logo
logo
(Trust Registration No. 393)
aima profilepic
SUDIPTO NAG
All India Media Association

टूरिस्ट गाईड एसोसिएशन ने बांटा मास्क, विधायक व ईओ से वाडो में केमिकल का छिड़काव करवाने की अपील की।
बोधगया।
बोधगया में फैल रहे ऑमिक्रांन के संक्रमध से बचाव को लेकर गुरुवार को गाईड एसोसिएशन ऑफ बिहार एवं जनजागरण सस्थान के द्वारा मास्क वितरण के साथ जन जागरुकता अभियान चलाया। अभियान की शुरुआत स्थानीय विधायक कुमार सर्वजीत के आवास से किया गया। जहां आस-पास के लोगों के बीच मास्क का वितरण करते हुए उन्हें दूसरे को भी मास्क पहनने के लिए जागरुक करने का निवेदन किया। इस मौके पर एसोसिएशन के अध्यक्ष राकेश कुमार उर्फ पप्पु ने विधायक से क्षेत्र के विभिन्न वार्डो में केमिकल का छिड़काव न होने व फॉगिंग न होने पर चिन्ता जाहिर किया। उन्होंने विधायक से निवेदन किया की संक्रमण फैलने के डर से लोग सहमें हुए है। इसके बावजूद सिर्फ मुख्य सड़क में ही केमिकल का छिड़काव स्प्रिंकल से करवाया गया है। संकिर्ण जगहों में स्प्रिंकल नहीं जाने के कारण छिड़काव नहीं हो पा रहा है। विधायक ने इस समस्या का जल्द निदान करने का आश्वासन स्थानीय लोगों को दिया है। इसके बाद सभी नगर परिषद बोधगया के कार्यालय पहुंचे और ईओ कुमार ऋत्विक एव ऑफिस कर्मियों को मास्क दिया। एसोसिएशन के अध्यक्ष ने ईओ से क्षेत्र के कई जगहों में ठंड को देखते हुए अलाव की व्यवस्था करवाने का निवेदन किया। मास्क का वितरण महाबोधि मंदिर के सुरक्षा पदाधिकारी संजय कुमार एव सुरक्षाकर्मियों, बोधगया प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में चिकित्सा प्रभारी डा0 मनोज कुमार एव स्वास्थ्य कर्मियो एवं होटेल एसोसिएशन बोधगया के अध्यक्ष जय सिंह के बीच मास्क वितरण कर कोविड से सुरक्षा के लिए मास्क का प्रयोग करने का प्रार्थना किया। इस मौके पर टूरिस्ट गाईड एसोसिएशन के अध्यक्ष राकेश कुमार, उपाध्यक्ष गौतम कुमार, सचिव दीनू सिन्हा, प्रवक्ता संजीव कुमार, दीपक कुमार, जन जागरण सस्थान के प्रभारी उदय सिंह एव शोभा देवी आदि ने लोगों को जागरुक किया।

..........
2
730 views    0 comment
3 Shares

सभी हेरिटेज जगहों में सुरक्षा जांच के बाद मोबाइल को ले जाना संभव, महाबोधि मंदिर में रहे त्रुटी न हो सार्वजनिक इसलिए मोबाइल के प्रवेश पर लगा रोकः- जदयू जिलाउपाध्यक्ष मेघझर चंद्रवंशी।
बोधगया।
भारत के सभी हेरिटेज जगहों में पर्यटकों के मोबाइल ले जाने में रोक नहीं है। सिर्फ बोधगया के महाबोधि मंदिर में ही है। जबकि दूसरे शहरों के हेरिटेज मंदिर, सांस्कृति विरासत जैसे जगहों में पुलिस के सुरक्षा जांच के बाद पर्यटकों को मोबाइल को लेकर जाने का आदेश मिलता है। महाबोधि मंदिर में कई आत्यनुधिक मशीने लगाई गई है। इसके बाद भी सुरक्षा के दृष्टि से मोबाइल के प्रवेश को रोकना कही न कही मशीन द्वारा काम नहीं करने या बीटीएमसी के अधिकारियों द्वारा मैनेजमेंट में कोई त्रुटी को सार्वजनिक न होने को लेकर लगाया गया आदेश लगता है। उक्त बाते बुधवार को जनता दल यूनाइटेड के गया जिला के उपाध्यक्ष मेघझर सिंह चंद्रवंशी ने कहीं। उन्होंने अपनी मांग को रखते हुए बताया कि महाबोधि मंदिर को देखने दो श्रद्धालु व पर्यटक दूर जगहों से आते है, वो यहा के दृष्य व यहा लिए हुए सेल्फी फौटो को अपने मोबाइल कैमरे में संयोकर ले जाना चाहते है। लेकिन बीटीएमसी द्वारा मंदिर के पास पर्यटकों के मोबाइल को रखवा लिया जाता है। जो कहीं से उचित नहीं है। पर्यटकों के मोबाइल को मंदिर में ले जाने का परमिशन मिलना चाहिए। जबकि देश के दूसरे जगह जैसे आगरा, उज्जैन के महाकलेश्वर, आदि जगहों में सुरक्षा जांच के बाद मोबाइल को ले जाने का परमिशन दिया जाता है। इसी तरह का व्यवस्था बोधगया के महाबोधि मंदिर में होनी चाहिए। मोबइल को अंदर नहीं ले जाने के आदेश के कारण पर्यटकों की रुची धीरे-धीरे महाबोधि मंदिर की ओर कम होती जा रह है। पर्यटक अगर बोधगया आना कम करेंगे तो यहा का व्यवसाय कैसे चलेगा। इस स्थिति में बीटीएमसी व जिला प्रशासन इस दिशा में सोचे।

पवित्रता के लिए गर्भगृह में रोक जरुरीः- टुरिस्ट गाईड एसोसिएशन के अध्यक्ष राकेश कुमार उर्फ पप्पू ने बताया कि बीटीएमसी द्वारा सभी के गर्भगृह में मोबाइल ले जाने पर रोक लगाने का निर्णय स्वागत योग्य है। लेकिन महाबोधि मंदिर परिसर में मोबाइल पर रोक हटना चाहिए। जिससे की पर्यटक अपने योदों को अपने साथ लेकर जा सके। मंदिर में कई तरह के जांच का उपकरण है। जिसका इस्तेमाल सुरक्षा में तैनात जवानों द्वारा करना चाहिए।

फोटो लेने के इच्छा पर नहीं लगाए प्रतिबंधः- चकमा बौद्ध मंदिर के भंते प्रिय पाल ने दर्शार्थियों के महाबोधि मंदिर के अंदर फोटो लेने के इच्छा पर लगे प्रतिबंध को हटाने की मांग किया है। उन्होंने कहां कि मंदिर बौद्धो के आस्था का केंद्र है और आने वाले लोग अपने साथ आस्था की जगह को मोबाइल में कैद कर लेकर जाना चाहते है। जो कही से भी गलत नहीं है।

महाबोधि मंदिर में लगाए जैमरः-  बोधगया ट्रैवल एसोसिएशन के अध्यक्ष सुरेश सिंह ने कहां कि बीटीएमसी के पास महाबोधि मंदिर में सारी व्यवस्था है। वो चाहे तो मंदिर परिसर में जैमर भी लगा सकते है। ताकि लोग मोबाइल का इस्तेमाल अंदर न कर सके। सुरक्षा के नाम पर महाबोधि मंदिर प्रबंधकारिणी समिति अपना तानासाही अपना रही है। उसपर उनको एक बार विचार करना चाहिए।

..........
70
192 views    0 comment
60 Shares

पुलिस के नाक में दम करने वाला कुख्यात अपराधी चिकु पाण्डेय चढ़ा पुलिस के हत्थे, बोधगया के महिमा गेस्ट हाउस में दो लड़कियों के साथ मना रहा था रंगरलिया, मुफसिल थाने में सात मामले में बांछित था फरार आरोपी, अपराधिक मामले में दो साल काट चुका है जेल।

 बोधगया।

मुफसिल थाने में दर्ज कई अपराधिक मामले में फरार मुफसिल थाना क्षेत्र के गांधीनगर के रहने वाले कुख्यात अपराधी चिकु पाण्डेय उर्फ़ चिकु कुमार उर्फ़ चिकु बाबा उफर् विशाल कुमार को बोधगया के महिमा गेस्ट हाउस के एक कमरे में कलकत्ता के सोनागाछी से पहुंचे लड़कियों के साथ आपत्तिजनक स्थिति में पकड़ा गया है। लड़कियों को बुलाकर देह व्यापार करवाने वाले गेस्ट हाउस के मैनेजर सुपौल के वीरपुर थाना क्षेत्र के बसतपुर निवासी चंद्रशेखर बिराजी को भी पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। साथ ही पीड़ित दोनों महिलाओं को पुलिस अपने सुरक्षा में रखा है। गेस्ट हाउस के मालिक के देह व्यापार में संलिप्ता को लेकर पुलिस जांच कर रही है। जांच में गेस्ट हाउस के मालिक के संलिप्ता पाए जाने पर उसे भी गिरफ्तार कर जेल भेजा जाएगा। देह व्यापार के लिए लड़कियों को पहुंचाने वाले दलाल मुकेश कुमार को भी पुलिस ने लड़कियों के निशानदेही की जगह से पकड़ लिया है। बताया जा रहा है कि पकड़े गए दलाल का तार गया से लेकर कई बड़े शहरों में लड़कियों के देह व्यापार कराने में है। जिसकी तलाश पुलिस कई सालों से कर रही थी। फिलहाल पुलिस उसे पकड़ कर उससे कई महत्वपूर्ण जानकारी लेने में लगी है। 

गेस्ट हाउस व होटलों की सत्यापन में कुख्यात अपराधी लगा हाथः- बोधगया थाने में नगर पुलिस अधीक्षक राकेश कुमार द्वारा किए गए प्रेस वतार् में उन्होंने बताया कि बोधगया पुलिस को मंगलवार की रात्रि को गुप्त सूचना मिली थी कि महिमा गेस्ट हाउस के बगल में एक भवन है। जहां दो युवतियों को कलकत्ता के सोनागाछी क्षेत्र से लगाया गया है। दोनों युवतियों को महिमा गेस्ट हाउस में वेश्यावृति कराने के लिए लाया गया है। गेस्ट हाउस में ग्राहक आने के बाद ही लड़कियों को पास के मकान से बुलाया जाता है। जिससे की लड़किया बगल में रहे और पुलिस की नजरों से भी बचकर रहे। पुलिस को सूचना मिलने के बाद पुलिस मौके पर पहुंची और गुप्त रुप से सूचना का सत्यापन करना शुरु किया। सत्यापन के क्रम में पुलिस को यह सूचना भी प्राप्त हुआ कि गेस्ट हाउस के कमरे में रहे युवतियों के पास मुफ्फसिल थाना का एक कुख्यात अपराधी चिकु पाण्डेय ग्राहक बनकर आया हुआ है। जिसकी सूचना तत्काल वरीय पुलिस अधीक्षक अदित्य कुमार एवं नगर पुलिस अधीक्षक राकेश कुमार को दी गई। जिन्होंने त्वरित कारर्वाई हेतु निदेर्श जारी किया। निदेशानुसार अनुमण्डल पुलिस पदाधिकारी, वजीरगंज घूरन मंडल के नेतृत्व में मुफ्फसिल थाना पुलिस की टीम तुरंत बोधगया पहुंची।

कुख्यात अपराधी चिकू पाण्डेय ने 15 जनवारी को हत्या कर वीडियों किया था वायरलः-  इसी दौरान मुफसिल थानाध्यक्ष पंकज कुमार ने वरीय अधिकारियों को सूचित किया कि चिकू पाण्डेय मुफ्फसिल थाना काण्ड संख्या 18/22 दिनांक 15 जनवरी 2022 धारा 364/302/34 भादवि का प्राथमिकी अभियुक्त है। इस काण्ड में एक युवक प्रिंस कुमार उर्फ़ गोरका को बीच बाजार से अपहरण कर लाठी-डंडों से पीट-पीट कर बबर्र तरीके से हत्या कर दी गई है और दहशत फलाने के लिए इस घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया गया था।

दो युवतिया थी चिकू के साथ आपत्तिजनक स्थिति मेंः- अनुमण्डल पुलिस पदाधिकारी, बोधगया अजय प्रसाद और अनुमण्डल पुलिस पदाधिकारी, वजीरगंज घूरन मंडल के नेतृत्व में एक टीम गठित कर महिमा गेस्ट हाउस में छापामारी की गई। गेस्ट हाउस के कमरे से दो युवतियों को कुख्यात अपराधी चिकु पाण्डेय के साथ आपत्तिजनक हालत में पुलिस ने देखा। जिसके बाद पुलिस ने गेस्ट हाउस की तलाशी ली तो वहां से एक मैनेजर चन्द्रशेखर विराजी को पकड़ा गया।

कुख्यात अपराधी ने स्वीकारा अपना जुर्म:- सभी से पूछताछ करने पर विशाल उफर् चिकु पाण्डेय ने मुफ्फसिल थाना काण्ड संख्या 18/22 दिनांक 15 जनवरी 2022 धारा 364/302/34 भादवि में अपनी संलिप्तता को स्वीकार किया। उसने पुलिस को बताया कि उसे कहीं से इन युवतियों के यहा पर होने की में सूचना मिली थी। जिसके उपरांत वह इन युवतियों के पास आया था और पकड़ा गया। पीड़ित युवतियों ने बताया कि एक दलाल द्वारा उसे पैसे का लालच देकर यहां बुलाया गया था। घटनास्थल से पकड़े गए अभियुक्त गेस्ट हाउस के मैनेजर चंद्रशेखर बिराजी ने बताया कि उन्होंने ही ग्राहकों का इंतजाम किया था।

चिकु पाण्डेया का मुफसिल में अपराधिक रिकार्ड-:  चिकु पाण्डेय उर्फ़ चिकु कुमार उर्फ़ चिकु बाबा उर्फ़ विशाल कुमार के विरुद्ध मुफसिल थाना में काण्ड संख्या-427/18, दिनांक 10 दिसंबर 2018 धारा-452/480/506/307/34 भादवि, मुफसिल थाना काण्ड संख्या 234/18, दिनांक 13 अप्रैल18 धारा 326/307/34 भादवि एवं 27 आम्सर् एक्ट, मुफसिल थाना काण्ड संख्या 214/20 दिनांक 11 जुन 20 धारा-341/323/308/379/504/506/34 भादवि, मुफसिल थाना काण्ड संख्या- 165/21, दिनांक 04 अप्रैल 21 धारा-147/148/149/307 भादवि एवं 27 आम्सर् एक्ट, मुफसिल थाना काण्ड संख्या 296/21 दिनांक 29 जून 21 धारा-341/342/323/307/147/148/149/379 भादवि एवं 27 आर्म्स एक्ट एवं 3/4 विस्फोटक पदार्थ अधिनियम 1908, मुफसिल थाना काण्ड संख्या 263/21 दिनांक 09 जून 21 धारा -399/402 भदवि एवं 25 (1-बी) ए 26/35 आम्सर् एक्ट एवं 4/5 विस्फोटक पदार्थ अधिनिमय -1908,  मुफसिल थाना काण्ड संख्या- 18/22 दिनांक 12 जनवरी 22 धारा 364/302/34 भादवि एवं 3( पप ) ( अ ) एस० सी०/एस० टी० एक्ट दर्ज है।

अनैतिक व्यापार अधिनियम के तहत मामला दर्ज :- एसडीपीओ अजय प्रसाद ने बताया कि इस घटना को लेकर बोधगया थाना में अनैतिक व्यापार अधिनियम के तहत प्राथमिकी दर्ज किया गया है। जिसमें गेस्ट हाउस मालिक, मैनेजर, ग्राहक और युवतियों को बहला-फुसला कर इस धंधे में लाने वाले दलालों के विरुद्ध प्राथमिकी दर्ज की गई है। जिस भवन का उपयोग वैश्यावृति स्थल के रुप में किया जा रहा था उस गेस्ट हाउस को सील कर दिया गया है।

दलाल को पकड़ने में एसडीपीओ की उपलब्धीः- प्रेसवार्ता के समाप्ती के साथ दलाल के रुप में चिन्हित मुकेश कुमार को पकड़े जाने की सूचना पुलिस को मिली। जिसपर नगर पुलिस अधीक्षक राकेश कुमार ने बोधगया एसडीपीओ की उपलब्धी बताया। उन्होने बताया कि दलाल द्वारा देह व्यापार मामले में पुलिस को तलश थी। लड़कियों के मोबाइल में उसका नंबर देख उसे ट्रेस कर पकड़ा गया है।

..........
3
82 views    0 comment
1 Shares

किमत से अधिक देकर नीमा गांव के किसान खरीद रहे है उर्वरक, बीएओ को शिकायत करने के बाद भी नहीं निकला हल, हल नहीं होने पर पीएमओ से किया निवेदन।
बोधगया।
खेतो में फसल को बेहतर करने व उसकी बीमारी को दूर करने के लिए किसानों को उर्वरक की आवश्यकता पड़ती है। जिसे सरकार द्वारा एक निर्धारित मुल्य पर किसानों को उपलब्ध करवाया जाता है। प्रखंड स्तर पर किसानों को सही दाम पर उर्वरक मिले इसका निरीक्षण समय-समय पर बीएओ द्वारा किया जाता है। जिससे की खाद बेचने वाले दुकानादरों द्वारा किसानों को उर्वरक निर्धारित दाम पर ही उपलब्ध करवाया जा सके। अगर किसी दुकानदार द्वारा तय दाम से भी अधिक मुल्य किसानों से लिए जाने की सूचना अधिकारी को मिले तो अधिकारी उस दुकानदार पर कार्रवाई करते हुए किसानों को सही दाम पर उर्वरक मिले इसे सुनिश्चित करते है। लेकिन बोधगया के निमा गांव के किसानों को उर्वरक 266 रुपए की जगह 380 से 400 रुपए अधिक देकर खरीदना मजबूरी बनता जा रहा है। इस संबंध में बीएओ को सूचना देने के बाद भी अधिकारियों द्वारा पहल नहीं करने पर किसान ना सिर्फ अधिकारियों के कार्यशौली से नाराज है। बल्कि अधिकारियों द्वारा दुकानदार से अधिक रुपए लेकर माल को ब्लैक करने में साथ देने का आरोप भी लगा रहे है।
इस संबंध में मुन्ना कुमार, परमेश्वर यादव, शंकर कुमार, लखपति यादव, देवनंदन यादव, बबलू यादव आदि किसानों ने बताया कि निमा में करीब पांच सौ किसान रहते है और खेत में फसल पैदा कर अपना जीवनयापन चलाते है। फसल को किड़े-मकौड़े से बचाने के लिए विभिन्न तरह के उर्वरक की आवश्यकता होती है। जिसे किसानों को निर्धारित दाम से भी अधिक देकर खरीदना पड़ता है। उर्वरक के लिए आधार कार्ड सहित अंगुठा भी दुकानदार द्वारा लिया जाता है। उसके बाद भी मनमाना दाम लेने को लेकर बीएओ द्वारा कार्रवई नहीं जाता है। निमा के सलाहकार महिला होने के कारण वह क्षेत्र में कम और उनके पति अधिकनजर आते है। जिस कारण समस्या का समाधान होने की जगह समस्या और भी गंभीर होती जा रही है। किसानों की समस्या को लेकर क्षेत्र के चुनचुन कुमार ने पीएमओ के पास 10 जनवरी को मेल कर किसानों की समस्या को निदान करने का अनूरोध किया है। उसने पीएमओ को लिखा है कि बोधगया प्रखंड कृषि पदाधिकारी व किसान सलाहकार और उर्वरक विक्रेताओं की साठगांठ से यूरिया उर्वरक की कालाबाजारी की जा रही है। मानक मूल्य पर मांगने पर कोई भी विक्रेता किसानों को यूरिया नही देता है। समय पर यूरिया फसल में नहीं देने पर फसल का नुकसान होता है। फसल को बचाने के लिए किसानों को यूरिया मजबूरन खरीदना पड़ता है।

..........
36
1404 views    0 comment
1 Shares

मनोरमा देवी को जीत सुनिश्चित करने के साथ उनके हाथ को करना है मजबूत:- जिलाध्यक्ष द्वारिका प्रसाद
 बोधगय
जनता दल यूनाईटेड बोधगया द्वारा मंगलवार को श्रीकृष्णा भोजनालय में एक बैठक का आयोजन प्रखंड अध्यक्ष राजेश कुमार के अध्यक्षता में किया गया। बैठक में मुख्य अतिथि के रुप में पार्टी के गया जिलाध्यक्ष द्वारिका प्रसाद एवं प्रखंड प्रभारी गयानंद सिंह उपस्थित हुए। बैठक की जानकारी देते हुए जिलाध्यक्ष ने बताया कि प्रत्येक पंचायत में राजस्व गांव व बुथ स्तर को देखते हुए ग्यारह सदस्यी कमिटी का गठन करने। साथ ही पार्टी के मजबुती पर विचार विमर्श किया गया। बैठक में निर्णय लिया गया कि 24 जनवरी को जन नायक कर्पूरी ठाकुर का जयंती को कोविड का पालन करते हुए मनाया जाएगा। इस दिन दस प्रतिनिधियों को अंगवस्त्र भेट कर उन्हें सम्मानित किया जाएगा। इस बैठक में चर्चा किया गया है कि विधान पार्षद के चुनाव में उम्मीदवार के रुप में मनोरमा देवी को जीत सुनिश्चित कराकर नेता के हाथ को मजबुत करना है। वही जिलाध्यक्ष ने पार्टी में शामिल हुए कोशिला के रहने वाले विजय पाण्डेय को अंगवस्त्र देकर पार्टी में शामिल किया। उन्होंने पार्टी में रहकर जनता के लिए कार्य करने का बचन दिया। इस बैठक में जिलाध्यक्ष अरुण कुमार राव, किसान मोर्चा के अध्यक्ष मनोज मेहता, राजेंद्र प्रसाद, विकास कुमार, बैजु यादव, मेधझर सिंह, रामाधार सिंह, रंजीत कुमार चंद्रवंशी, अमित रंजन, आले अहमद खान सहित पार्टी के कई सदस्य मौजुद थे।

..........
13
2276 views    0 comment
32 Shares

एकोलस डेला तेरे संस्था ने गांव में लगाया चापाकल।
 बोधगया
सरकार भले ही गरीबों को सम्मान जनक जीवन देने के लिए तमाम कल्याणकारी योजनाएं चला रही है, पर अब तक इसका लाभ समाज के अंतिम पंक्ति तक नहीं पहुंच पाया है। सरकार की सहायता व योजनाओं के लाभ से अब भी गरीबों के कई गांव महरुम हैं। कई गांव ऐसे है जहां पानी की बहुत ही किल्लत है। गांव तक नल का जल योजना लाभ नहीं पहुंचने के कारण ग्रामीणों को गांव से दूर जाकर पीने का पानी लेकर आना पड़ता है। इन गांव में रहने वाली महिलाओं को पानी के लिए दूर-दूर भटकना न परे, इसी सोच को साकार करते हुए बोधगया के संस्था एकोलस डेला तेरे वेलफेयर सोसाइटी एवं लाइफ एनजीओ द्वारा बोधगया के बैजु बिगहा के मांझी टोला व बारा गांव एवं डोभी प्रखंड के गम्हरिया व भलुआ गांव में एक-एक चापाकल लगाया गया। साथ ही ग्रामीणों को बीच मास्क का वितरण किया गया और उन्हें मास्क् लगाने को लेकर जागरुक किया गया। इस संबंध में संस्था के सचिव डा0 राजेश कुमार ने बताया कि कई गांव के निरीक्षण के दौरान वहा की ग्रामीण महिलाओं को गांव से दूर पानी लाते देखा। लोगों से पता करने पर पता चला की गांव में शुद्ध पानी की बहुत अभाव है। महिलाओं को गर्मी में दो से तीन बार पानी के लिए दूसरे के खेत में जाना पड़ता है। इस दौरान कभी लाइट नहीं रहने तो कभी खेत मालिक न रहने के कारण पानी लाने में काफी समय लग जाता है। चार गांव में चापाकल लगाकर वहा रहने वाले ग्रामीणों को ही चापाकल सुपूर्द किया गया है। इस मौके पर संस्था के सदस्य रॉकी, उमेश सहित काफ संख्या में ग्रामीण उपस्थित थे।​ ​

..........
5
947 views    0 comment
5 Shares

कोरोना गाइडलाइन की धज्जी उड़ाकर प्रमुख व उपप्रमुख ने किया ऑफिस का शुभारंभ।
 बोधगया
ऑमिक्रान का संक्रमण फैलने का डर बना होने के बावजूद लापरवाही कम नहीं हो रही है। शादी जैसे आयोजनों में मेहमानों की संख्या तय है, लेकिन राजनीतिक आयोजनों को लेकर प्रखंड प्रशासन स्तर से कोई पाबंदी नहीं है। बोधगया प्रखंड सह अंचल कार्यालय में सोमवार को प्रखंड प्रमुख ऑफिस का शुभारंभ किया गया। इसमें गया के सांसद विजय मांझी भी शामिल हुए। साथ ही प्रमुख माया देवी व उप प्रमुख मिथलेश कुमार भी शामिल थे। शुभारंभ को लेकर प्रखंड के जनप्रतिनिधियों व समर्थकों का हुजूम लगा रहा। जहां नए ऑफिस में गाइडलाइन के अनुसार 10 से 12 लोग ही रह सकते है। उसकी जगह ऑफिस में 25 से 30 की संख्या से भी उपर भीड़ लगी रही। ऑफिस के शुभारंभ को लेकर पहुंचे लोगों द्वारा खुलकर कोरोना गाइडलाइन की धज्जी उड़ते नजर आए। जबकि सरकार ने ऑमिक्रान के संक्रमण को देखते हुए यह गाइडलाइन जारी किया है कि किसी भी प्रकार से कहीं भी भीड़ की स्थिति उत्पन्न नहीं होने दिया जाए। इसके बावजूद प्रशासन कोई ठोस कदम उठाता दिखाई नहीं दिया। गाइडलाइन के अनुसार सिर्फ आम नागरिकों पर ही फाइन किया जाएगा या इस तरह के राजनीतिक आयोजन करने वाले जन प्रतिनिधियों पर प्रशासन कड़ा रुख अखतियार करेगी।

..........
0
171 views    0 comment
0 Shares

होटल लुंबनी के कमरे में मिला नोयडा के एक व्यक्ति का संदिग्ध अवस्था में शव, पुलिस को हत्या कि असंका, होटल में 9 तारीख से ठहरे होने की पुलिस को नहीं दी गई थी सूचना।
बोधगया।
बोधगया थाना क्षेत्र के लुंबनी होटल के कमरा नंबर 107 में पांच दिनों से रह रहा एक व्यक्ति का शव गुरुवार को मिला है। व्यक्ति की पहचान दिल्ली के नोयडा सेक्टर एक के रहने वाले 35 वर्षीय प्रमोद कुमार सिंह के रुप में किया गया। जिसका पूरा परिवार पहले यूपी के बलिया शहर में रहता था। जो 09 जनवरी से लुम्बिनी होटल में आकर रुका हुआ था। गुरुवार की सुबह 11 बजे तक कमरे का गेट नहीं खुलने व अंदर से कोई अवाज नहीं आता देख होटल के कर्मचारी ने इसकी जानकारी होटल में रहे संचालक को दिया। होटल के संचालक को सक होने पर उसने इसकी सूचना बोधगया पुलिस को दी। मौके पर पहुंची पुलिस ने अपने निगरानी में कमरे का दरवाजा को खुलवाया। पुलिस को कमरे के अंदर एक व्यक्ति बेड पर लेटा हुआ मिला। जिसके चेहरे पर काले रंग की प्लास्टिक बंधा हुआ था और प्लास्टिक से लगे हुए एक पाइप आँक्सीजन सिलेंडर तक गया हुआ था। वहीं पास के एक चेयर में गमछी के उपर रखा हुआ एक मोबाइल भी मिला है। पुलिस द्वारा किए गए पूछताछ में पता चला कि होटल का कमरा नंबर 107 बोधगया के सुजाता बाईपास के रहने वाले जितेंद्र प्रताप सिंह के नाम से बूक करवाया हुआ था। पुलिस द्वारा जितेंद्र से पूछताछ में पता चला कि वह उसके रिश्तेदार है और किसी काम से आकर होटल में रुके हुए है। उसे पहले से ही सांस की दिक्कते है। लेकिन वह अपने साथ कोई आँक्सीजन सिलेंडर नहीं लाया था। आँक्सीजन सिलेंडर किसके द्वारा और कब पहुचाया गया। इसकी जानकारी किसी को नहीं है।

कमरे में मिला दो चाय व दो बोतल पानीः- पुलिस द्वारा कमरे की जांच के दौरान टेबल में चाय की खाली दो शीशे का ग्लास व दो आधा पिया हुआ पानी का बोतल मिला है। साथ ही कमरे के डस्टबीन में पिया हुआ सिगरेट का टुकड़ा भी मिला है। लेकिन पुलिस को कमरे में न कोई लाइटर ही मिला और न ही कोई माचिस का डिब्बा ही मिला है।

बेड के चादर में नहीं थी कोई सिलवटः- होटल के कमरे की जांच में पुलिस को संदेह पैदा हुआ की आँक्सीजन की कमी से अगर मौत होती तो मृतक बेड पर छटपट करता। जिससे चादर में सिलवट आता। मगर चादर को देखने से पुलिस को ऐसा कुछ लगा नहीं। मृतक कंबल के अंदर लेटा हुआ था।

फर्स पर मिला महिला का लम्बा बालः- होटल के कमरे की जांच में एसडीपीओ अजय प्रसाद को बेड के पास के फर्स पर गिरा हुआ व गमछी में एक महिला का लम्बा बाल भी मिला है। जिससे अनुमान लगाया जा रहा है कि कमरे में कोई महिला का आना हुआ होगा। साथ ही मृतक के दाय हाथ में किसी के द्वारा दांत से काटने का ताजा निशान भी पुलिस को दिखाई दिया है। जांच के बाद ही बाल व निशान की पूरी जानकारी मिलेगी। 

होटल के गतिविधि भी संदेहास्पर्दः- पुलिस द्वारा होटल के निरीक्षण के दौरान होटल में लगे एक भी सीसीटीवी कैमरे काम करते हुए नहीं मिला। साथ ही होटल द्वारा 09 जनवारी को प्रमोद के आने के चार दिन बाद भी होटल संचालक द्वारा पुलिस को खबर न देना उसके हत्या के मामले में होटल की भी संलिप्ता को संदेह के घेरा में डाल रही है। होटल के स्टाॅफ द्वारा आँक्सीजन सिलेंडर के आने की भी जानकारी उपलब्ध नहीं करवाई जा रही है। 

परिजनों ने हत्या करने का लगाया आरोपः- पुलिस द्वारा मृतक के परिजनों से संपर्क करने पर परिजनों द्वारा उसके हत्या करने आशंका जाहिर की गई है। इस संबंध में एसडीपीओ अजय प्रसाद ने बताया कि कमरे को लाॅक कर दिया गया है। इसकी ऑक्सीजन की कमी से मौत हुई है या इसकी हत्या की गई है। यह जांच का विषय है। यूपी से आ रहे परिजनों ने फोन पर प्रमोद की हत्या होने की आशंका जाहिर की है। इसको लेकर पटना के फाॅरेंसिक साइंस टीम को काॅल भी कर दिया गया है। जो देर रात बोधगया पहुंच गई है। मृतक बोधगया में कोई व्यवसाय के सिलसिले में पैसे के लेन-देन को लेकर यहा अया हुआ था।

..........
35
398 views    0 comment
75 Shares

बोधगया प्रखंड में रद्द हुए डीलर का लाइसेंस को दुसर्ड डीलर पर टैगिंग करने में चल रही है वसूली का खेल।
बोधगया
  गया जिले में आपूर्ति विभाग के अधिकारियों की मनमानी का खामियाजा आम जनता को भुगतना पड़ रहा है। अधिकारियों द्वारा डीलर की टैगिंग में जानबूझ कर देरी करने से लाभार्थियों को खाद्यान्न प्राप्त करने में परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। दुकानदार का लाइसेंस रद्द होने के बाद दूसरी दुकान में टैगिंग के एवज में वसूली शुरू हो जाती है। ताजा मामला बोधगया नगर पंचायत के संज्ञान में आया है। जिसमें वार्ड नं. 1 सार्वजनिक वितरण दुकानदार पवन कुमार की तबीयत खराब हो गई। इसे रद्द कर दिया गया है।  उसी प्रखंड के साथ ही वार्ड की सार्वजनिक वितरण दुकान से भी टैग लगाने का निर्देश दिया गया है। लक्ष्मी स्वयं सहायता समूह एवं महिला विकास मंच की सार्वजनिक वितरण दुकान वार्ड नंबर 1 में ही स्थित है। इसके बावजूद 6 दिन बीत जाने के बाद भी संबंधित आपूर्ति अधिकारी ने अभी तक टैग लगाने का प्रस्ताव नहीं दिया है। जिससे भ्रष्टाचार को बढ़ावा मिलता है।  जानकारी के अनुसार अनुमंडल पदाधिकारी ने 6 जनवरी को वार्ड क्रमांक 9 के जन वितरण दुकानदार उमेश मांझी का लाइसेंस रद्द कर दिया. उन पर दुकान के स्टॉक की कालाबाजारी का आरोप लगाया गया था। जिसमें 11 जनवरी बीत जाने के बाद भी कोई दिशा-निर्देश जारी नहीं किया गया है कि किस डीलर से लाभार्थी को खाद्यान्न लेना है। स्थानीय ग्रामीणों ने बताया कि बोधगया आपूर्ति अधिकारी के पास रहने वाले विद्यानंद नाम के व्यक्ति से दो-तीन डीलरों से संपर्क कर अवैध राशि की मांग की जा रही है। जबकि शासन के नियमानुसार इसके हितग्राहियों को निरस्त डीलर की दुकान से नजदीकी डीलर पर टैग किया जाता है।  समय बीतने के बाद भी लाभार्थी किसी डीलर से संपर्क नहीं कर पाए हैं।  आपूर्ति विभाग के सूत्रों का कहना है कि अभी तक किसी डीलर से डील फाइनल नहीं हुई है। इसके इंतजार में कर्मचारी व अधिकारी हितग्राहियों के लाभ के लिए समय पर अपना काम नहीं कर रहे हैं।  वह ब्याज के बारे में अधिक चिंतित है। हितग्राहियों ने बताया कि नजदीकी डीलर पर टैग नहीं किया गया तो दिसंबर माह का खाना खर्च हो जाएगा।

..........
0
0 views    0 comment
0 Shares

बिहार के मुख्यमंत्री सहित देश के अन्य राज्यों के कोरोना पीड़ितो के लिए माँ मंगला गौरी में किया पूजा-अर्चना।
बोधगया
 गया के माँ मंगला गौरी प्रांगण में बिहार के लोकप्रिय मुख्यमंत्री आदरणीय नीतीश कुमार, जदयू राष्ट्रीय अध्यक्ष राजीव रंजन उर्फ ललन सिंह एवं बिहार सहित देश के अन्य राज्यों में कोरोना से पीड़ित लोगों के शीघ्र स्वास्थ्य लाभ के लिए बुधवार को जनता दल यूनाइटेड के नेता डॉ. चन्दन यादव (अधिवक्ता) ने विधिवत पुर्जा - अर्चना एवं हवन किया।
पूजा-अर्चना के बाद मीडिया को संबोधित करते हुए डॉ. यादव ने कहा कि कोरोना एक वैश्विक महामारी है। जिससे पूरा देश बहुत मजबूती के साथ लड़ रहा है। कोरोना के भयावह रूप को भारत ने एकजुटता से हराने का काम किया है। मगर इधर कुछ दिनों में कोरोना का संक्रमण पुनः तेज़ी से बढ़ने लगा है और इसके चपेट में बिहार के लोकप्रिय माननीय मुख्यमंत्री आदरणीय नीतीश कुमार, जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष राजीव रंजन उर्फ ललन सिंह सहित देश और राज्य के कई लोग आ गए है। सभी के स्वास्थ्य लाभ के लिए गया के माँ मंगला शक्तिपीठ में विधिवत पूजा - अर्चना एवं हवन किया गया है। साथ ही हम अभी आम अवाम से विन्रम निवेदन करते है कि सरकार के आदेशों का अक्षरसः पालन करें ये जनहित में है और कोरोना के रोकथाम के सारे नियम हमें महामारी से बचने के लिए है, किसी के दुष्प्रचार में न पड़ें, सरकार बिहार के सुरक्षा और विकास के लिए कार्य कर रही है। डॉ. यादव ने कहा कि जैसा कि हम सभी जानते है कि बिहार देश के अन्य राज्यों के अपेक्षा टीकाकरण में भी अग्रणी भूमिका में रहा है। अब हम लोग बूस्टर टिका तक के सफर पर पहुंच चुके है ये बिहार के कुशल नेतृत्व का परिणाम है। बिहार के माननीय मुख्यमंत्री आदरणीय नीतीश कुमार ने कोरोना से बचाव के लिए टीकाकरण का स्वयं  निगरानी कर बिहार के आम अवाम तक सरलता से उपलब्ध करवाया। इसलिए आज बिहार अन्य राज्यों से ज्यादा सुरक्षित है ।
पूजा - अर्चना एवं हवन कार्यक्रम में डॉ. चन्दन यादव के साथ जदयू नेता आकाश चंद्रवंशी, राजू पाठक, राकेश कुमार, पंकज यादव, कुन्दन यादव, सागर यादव, मिथिलेश यादव, अजय यादव, अनूप यादव, प्रणय चंद्रवंशी, चेतन कुमार,राजेश सिंह, अजित चारनपहाडी, अजित यादव, राजीव यादव, पिंटू यादव, खुशवंत सिंह, सौरव कुमार, धीरेन्द्र यादव, रोहित कुशवाहा, राहुल कुमार अनूप, सुनील यादव,राजू यादव,आकाश गिरी,रॉकन यादव सहित कई नेता ने बिहार के माननीय मुख्यमंत्री आदरणीय  नीतीश कुमार जी, जदयू राष्ट्रीय अध्यक्ष आदरणीय राजीव रंजन सिंह उर्फ लालन सिंह, सहित सभी राज्यवासियों एवं देशवासियों को अभी कोरोना से प्रभावित है उनकी शीघ्र स्वास्थ्य लाभ के लिए भाग लिया और माँ मंगल के समक्ष प्रार्थना किया ।

..........
17
826 views    0 comment
1 Shares

गया सदर अनुमंडल में अधिकारियों व कर्मचारियों की मिलीभगत से कालाबाजारी करने वालों को बचाने का चल रहा है खेल।
बोधगया।
  गया सदर अनुमंडल में इन दिनों राशन अधिकारियों व डीलिंग क्लर्कों की मिलीभगत से कालाबाजारी के आरोपी डीलरों को बचाने का अनोखा खेल चल रहा है। ताजा मामला बोधगया प्रखंड से सामने आया है। सार्वजनिक वितरण दुकानदार सुदामा पासवान को 10 अक्टूबर 2021 को अनियमितताओं के लिए रद्द कर दिया गया था।  इसके बाद उक्त डीलर को पंचायत के एक अन्य डीलर जितेंद्र कुमार के साथ टैग कर दिया गया।  उन्होंने कार्यालय में मशीन में अंकित 419 क्विंटल खाद्यान्न नहीं मिलने की शिकायत की। अनाज नहीं मिलने पर लाभार्थियों ने हंगामा भी किया।  इसके बावजूद रद्द किए गए डीलर सुदामा पासवान के खिलाफ कोई प्राथमिकी दर्ज नहीं की गई।

  मामला 2:- 
  प्रखंड आपूर्ति अधिकारी बोधगया द्वारा 10 नवंबर को नगर पंचायत के वार्ड संख्या 9 के जन वितरण दुकानदार उमेश मांझी की दुकान की जांच में विक्रेता की पत्नी द्वारा दुकान का स्टॉक दिखाया गया.  पीओएस मशीन में 168 क्विंटल अनाज रखा जाना चाहिए था।  जबकि भौतिक रूप से अनाज की एक बूंद भी नहीं मिली।

  इस मामले में भी आपूर्ति अधिकारी की रिपोर्ट के बावजूद संबंधित डीलर के खिलाफ कालाबाजारी में प्राथमिकी दर्ज नहीं की गयी. संबंधित डीलर से दो बार स्पष्टीकरण मांगा गया। डीलर ने दोनों बार जवाब देना उचित नहीं समझा, जिसके बाद 6 जनवरी 22 उमेश मांझी का लाइसेंस रद्द कर दिया गया।

  *अनुमंडल अधिकारी का आदेश है हास्यास्पद*

  बोधगया नगर पंचायत के सार्वजनिक वितरण दुकानदार उमेश मांझी का लाइसेंस रद्द करने वाले अनुमंडल पदाधिकारी का पत्र हास्यास्पद लगता है.  इसमें उन्होंने बोधगया आपूर्ति अधिकारी को अपनी उपस्थिति में शेष खाद्यान्न वितरित करने का निर्देश दिया है.  बोधगया एमओ द्वारा जांच रिपोर्ट में उल्लेख किया गया है कि डीलर के स्टॉक के अनुसार खाद्यान्न का भंडारण नहीं किया जा रहा है.

 क्या है नियम :-
  सार्वजनिक वितरण प्रणाली नियंत्रण आदेश 2016 के नियमों में स्पष्ट रूप से उल्लेख किया गया है कि यदि डीलर के व्यवसाय स्थल में स्टॉक के अनुसार खाद्यान्न उपलब्ध नहीं है, तो इसे कालाबाजारी मानकर संबंधित डीलर के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कर प्रमाण पत्र बनाया जाता है।  अनुपलब्ध खाद्यान्न की समान राशि की वसूली का मामला।

  सदर अनुमंडल में बोधगया के डीलिंग लिपिक एवं आपूर्ति अधिकारी अनुमंडल पदाधिकारी को झांसा देकर नियमों के विरुद्ध कार्य कर रहे हैं।  लेकिन बोधगया में इस तरह के आरोप लगने पर डीलरों को मनचाहा समय दिया जाता है और बदले में आरोपी डीलरों से अवैध वसूली का आरोप लगाया जाता है।

  *सरकारी नियमों और कानूनों को तोड़ना है तो बोधगया एमओ और डीलिंग क्लर्क से सीखें*

  बोधगया प्रखंड में नियम-कायदों की अनदेखी कर अनाज जमा करने के लिए पिछले 3 माह से पत्र भेजकर कालाबाजारी करने वालों को बेवजह मदद की जा रही है। जिस कारण डीलरों का रवैया लाभुकों के प्रति उदासीन है। लाभुकों को डीलर द्वारा कम अनाज देने या हर महीने अनाज नहीं दिए जाने पर कंप्लेन करने पर भी अधिकारी द्वारा कार्रवाई करने का डर नहीं रह।

..........
0
0 views    0 comment
0 Shares

बोधगया में सादगी से मनाया गया वियतनाम और चीन का नव वर्ष, तीन हजार दीप जलाकर भगवान बुद्ध से मांगा ओमिक्रॉन संक्रमण से मुक्ति।
बोधगया।
कोरोना के तीसरे लहर में फैल रहे ओमिक्रॉन के संक्रमण को देखते हुए सोमवार को वियतनाम और चीन के बौद्ध भिक्षुओं ने अपना नव वर्ष लोसर का जश्न बुद्धभूमि के बीटीएमसी गोलंबर के पास सादगी से मनाया। महाबोधि मंदिर बंद होने के करण बौद्ध भिक्षुओं व श्रद्धालुओं ने 3 हजार दीप जलाकर विश्व को ओमिक्रॉन के संक्रमण से मुक्ति दिलाने का प्राथना भगवान बुद्ध से किया। उसके पहले भिक्षुओं ने महाबोधि मंदिर के बाहरी परिसर में विशेष पुजा का आयोजन किया। बौद्ध भिक्षुओं ने बताया कि नए साल में सभी प्रकार के विघ्न को नाश करने के लिए तंत्र की देवी श्री महाकाली की पूजा-अर्चना की जाती है। इन्हें रक्षक देवी के नाम से जाना जाता है। इसी क्रम में नेचुंग देवता की भी पूजा की गई। बौद्ध लामाओं और श्रद्धालुओं ने पूजा के स्थान पर विशेष प्रकार के श्रद्धा का सूचक वस्त्र खादा चढ़ाया। बौद्ध भिक्षुओ ने बताया कि नववर्ष का जश्न तीन दिनों तक मनाया जाता है। देश के विभिन्न प्रदेशों में स्थित मोनास्ट्री में नृत्य, संगीत और प्रतियोगिता का आयोजन कराया जाता है। लेकिन कोरोना के बढ़ते संक्रमण के कारण इस साल यह पर्व छोटे रुप में मनाया जा रहा है। बोधगया में सिर्फ 15 से 20 बौद्ध भिक्षु सोशल डिस्टेंसिंग व मास्क पहनकर ही पूजा में शामिल होंगे।

..........
33
638 views    0 comment
21 Shares

सीएचसी प्रभारी, बीडीओ, सीओ सहित 35 स्वास्थ्य कर्मियों ने लिया बूस्टर डोज, 2548 लोगों का लगा टीका।
 बोधगया
सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र बोधगया में सोमवार से स्वास्थ्यकर्मियों, फ्रंटलाइन वर्कर्स के साथ-साथ 60 साल के अधिक उम्र के अन्य गंभीर बीमारियों से ग्रस्त लोगों को कोविड-19 टीका की बूस्टर डोज यानी एहतियाती खुराक लगाई गई है। कोरोना वायरस के नए वैरिएंट ओमिक्रॉन के कारण कोरोना वायरस के प्रसार पर लगाम लगाने के लिए यह डोज दिया जा रहा है। पहले दिन पहला डोज चिकित्सा प्रभारी डा0 मनोज कुमार ने लगाया उसके बाद बीडीबो सतीश कुमार व सीओ कमलनयन कश्यप ने लिया। सीएचसी में कुल 277 बूस्टर डोज दिया गया। जिसमें करीब 35 स्वास्थ्य कर्मी शामिल थे। उसी के साथ 2548 लोगों ने पहला व दूसरा कोरोना का टीका लिया। साथ ही कोरोना के संक्रमण को लेकर 265 लोगों का कोरोना जांच हुआ। जिसमें 6 लोगों का रिपोर्ट पॉजेटिव आया है। प्रभारी ने लोगों से मास्क पहनने व शोसल डिस्टेंसिंग में रहने का अपील किया है।

..........
37
556 views    0 comment
0 Shares


पैदल यात्री दिवस घोषित करने की  मांग को लेकर बोधगया में लगाया गया होडिंग, मार्च की जगह लोग व्हाट्सएप कर दे समर्थन।
बोधगया
बुद्धा पदयात्री फोरम के संचालक संजय आनंद ने सोमबार को प्रेस रिलीज जारी कर बताया कि 11 जनवरी को तय मार्च कार्यक्रम को कोरोना के चलते स्थगित किया गया है। लेकिन पैदल यात्री दिवस घोषित करने की  मांग की मुहिम जारी रहेगी। लोग अपना समर्थन मार्च में ना आकर व्हाट्सएप नंबर 9304519465 पर भेजेंगे।
 
11 जनवरी को पैदल यात्री दिवस घोषित करने की  मांग को लेकर बोधगया के माया सरोवर, कालचक्र मैदान, चाइना मंदिर, नोडवन आदि स्थानो पर होडिंग लगाया गया है।  इसमें महात्मा गांधी एवं भगवान बुद्ध को पदयात्री के रूप में दिखाया गया है। इस संबंध में पूर्व प्रमुख व बुद्ध मंदिर प्रबंधन समिति के पूर्व सचिव वयोवृद्ध काली चरण यादव,  वरीय वार्ड पार्षद राम सेवक, अखिल भारतीय भीखु संघ के सचिव भन्ते प्रज्ञा दीप आदि से कार्यक्रम के समर्थन में साक्षात्कार लिया गया है। मार्च निकलने को लेकर अनुमण्डल पदाधिकारी के अनुमति नहीं होने के कारण पदयात्री सम्मान मार्च को स्थगित किया गया एवं आयोजन समिति ने निर्णय लिया कि कल के कार्यक्रम में भाग लेने वाले अपने-अपने स्थान पर ही मांग करेंगे।

..........
22
127 views    0 comment
8 Shares

बोधगया में स्थित एसएफसी गोदाम में मजदूरों को नहीं होगा संक्रमण, एजीएम के संरक्षण में मजदूर बिना मास्क के कर रहे है कार्य।


 बोधगया


कोरोना के तीसरी लहर में फैल रहे संक्रमण को लेकर जहां सरकार का गाइड लाइन जारी किया गया है। उसका पालन करवाने के लिए जिले के विभिन्न जगहों में अधिकारियों व पुलिस के छोटी-छोटी टीम द्वारा चौक चौराहों में मास्क जांच करने के साथ लोगों को मास्क पहनने के लिए जागरुक किया जा रहा है। वहीं बोधगया में कुछ अधिकारी ऐसे भी है, जो न तो खुद मास्क लगाए हुए है और न ही उनके अंडर में कार्य करने वाले मजदूरों को मास्क लगाने को लेकर जागरुक किया है। सरकारी आदेश का खुलकर सरकारी अधिकारी ही पालन नहीं करते नजर आ रहे है। यह मामला बोधगया प्रखंड सह अंचल कायार्लय के बगल में स्थित एसएफसी गोदाम का है। सोमवार को इस गोदाम में रहे एजीएम सौरभ कुमार न तो खुद मास्क पहनेे हुए थे और न ही अनाज को लोड करने के लिए मजदूरों को ही मास्क लगाने के लिए जागरुक किए थे। 8-10 की संख्या में रहे मजदूर लगातार बिना मास्क के गोदाम से बाहर लगी गाड़ियों में अनाज का बोरा एक-एक कर भर रहे थे। काफी देर तक एजीएम, गोदाम में अनाज लेने पहुंचे डीलर से बात करता रहा। एजीएम व डीलर को इस दौरान सरकारी आदेश का पालन करना उचित नहीं लगा। जबकी माल उठाने के लिए किसी भी डीलर को गोदाम तक नहीं जाना है। इस संबंध में एजीएम से पूछने पर उन्होंने बताया कि सभी मजदूर काम कर रहे है, इसलिए मास्क नहीं पहने है। बोरा ढ़ोने के कारण मास्क नहीं लगाया है। लगाना जरुरी है कि बात पूछने पर एजीएम ने कहा कि कोई जरुरी नहीं, कोई लगाता है, कोई नहीं लगाता है। खुद के मास्क नहीं लगाने का कारण जानने पर उन्होने बताया कि मास्क रखा हुआ है, बाद में लगा लेंगे। जबकि अधिकारियों द्वारा क्षेत्र में किये जा रहे मास्क चेकिंग के दौरान लोगों से मास्क न पहनने को लेकर जुर्माना भी लिया जा रहा है। जिससे कि लोग जुर्माना देने से डरे और मास्क का इस्तेमाल करें। लेकिन जब अधिकारी ही मास्क पहनना नहीं चाहेंगे तो ग्रामीण क्षेत्रों के रहने वाले लोगों को जागरूक कैसे किया जा सकता है ?

..........
69
1008 views    0 comment
0 Shares

सीबीएससी के सीटेट की परीक्षा देते हुए पकड़ाई 10वीं कक्षा में पढ़ने वाली लड़की।
 बोधगया
बोधगया थाना क्षेत्र के बीआईटी इंडस्ट्र्ीयल एरिया में चल रही सीबीएससी के सीटेट की परीक्षा में दूसरे के बदले 10वीं कक्षा में पढ़ने वाली एक लड़की को केंद्राधिक्षक के द्वारा संदेह के आधार पर पकड़ा गया है। इसकी जानकारी देते हुए एएसआई प्रदीप कुमार ने बताया कि सीबीएससी के सीटेट की परीक्षा में नवादा जिला के रजौली थाना क्षेत्र के तारगीर के रहने वाली परीक्षार्थी संगीता कुमारी को परीक्षा देना था। लेकिन केंद्राधिक्षक मृत्युंजय कुमार द्वारा प्रवेश पत्र के जांच के दौरान कुछ सक हुआ तो परीक्षा में बैठी उसी गावं की रहने वाली प्रीति का जब जांच किया गया तो न तो उसका चेहरा ही परीक्षार्थी से मिला और न ही उसका हस्ताक्षर ही मिला। कड़ई से पूछताछ करने पर वह अपनी गलती को स्वीकार की। जिसे बोधगया थाने को सुपूर्द किया गया है।

..........