिहार पंचायत चुनाव के पहले चरण के लिए मतदान शुरू हो गया है। शाम को पांच बजे तक मतदाता अपने मताधिकार का प्रयोग कर सकते हैं।

पहले चरण में 10 जिलों के 24 प्रखंडों में मतदान होंगे। राज्य निर्वाचन आयोग ने इसके लिए 2119 मतदान केंद्र बनाए। इनमें छह मतदानकर्मियों की नियुक्ति की गई है। आयोग ने जिला प्रशासन को मतदान के दौरान गड़बड़ी करने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं। वहीं सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए हैं।

इस बार मतदान में ईवीएम और बैलेट पेपर दोनों का इस्तेमाल किया जाएगा। कोरोना के मद्देनजर मतदान केंद्र पर कोविड-19 प्रोटोकॉल का सख्ती से पालन किया जाएगा। मतदान केंद्र पर आने वाले मतदाताओं के लिए मास्क लगाना और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना जरूरी है। जो व्यक्ति बिना मास्क के मतदान केंद्र आएगा उससे 50 रुपए का जुर्माना वसूला जाएगा।

बोगस वोटिंग को रोकने के लिए पहली बार मतदाताओं के भौतिक सत्यापन के लिए बायोमेट्रिक का प्रयोग होगा।

..........
0
7567 views    0 comment
1 Shares

समस्तीपुर।  जिलाधिकारी एवं पुलिस अधीक्षक के संयुक्त अध्यक्षता में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से पंचायत आम निर्वाचन 2021 विधि व्यवस्था के बिंदु पर समीक्षात्मक बैठक की गई।

बैठक में विशेष कार्य पदाधिकारी एवं वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से सभी अनुमंडल पदाधिकारी, सभी अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी, सभी प्रखंड विकास पदाधिकारी एवं सभी थाना प्रभारी उपस्थित थे।

बैठक में जिलाधिकारी द्वारा निम्नांकित निर्देश दिए गए: बैठक में कुल 7 एजेंडों पर विचार विमर्श किया गया जो निम्नांकित है: 1. प्रत्येक बूथ क्षेत्र में शरारती तत्वों पर 107 सीआरपीसी के तहत कार्रवाई की जानी है। अभी तक की गई थाना बार 107 सीआरपीसी की समीक्षा, 2. सीसीए की प्रखंडवार एवं थानावार की समीक्षा, 3. प्रखंड वार आदर्श आचार संहिता के उल्लंघन में की गई कार्रवाई, 4. थानावार शस्त्रों एवं कारतूसों का भौतिक सत्यापन उनको जमा करने की अद्यतन स्थिति, 5. जिलाधिकारी एवं पुलिस अधीक्षक के संयुक्त भ्रमण हेतु मार्ग का चिन्हीकरण, 6. संवेदनशील मतदान केंद्र/भवनों का चिन्हीकरण, 7. पंचायत वार मतदान केंद्र/मतदान भवन से संबंधित विवरनी, 8. बैठक में उपस्थित सभी पदाधिकारियों को निर्देश दिया गया कि प्रत्येक बूथ में शरारती तत्वों पर 107 की कार्रवाई के लिए चिन्हित करेंगे। इसकी समीक्षा प्रखंड विकास पदाधिकारी ,थाना प्रभारी के साथ बैठक कर करेंगे एवं सेक्टर पदाधिकारी के साथ अनुमंडल पदाधिकारी अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी और प्रखंड विकास पदाधिकारी भी अपने स्तर से बैठक कर बाउन डाउन कराने के लिए सुनिश्चित कराएंगे। 9. निर्देश दिया गया कि चुनाव वाले क्षेत्र के सभी सेक्टर पदाधिकारी को सूचित कर दें की बाउन डाउन की कार्रवाई शत-प्रतिशत करवाना सुनिश्चित कराएंगे। 10. अपने प्रखंड स्थित आदर्श आचार संहिता का अनुपालन सही से सुनिश्चित कराएंगे। साथ ही फ्लैग मार्च करवाते रहने का निर्देश दिया गया। 11. शास्त्र और कारतूस का भी भौतिक सत्यापन जल्दी करवाना सुनिश्चित करेंगे। सभी लोगों को यह संदेश दे की जो अपने शस्त्रों का भौतिक सत्यापन नहीं कराएंगे उनका लाइसेंस रद्द कर दिया जाएगा। 12. निर्देश दिया गया कि जिन प्रखंडों/ पंचायतों में संवेदनशील भवन है वहां 2 सेक्टर का निर्माण कराया जाएगा, जिस की सूची जल्द ही जिलाधिकारी को प्रेषित करना सुनिश्चित करेंगे। 13. प्रखंड विकास पदाधिकारी, थाना प्रभारी के साथ बैठक करें एवं संवेदनशील इलाकों का रूट चार्ट जल्द बनाना सुनिश्चित कर अनुमंडल पदाधिकारी और अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी से अप्रूव करा कर जिलाधिकारी महोदय को प्रेषित करेंगे। चुनाव से पूर्व जिले के सभी पदाधिकारियों की टीम उस रूट चार्ट के तहत भ्रमण करेंगे। 14. आगामी पर्व चेहल्लुम के लिए निर्देश दिया गया कि Covid के गाइडलाइन का पालन हो यह सुनिश्चित कराएंगे। किसी भी प्रकार का जुलूस नहीं निकले साथ ही लोगों में यह संदेश साझा करेंगे कि 144 का आदेश पहले से निर्गत है।

..........
0
1645 views    0 comment
1 Shares

मुजफ्फरपुर। मुजफ्फरपुर स्थानीय मोतीझील स्थित एक मॉल में प्यार में लड़कियां आपस में उलझ गयीं। जिसका वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है।


दो लड़कियों ने मिलकर अकेली लड़की के साथ मारपीट को अंजाम दिया। जानकारी अनुसार मारपीट की घटना बॉयफ्रेंड को लेकर हुई। वहां खड़़ा  युवक बीच बचाव करने में असमर्थ रहाा। मारपीट के दौरान लड़कियां आपस में खूब लप्पड़ थप्पड़ के साथ एक दूसरे के बाल खींचने लगी। वहीं मौके पर मौजूद लोगों ने इस घटना का वीडियो बना कर सोशल मीडिया पर डाल दिया। हालांकि, कुछ लोगों द्वारा किसी तरह सभी लड़कियों को अलग कराया गया। फिर डांट फटकार लगाई गई। तब जाकर मामला शांत हुआ।

..........
0
562 views    0 comment
0 Shares

मुजफ्फरपुर। डीईसी व एलवेंडाजोल की गोली खाकर जिलाधिकारी ने किया एमडीए कार्यक्रम का शुभारंभ।   सेंटर फॉर एडवोकेसी एंड रिसर्च, स्वास्थ्य विभाग तथा जिला प्रशासन के सहयोग से सोमवार को समाहरणालय में फाइलेरिया उन्मूलन के लिए सर्वजन दवा सेवन कार्यक्रम पर मीडिया वर्कशॉप का आयोजन हुआ।

कार्यक्रम का शुभारंभ जिलाधिकारी प्रणव कुमार ने डीईसी व एलवेंडाजोल की गोली खाकर की। कार्यशाला के दौरान जिलाधिकारी ने कहा कि फाइलेरिया के लिए उन्मूलन वर्ष 2030 रखा गया है। इस मीडिया वर्कशॉप के माध्यम से सर्व जन दवा सेवन कार्यक्रम को जन-जन तक पहुंचाना है , ताकि लक्षित समाज के शत प्रतिशत लोग इस कार्यक्रम का लाभ ले सकें और फाइलेरिया उन्मूलन की दिशा में हम अग्रसर हों।

कार्यशाला के दौरान जिलाधिकारी ने सभी समुदाय को इस कार्यक्रम में बढ़ चढ़ कर हिस्सा लेने के लिए प्रेरित किया। समाहारणालय परिसर से ही फाइलेरिया के चार प्रचार वाहन को रवाना किया गया। वर्कशॉप में सिविल सर्जन डॉ विनय कुमार शर्मा ने फाइलेरिया को नेग्लेक्टेड ट्रॉपिकल डिजीज के अंतर्गत रखा और बताया कि इस बीमारी में मृत्यु तो नहीं आती पर यह आजीवन लोगों को अपंग बना देता है। आमतौर पर इस बीमारी को हांथीपांव भी कहते हैं।

इसमें दो प्रकार की दवाएं दी जाती है एक डीईसी जिसका उपयोग माइक्रोफाइलेरिया को मारने में होता है और दूसरी दवा एलवेंडाजोल जो व्यस्क कीड़े को मारने के लिए प्रयुक्त होता है।

फाइलेरिया की जांच रात 9 बजे से 12 बजे तक रक्त के नमूनों से होती है। जिला संसाधन ईकाई के डीपीओ राकेश कुमार ने पीपीटी के माध्यम से कार्यक्रम पर व्यापक प्रकाश डाला।

वहीं जिला संसाधन ईकाई के डीटीएल सौरभ तिवारी ने कहा कि 17 तरह के नेग्लेक्टेड ट्रॉपिकल डिजीज होते हैं जिसमें से फाइलेरिया भी एक है। सामने खानी है दवा कार्यशाला के दौरान जिला भीबीडीसीओ पदाधिकारी डॉ सतीश कुमार ने कहा कि इस बार यह जोर देकर कहा जा रहा है कि दोनों दवा को सामने खिलाना है। इसका खास मकसद है। कई बार लोग दवाएं तो ले लेते हैं पर दवाओं का सेवन नहीं करते हैं। इस बार आशा के घर जाने पर भी वे सामने वालों को ही दवाएं देगी, बाकी के लोगों के लिए वह उनकी लाइन लिस्टिंग करेगी। सर्वजन दवा सेवन के 14 दिनों के इस कार्यक्रम में एक से छठे दिन तक दवा खिलाई जाएगी। वहीं 8 से 13 वें दिन तक छूटे हुए घरों में दवा खिलाई जाएगी और फिर भी अगर कोई छूट जाता है तो 14 वें दिन भी उनको दवा खिलाई जाएगी। हमें यह हमेशा याद रखना है कि एलवेंडाजोल की गोली को हमेशा चबाकर ही खाना है। डॉ सतीश ने कहा कि फाइलेरिया में लक्षण उभरने में 10 से 15 वर्षों का समय लगता है। अत: इसका बचाव ही इसका ईलाज भी है। नुक्कड़ नाटक का हुआ मंचन एमडीए कार्यक्रम की शुरूआत के अवसर पर समाहरणालय परिसर में ही नुक्कड़ नाटक का मंचन हुआ। जिसे हाजीपुर के कला कुंज बिहार के रंगकर्मियों ने पेश किया। नुक्कड़ नाटक का मकसद लोगों को फाइलेरिया व एमडीए कार्यक्रम से अवगत कराना था। नुक्कड़ नाटक में विवेक, ललन, पूजा, किरण, संजय कुमार, चून्नू ने रंगकर्म किया। 5 साल लगातार खानी है दवा जिला भीबीडीसी पदाधिकारी डॉ सतीश ने कहा कि डीईसी और एलवेंडाजोल की दवा अगर 90 प्रतिशत लोग भी खाते हैं तो फाइलेरिया का उन्मूलन संभव है। इस वर्ष सर्वजन दवा कार्यक्रम को करीब 8 लाख घरों तक पहुंचाना है जिसमें 2045 गांव आते हैं। इतनी बड़े कार्यक्रम के लिए 2337 टीम को लगाया गया है। दो आंगनबाड़ी को मिलाकर एक टीम बनाई गयी है। जिसका पर्यवेक्षण 232 सुपरवाइजर करेगीं। जिला भीबीडीसी ने लोगों से अपील भी कि डीईसी व एलवेंडाजोल की गोली जरूर खाएं। वहीं इससे बचाव के लिए फुल स्लीव की कमीज एवं मच्छरदानी का भी प्रयोग करें। दो वर्ष से कम उम्र के बच्चों, गर्भवती स्त्रियों और गंभीर रोग के मरीजों को यह दवा नहीं खानी है। मौके पर डीपीआरओ कमल सिंह, सिविल सर्जन डॉ विनय कुमार शर्मा, जिला भीबीडीसीओ डॉ सतीश कुमार, आईसीडीएस डीपीओ चांदनी सिंह, भीबीडीसी सुधीर कुमार, पुरूषोत्तम कुमार, पीसीआइ के प्रतिनिधि संजय सिंह, केयर डीटीएल सौरभ तिवारी, डीपीओ ऑन संजीव कुमार, डीपीओ राकेश कुमार, जीविका हेल्थ एंड न्यूट्रीशन मैनेजर पुष्कल दत्त ,सीफार के प्रतिनिधि सहित मीडियाकर्मी शामिल थे।

..........
6
3877 views    0 comment
1 Shares

वैशाली। वैशाली के महनार में नाबालिग छात्रा सुप्रिया के हत्या के मामले में पुलिस ने मृतका का साइकिल और बैग बरामद कर लिया है। साइकिल को घटना स्थल के ही पास पानी भरे गड्ढे से बरामद किया गया है। इससे पहले एक आरोपित को गिरफ्तार करने गयी पुलिस को भीड़ ने घेर लिया था।

गुस्साए लोगों ने आरोपित पर हमला कर दिया. भीड़ ने संदिग्ध को पुलिस के पास से छीनकर उसकी पिटाई कर दी. थानाध्यक्ष ने किसी तरह आरोपित को अपने कब्जे में लेकर खुद को एक दुकान में बंद कर लिया।उसके बाद समस्तीपुर जिले के पटोरी थाना व वैशाली जिले के महनार थाना समेत विभिन्न थानों की पुलिस पहुंच आरोपित को किसी तरह निकालकर अपने साथ ले गई। फिलहाल कोई भी पुलिस पदाधिकारी कुछ भी बताने से परहेज कर रहे हैं। उम्मीद जताई जा रही है कि इस हत्याकांड का जल्द ही खुलासा कर दिया जाएगा।

जानकारी के अनुसार बीते मंगलवार को एक युवती की हत्या के मामले में पुलिस एक आरोपित को पकड़ने आज सोमवार को पहुंची। दशरथ मांझी नाम के आरोपित को पकड़ने जब पुलिस गई तो लोग मौके पर जमा हो गये। इस दौरान भीड़ उग्र हो गई और पुलिस के पास से आरोपित को लोगों ने अपने पास ले लिया।

लोगों ने आरोपित को दौड़ा-दौड़ाकर पीटना शुरू कर दिया. मामले की गंभीरता को देख पुलिसबल ने आरोपित को भीड़ से छुड़ाना चाहा तो उन्हें भी लोगों के गुस्से का शिकार बनना पड़ा.बता दें कि महनार थाना क्षेत्र के करनौती बही चौर से कोचिंग के लिए घर से निकली एक 14 वर्षीय युवती का शव बीते मंगलवार को बरामद किया गया था. घटना की सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए हाजीपुर सदर अस्पताल भेजा था।मृतका की पहचान करनौती बही में मुसहर टोला के निकट करनौति पंचायत निवासी उमाशंकर ठाकुर की 14 वर्षीय पुत्री सुप्रिया कुमारी के रूप में की गई थी। सुप्रिया कुमारी मंगलवार को घर से समस्तीपुर जिले के पटोरी में कोचिंग के लिए निकली थी, मगर घर नहीं लौटी।  काफी देर के बाद मृतका के परिजन उसके खोजबीन में निकले थे.म। सुप्रिया कुमारी के पिता उमाशंकर ठाकुर पटोरी में कोचिंग चलाते हैं। सुप्रिया कुमारी उसी कोचिंग में प्रतिदिन पढ़ने जाया करती थी।

मंगलवार को भी वह सुबह घर से कोचिंग के लिए निकली, लेकिन जब सुबह दस बजे तक घर वापस नहीं आयी तो सुप्रिया कुमारी की माता ने अपने पति को फोन कर इस संबंध में जानकारी दी।

उसके बाद उमा शंकर ठाकुर ने अपनी पत्नी को बताया कि सुप्रिया कुमारी तो कोचिंग भी आयी नहीं है। इसके बाद से परिजन उसकी लगातार तलाश में लगे थे। घटना की सूचना महनार थाने की पुलिस को भी दी गयी थी। इसी बीच बुधवार की सुबह करनौति के बही चौर में मुसहर टोला के निकट सुप्रिया कुमारी का शव पानी में डूबा होने की सूचना लोगों को मिली। लोगों ने तत्काल घटना की सूचना महनार थाने को भी दी गयी। सूचना मिलते ही मौके पर महनार के एसडीपीओ सुरेंद्र कुमार पंजियार व थाना अध्यक्ष मनोज कुमार सिंह पुलिस बल के साथ पहुंचे और शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेजा था।मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, इस मामले में दशरथ मांझी को मुख्य आरोपित माना जा रहा है। 

..........
21
13256 views    0 comment
1 Shares