logo
logo
(Trust Registration No. 393)
aima profilepic
Mritunjay kumar Choudhary
State Incharge(Bihar)

शराबबंदी पर अरुण कुमार ने सीएम पर साधा निशाना, कहा.. सबको पियक्कड़ बनाकर गांधी का चोला ओढ़ कर चल रहे हैं नीतीश

PATNA : नालंदा में जहरीली शराब से मौत के बाद मुख्यमंत्री नीतीश कुमार चौतरफा घिर गये हैं. विपक्ष के साथ-साथ सहयोगी दल भी हमलावर हैं. खास बात ये है कि साल 2016 जब बिहार में शराबबंदी कानून लागू करने का फैसला लिया था, तब तमाम राजनीतिक दलों ने विधानमंडल से सर्वसम्मत से प्रस्ताव पारित किया था लेकिन आज शराबबंदी से ज्यादातर पार्टियां संतुष्ट नहीं हैं और इसको लेकर कई तरह के सवाल उठ रहे हैं.

भारतीय सबलोग पार्टी (भासपा) के प्रमुख एवं जहानाबाद के पूर्व सांसद डॉ अरुण कुमार ने फर्स्ट बिहार से बात करते हुए शराबबंदी पर अपनी प्रतिक्रिया दी है. अरुण कुमार आज अपनी पार्टी का चिराग पासवान के गुट वाली लोक जनशक्ति पार्टी (रामविलास) के साथ विलय करने वाले हैं. इससे पहले उन्होंने नीतीश कुमार पर जमकर निशाना साधा है.

अरुण कुमार ने सीधे कहा कि शासन की बागडोर गलत लोगों के हाथ में चली गई है. कानून व्यवस्था बिगड़ने का यही मुख्य कारण है. जो आज शराबबंदी का ढोल पीट रहे हैं वही खुद शराब पीते हैं. नीतीश कुमार को खुद पता है कि उनके कौन मंत्री और अफसर शराब पीते हैं. इसलिए मैं कहता हूं कि यह नकली शराबबंदी है. नीतीश कुमार सबको पियक्कड़ बनाकर अब गांधीवादी चोला ओढ़ रहे हैं. 

वहीं शराबबंदी संशोधन पर अरुण कुमार ने कहा कि यह कभी सफल नहीं होगा, क्योंकि जेडीयू के जो सफेदपोश हैं उन्हीं के संरक्षण में शराब कारोबार चल रहा है. जनता को भी सब पता है. पहले पंचायत स्तर तक शराब की दुकान खुलवा दी और अब शराबबंदी का नाटक कर रहे हैं. सबको शराब के पीछे लगा दिया है और प्रदेश भर में हत्या और लूट के अपराध बढ़ गये हैं.

..........
13
1554 views    0 comment
15 Shares

बिहार में लगा नाइट कर्फ्यू, जानें क्या खुलेगा क्या बंद रहेगा?

PATNA: बिहार में कोरोना की तीसरी लहर को देखते हुए मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की अध्यक्षता में क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप की बैठक हुई। इस बैठक में डिप्टी सीएम और दूसरे मंत्रियों के अलावा तमाम आलाधिकारी मौजूद रहे। 

क्राइसेस मैनेजमेंट ग्रुप की आज हुई बैठक में नाइट कर्फ्यू लगाने का फैसला लिया गया। राज्य में नाइट कर्फ्यू 6 जनवरी से 21 जनवरी तक लागू रहेगा। जो रात्रि 10 बजे से लेकर सुबह 5 बजे तक प्रभावी रहेगा। इसके अलावे सभी जिम मॉल और पार्कों को बंद करने का फैसला लिया गया है। 

राज्य में कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए राज्य सरकार ने आपदा प्रबंधन समूह की बैठक में ये फैसले लिए है। सरकार के लिए गये फैसले के मुताबिक आवश्यक सेवाओं को छोड़कर सभी दुकाने रात 8 बजे तक ही खुली रहेंगी। रात्रि 10 बजे से सुबह 5 बजे तक नाईट कर्फ्यू जारी रहेगी। वही 9, 10, 11 एवं 12वीं की क्लास एवं सभी कॉलेज 50% उपस्थिति के साथ खुलेंगे। ऑनलाइन क्लास को प्राथमिकता दी जाएगी।

वही कक्षा 8 तक के सभी क्लास online ही चलेंगे। कोचिंग क्लास 9, 10, 11, 12 के लिए 50 फीसदी उपस्थिति के साथ खुलेंगे। सभी सरकारी और गैर सरकारी कार्यालय 50 फीसदी उपस्थित के साथ खुलेंगे। किसी भी बाहरी व्यक्ति के कार्यालय में प्रवेश वर्जित रहेगा।

सभी पूजा स्थल श्रद्धालुओं के लिए अगले आदेश तक बंद रहेंगे। मंदिर में केवल पुजारी ही पूजा कर सकेंगे। सिनेमा हॉल/ जिम/पार्क/ क्लब/ स्टेडियम/ स्वीमिंग पूल पूरी तरह बंद रहेंगे। रेस्टोरेंट/ ढाबे आदि 50% कैपेसिटी के साथ खुलेंगे।

शादी विवाह में अधिकतम 50 व्यक्ति और अंतिम संस्कार में 20 व्यक्तियों के शामिल होने की अनुमति होगी। सभी राजनीतिक/ सामुदायिक/ सांस्कृतिक सार्वजनिक आयोजनों में अधिकतम 50 व्यक्ति की अनुमति होगी लेकिन इसके लिए जिला प्रशासन से अनुमति लेनी होगी। वही शॉपिंग मॉल पूरी तरह से बंद रहेंगे।

..........
52
8766 views    0 comment
119 Shares

बिहार में नाइट कर्फ्यू : CMG की बैठक में बनी बात, जानिए.. क्या होगा फैसला

 PATNA : बिहार में कोरोना की तीसरी लहर को देखते हुए मुख्यमंत्री नीतीश कुमार क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप की बैठक कर रहे हैं। मुख्यमंत्री के साथ इस बैठक में बिहार के डिप्टी सीएम और दूसरे मंत्रियों के अलावा तमाम आला अधिकारी जुड़े हुए हैं।

क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप की बैठक से जो बड़ी खबर सामने आ रही है उसके मुताबिक राज्य में नाइट कर्फ्यू लगाने की पूरी संभावना है। हालांकि इसकी आधिकारिक घोषणा थोड़ी देर बाद की जा सकती है।

क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप की बैठक के बीच सूत्रों से जो जानकारी सामने आ रही है। उसके मुताबिक के राज्य में 6 जनवरी से नाइट कर्फ्यू को प्रभावित किया जा सकता है। आगामी 21 जनवरी तक राज्य में नाइट कर्फ्यू लगा रहेगा। 

रात 10:00 बजे से लेकर सुबह 6:00 बजे तक यह नाइट कर्फ्यू प्रभावी रहेगा। इसके अलावे सभी जिम मॉल और पार्कों को भी बंद करने का फैसला लिया जा सकता है। इतना ही नहीं शैक्षणिक संस्थानों और अन्य तरह के प्रतिष्ठानों पर भी नए सिरे से बंदी से लागू की जा सकती है।

..........
4
726 views    0 comment
4 Shares

अररिया: भरगामा पुलिस का पत्रकारों के प्रति व्यवहार दुर्भाग्यपूर्ण : सांसद

 पुलिस और पत्रकारों का रिश्ता चोली और दमन का रिश्ता माना जाता है तथा दोनों ही समाज के आवश्यक अंग है जहां एक और पुलिस समाज को सुरक्षा की भावना उत्पन्न करती है तो वहीं दूसरी ओर एक पत्रकार अपनी कलम से सामाजिक विषमताओं और घटनाओं को निष्पक्षता के साथ निडर होकर उजागर करने का काम करता है। पुलिस और पत्रकार दोनों एक दूसरे के पूरक है किंतु दिन प्रतिदिन पुलिस का पत्रकारों के प्रति व्यवहार एक बड़ा सवाल बन गया है पिछले कुछ समय से पत्रकारों के प्रति पुलिस का व्यवहार बहुत ही दुर्भाग्यपूर्ण और चिंताजनक रहा है जिसके चलते पत्रकार के मान सम्मान को ठेस पहुंची है! कुछ पुलिसकर्मी पत्रकारों से दुर्व्यवहार कर पूरे पुलिस विभाग कि साख को पलीता लगाने का काम कर रहे हैं हाल ही में भी पत्रकारों के प्रति पुलिस कर्मियों का दुर्भाग्य पूर्ण व्यवहार देखने को मिला जिसमें आला अधिकारियों पर मामला संज्ञान में आने के बाद मामले का पटाक्षेप भी कर दिया गया! किंतु गलती करके माफी मांगना कुछ हद तक तो सही है किंतु इस तरह की घटनाएं पिछले कुछ समय से काफी देखने को मिल रही है जिसमें पत्रकारों द्वारा थानो, चौकियों, तथा सूचना एकत्रित करते समय पुलिस कर्मी द्वारा पत्रकारों से दुर्भाग्यपूर्ण और निराशाजनक व्यवहार किया जाता रहा है तथा आला अधिकारियों को मामला संज्ञान में आने पर मामले को रफा-दफा भी कर दिया जाता है! यदि कोई पत्रकार किसी पीड़ित पक्षकार की ओर से या किसी मामले में थाने या चौकियों से जानकारी एकत्रित करने जाता है तो उससे ऐसा व्यवहार किया जाता है मानो उसने बहुत बड़ा अपराध कर दिया हो! प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा भी पत्रकारों से सम्मान पूर्वक व्यवहार करने के लिए समय-समय पर पुलिस विभाग को चेताया गया है किंतु धरातल परिस्थिति बहुत ही निंदनीय है! यदि पत्रकार के साथ किसी पुलिसकर्मी द्वारा अभद्रता की जाती है तो ज्यादातर मामलों में पत्रकार की कोई सुनवाई नहीं होती और यदि किसी मामले में कुछ सुनवाई हो भी जाए तो आला अधिकारी मामले को गोलमोल करके रफा-दफा करने की कोशिश करते हैं आज तक किसी भी दोषी पुलिसकर्मी के विरुद्ध कोई दंडात्मक कार्रवाई नहीं की गई है जिसके चलते पत्रकारों के प्रति पुलिस का अमानवीय व्यवहार आम से बात हो गई है! एक पत्रकार जो अपनी जिम्मेदारी का बड़ी ईमानदारी के साथ निर्वहन करते हुए अपनी जान जोखिम में डालकर निष्पक्ष तरीके से समाज को घटनाओं से रूबरू कराता है तथा आम आदमी का आवाज शासन प्रशासन तक पहुंचाने का काम करता है उस पत्रकार की स्थिति वर्तमान समय में बहुत ही चिंताजनक बनी हुई है! खबर के माध्यम से बिहार सरकार तथा पुलिस के आला अधिकारियों से अपील की जाती है कि वह पत्रकारों के साथ दुर्व्यवहार करने वाले पुलिस कर्मियों के विरुद्ध कठोर से कठोर कार्यवाही अमल में लाएं ताकि एक पत्रकार अपनी ड्यूटी को बेहतर ढंग से अंजाम दे सके!

..........
32
3180 views    0 comment
56 Shares

कोरोना का कहर : दिल्ली में लगा वीकेंड कर्फ्यू, CM केजरीवाल भी हुए पॉजिटिव

DELHI : देश में कोरोना और ओमिक्रॉन के मामले तेजी से बढ़ रहे है. वहीं राजधानी दिल्ली में कोरोना की रफ़्तार देखते हुए अब वीकेंड कर्फ्यू लगाने का भी फैसला हुआ है. जहां दिल्ली में पहले से नाइट कर्फ्यू पहले से लगा हुआ है. दिल्ली डिजास्टर मैनेजमेंट अथॉरिटी की आज हुई बैठक में यह फैसला लिया गया.

बता दें दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने बताया है कि वह कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए हैं और फिलहाल घर पर ही अलग रह रहे हैं. और उत्तर पूर्वी दिल्ली से भारतीय जनता पार्टी के सांसद और प्रदेश इकाई के पूर्व अध्यक्ष मनोज तिवारी भी कोरोना पॉजिटिव हैं और वह घर पर पृथकवास में रह रहे हैं.

बता दें राजधानी में कोरोना की रफ्तार को देखते हुए अब वीकेंड कर्फ्यू लगाने का भी फैसला हुआ है. दिल्ली में नाइट कर्फ्यू पहले से लागू है. यह दिल्ली डिजास्टर मैनेजमेंट अथॉरिटी की आज हुई बैठक में यह फैसला लिया गया. तेजी से बढ़ते कोरोना मामलों के मद्देनजर सख्त फैसले की पहले से उम्मीद की जा रही थी. जहां दिल्ली में कोरोना केस तेजी से बढ़ रहा है. 

..........
11
1162 views    0 comment
14 Shares

30 से अधिक थानों की बढ़ी परेशानी; पुलिस गाड़ी में तेल भरना हुआ बंद, मैनेजर ने कहा- जब तक पुराना पैसा नहीं मिलेगा, ईंधन नहीं देंगे

PATNA : खबर पटना से आ रही है जहां पेट्रोल पंप ने पुलिस गाड़ी में डीजल-पेट्रोल भरना बंद कर दिया है. साथ ही पंप पर एक नोटिस भी लगा दिया गया है. जिसमें लिखा गया है कि 1 जनवरी से पुलिस विभाग की गाड़ियों के लिए ईंधन की आपूर्ति बंद की जाती है. बकाया भुगतान के बाद ही आपूर्ति की जाएगी.

यह मामला आर ब्लॉक स्थित पेट्रोल पंप गैसोलिन सर्विस प्राइवेट लिमिटेड का है. पंप के मुताबिक पुलिस विभाग 4.80 करोड़ रुपए बकाया है. माना जा रहा है कि पटना पुलिस की इस बड़ी लापरवाही का असर उसकी पेट्रोलिंग और लॉ एंड ऑर्डर की व्यवस्था पर पड़ेगा. 

वहीं पेट्रोल पंप का कहना है कि उनकी तरफ से पटना SSP को बीते 27 दिसंबर को ही इस संबंध में एक लेटर लिखा गया था. उसमें लिखा गया था कि 24 दिसंबर तक पटना पुलिस पर 4.80 करोड़ रुपए का बकाया हो गया है. पंप मालिक का कहना है कि हम लोग इंडियन ऑयल को अग्रिम भुगतान करते हैं. तब जाकर तेल मिलता है. ऐसे में अब क्रेडिट पर इंधन देना मुश्किल है.

पंप के मैनेजर सिंटू कुमार शर्मा ने बताया कि 4 साल से 22 लाख रुपए पहले का बकाया है. और जेनरेटर के तेल का भी 14 लाख रुपए बकाया है. ऐसी स्थिति में अब पेट्रोल-डीजल देना संभव नहीं है. जब तक भुगतान नहीं होगा ईंधन नहीं दिया जाएगा. सिर्फ कैश देने वालों को ही ईंधन दिया जा रहा है.

आपको बता दें यह पेट्रोल पंप कोतवाली, गांधी मैदान, बुद्धा कॉलोनी, एसके पुरी, पाटलिपुत्र, दीघा, शास्त्रीनगर, रामकृष्णानगर, चौक, गोपालपुर, सुल्तानगंज, अगमकुआं सहित शहर के लगभग 30 थानों और पुलिस लाइन की गाड़ियों को तेल देता रहा है. वहीं अब तेल नहीं मिलने से थानों को परेशानी हो रही है. कई थानेदारों ने बताया कि तेल नहीं मिलने पर हमें गश्ती देने में दिकत होगी अगर गस्ती नहीं देते है तो हम पर करवाई हो जाएगी.

..........
7
1669 views    0 comment
13 Shares

मंत्री जीवेश कुमार ने कहा.. बार बार नहीं लगा सकते लॉकडाउन, कोरोना के साथ जीने की आदत डालिए

PATNA : बिहार में कोरोना संक्रमण के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं. बढ़ते कोरोना के मामले को लेकर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार भी गंभीर हैं. सोमवार को सीएम की जनता दरबार में भी कई संक्रमित मिले हैं. इसके अलावा कई नेताओं के भी संक्रमित होने की खबर है.

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार आज शाम क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप की बैठक करेंगे, जिसमें कोरोना गाइडलाइन और आंशिक लॉकडाउन लगाने पर फैसला कर सकते हैं। इस बीच बिहार सरकार के मंत्री जीवेश कुमार ने एक बड़ा बयान दिया है.

दिल्‍ली में मीडिया से बात करते हुए मंत्री ने कहा है लोगों को कोरोना से घबराने की जरूरत नहीं है. पूरे बिहार को अलर्ट मोड में रखा गया है. कोरोना से निपटने के लिए सरकार पूरी तरह तैयार है.  मंत्री ने कहा कि अब कोरोना के बीच ही काम करने की आदत डालनी होगी.

मंत्री ने कहा कि कोविड-19 अपना रूप बदल रहा है. कभी कोरोना, कभी डेल्‍टा तो कभी ओमिक्रोन आ रहा है. पता नहीं यह सब कब रुकेगा और ऐसे में बार-बार लाकडाउन भी नहीं लगाया जा सकता. ऐसे में लोगों को अब इसके साथ जीने की आदत डालनी होगी.

मंत्री ने कहा कि बार-बार लाकडाउन लगाते रहने से रोजी-रोटी समस्‍या हो रही है. इसको भी ध्यान देना चाहिए. कोरोना के चलते अब देश और राज्‍य की अर्थव्‍यवस्‍था की रफ्तार को रोक तो नहीं सकते.

..........
1
3519 views    0 comment
9 Shares

8
1668 views    0 comment
10 Shares

BJP सांसद Manoj Tiwari को हुआ कोरोना, आइसोलेशन में गए

PATNA : राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में कोरोना जबरदस्त तरीके से बढ़ रहा है। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के कोरोना संक्रमित पाए जाने के बाद एक और बड़ी खबर सामने आ रही है। बीजेपी सांसद मनोज तिवारी को भी कोरोना हो गया है। मनोज तिवारी की तबीयत 2 जनवरी से ही खराब थी। बाद में उन्होंने अपना कोरोना टेस्ट करवाया और रिपोर्ट पॉजिटिव आई।

मनोज तिवारी ने इस बात की जानकारी खुद ट्वीट करते हुए दी है मनोज तिवारी ने ट्वीट करते हुए लिखा है कि परसों यानी 2 जनवरी की रात से ही अस्वस्थ महसूस कर रहा था हल्का बुखार और जुकाम होने के कारण कल उत्तराखंड रुद्रपुर प्रचार में नहीं जा पाया था। 

टेस्ट में आज पॉजिटिव आया हूं सतर्कता बरतते हुए अपने आपको कल से ही आइसोलेट कर लिया था कृपया अपना और अपने परिवार का ध्यान रखें।

..........
1
1286 views    0 comment
6 Shares

बिहार : CRPF के 9 जवान कोरोना पॉजिटिव, बिहार में तेजी से बढ़ रही है संक्रमितों की संख्या

MUZAFFARPUR : इस वक्त की बड़ी खबर बिहार के मुजफ्फरपुर से आ रही है जहां सीआरपीएफ के 9 जवान कोरोना संक्रमित हो गए हैं. मिली जानकरी के मुताबिक जवानों की कोरोना जांच कराई गई थी जिनमें से 9 की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है. कोरोना पॉजिटिव जवानों को अस्पताल पहुँचाया गया है. संक्रमित जवानों के अस्पताल पहुँचते ही लोगों में हड़कंप मच गया है. अस्पताल में अफरा-तफरी का माहौल बन गया है.

आपको बता दें कि बिहार में कोरोना की तीसरी लहर सक्रिय होने के बाद संक्रमितों की संख्या तेजी से बढ़ रही है. राजधानी पटना समेत बिहार के अलग-अलग जिलों में कोरोना के मरीजों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही हैं. ऐसे में अब सरकार इससे निपटने के लिए नई पाबंदियों की तरफ आगे बढ़ सकती है. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार खुद हालात को लेकर चिंता जाहिर कर चुके हैं

बताते चलें कि आज देर शाम इस मामले पर क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप की बैठक होगी. इस बैठक में बिहार में नई पाबंदियों को लेकर फैसला किया जाएगा.  कोरोना के मामले एक बार फिर से बढ़ने लगे हैं. बिहार में कल कोरोना के 344 नए मामले सामने आएं. वहीं एक्टिव मरीजों की संख्या अब बढ़कर 1385 हो गयी है.

..........
3
1248 views    0 comment
10 Shares

बिहार में सेमी लॉकडाउन या नाइट कर्फ्यू? नीतीश सरकार आज लेगी फैसला
  
PATNA : कोरोना की तीसरी लहर सक्रिय होने के बाद बिहार में हालात तेजी के साथ बेकाबू होते जा रहे हैं. राजधानी पटना समेत बिहार के अलग-अलग जिलों में कोरोना के मरीजों की तादाद लगातार बढ़ती जा रही हैं. ऐसे में अब सरकार इससे निपटने के लिए नई पाबंदियों की तरफ आगे बढ़ सकती है. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार खुद हालात को लेकर चिंता जाहिर कर चुके हैं. और आज देर शाम इस मामले पर क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप की बैठक होगी. इस बैठक में बिहार में नई पाबंदियों को लेकर फैसला होगा.

क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप की बैठक के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की औरंगाबाद यात्रा के बाद होने की उम्मीद है. मुख्यमंत्री आज औरंगाबाद में समाज सुधार अभियान के तहत कार्यक्रम में शामिल होने वाले हैं. हालांकि यहां जनसभा नहीं रखी गई है. मुख्यमंत्री के जनता दरबार कार्यक्रम में सोमवार को 6 फरियादियों के पॉजिटिव आने के बाद हड़कंप मच गया था और उसके बाद सीएम नीतीश ने खुद इस बात की जानकारी दी थी कि आज यानी मंगलवार को हाई लेवल मीटिंग की जाएगी और हालात की समीक्षा होगी.

पड़ोसी राज्य झारखंड में भी नई बंदी से लागू की गई हैं. ऐसे में अब बिहार के अंदर किस तरह की पाबंदियां लगाई जाती है. यह देखना दिलचस्प होगा. हालांकि राज्य सरकार में सभी जिलों के डीएम से जो फीडबैक लिया है. उसके मुताबिक हर जिले में डीएम शक्ति बढ़ाने के पक्ष में है. सरकारी और निजी कार्यालयों को लिमिटेड अटेंडेंस के साथ चलाने के साथ-साथ नाइट कर्फ्यू की उपयोगिता भी जताई गई है. स्कूल कॉलेज को बंद करने के साथ-साथ कोचिंग पर पाबंदी लगाने की भी सिफारिश हो सकती हैं. सभी तरह की राजनीतिक सामाजिक धार्मिक आयोजनों पर भी रोक लगाने का फैसला हो सकता है इसके साथ ही सरकार यह भी फैसला कर सकती है कि अगर एक मोहल्ले में 10 से अधिक मकानों में पॉजिटिव केस आए तो वहां कंटेनमेंट जोन तुरंत बनाया जाए. रात 8:00 बजे के बाद दुकानों और बाजार को बंद करने पर भी सहमति बन सकती है. हालांकि इस पर अंतिम रूप से फैसला क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप की बैठक के बाद ही लिया जाएगा.

..........
15
2738 views    0 comment
20 Shares

बिहार में ओमिक्रोन के दस्तक के बीच सीएम नीतीश की हाई लेवल बैठक, मुख्यमंत्री ने दिए कई दिशा-निर्देश

PATNA : कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए सीएम नीतीश ने आज पटना में हाई लेवल मीटिंग की है. बैठक में उन्होंने निर्देश दिया है कि ओमिक्रोन की जाँच के लिए राज्य में ही व्यवस्था की जाए. उन्होंने निर्देश दिया है कि कोरोना संक्रमण में बढ़ोतरी देखी जा रही है. इसपर कड़ी नजर रखी जाए. मुख्यमंत्री ने निर्देश दिया है कि सभी मेडिकल कॉलेज और अस्पतालों के साथ साथ जिला अस्पताल और अनुमंडल अस्पतालों में भी पूरी तैयारी रखी जाए.

साथ ही ऑक्सीजन और दवा की पर्याप्त उपलब्धता रखने के साथ साथ टेक्नीशियन और पूरी मेडिकल टीम को अलर्ट मोड पर रखा जाए. उन्होंने यह भी कहा कि आज 10 करोड़ कोरोना टीका का डोज दिया जा चूका है. यह ख़ुशी की बात है. सीएम ने कोरोना के प्रति सभी लोगों को सजग और सचेत रहने का निर्देश दिया है.

समीक्षा बैठक में स्वास्थ्य विभाग के अपर मुख्य सचिव प्रत्यय अमृत ने प्रस्तुतीकरण के माध्यम से कोरोना के बढ़ते मामले तथा उससे बचाव को लेकर की जा रही तैयारियों के संबंध में विस्तृत जानकारी दी. उन्होंने देश में ओमिक्रोन की राज्यवार स्थिति, राज्य में पिछले आठ दिनों का प्रतिदिन टेस्टिंग और पाजिविटी रेट आदि के संबंध में जानकारी दी. स्वास्थ्य विभाग के अपर मुख्य सचिव ने बताया कि सभी जिलों के लिये नोडल ऑफिसर बनाये गये हैं, जो एक-एक चीज पर नजर रखेंगे. मुख्यमंत्री के निर्देशानुसार स्पीड पोस्ट के माध्यम से कोविड होम आइसोलेशन मेडिकल कीट लोगों के घर तक पहुँचाया जायेगा.

..........
28
846 views    0 comment
0 Shares

हो जाएं सावधान : देश में ओमिक्रोन के अब तक 1270 केस, कोरोना के मामलों में भी उछाल

देश में तीसरी लहर की दस्तक हो चुकी है. कोरोना के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं. स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा शुक्रवार को जारी आंकड़ों के मुताबिक, देश में पिछले 24 घंटों में कोरोना के 16,764 नए मामले सामने आए हैं. वहीं, कोरोना के नए वैरिएंट ओमिक्रोन के केस 1270 तक पहुंच गए हैं.

बता दें कि देश में एक दिन में कोविड-19 के 16,764 नए मामले सामने आने और 220 मरीजों के जान गंवाने से संक्रमण के कुल मामलों की संख्या 3,48,38,804 हो गई है. वहीं, मृतकों की संख्या 4,81,080 पर पहुंच गई है.

भारत में कोरोना वायरस के ओमिक्रोन के 309 नए मामले सामने आने से देश में ऐसे मामलों की कुल संख्या 1,270 हो गयी है. 450 मामलों के साथ महाराष्ट्र सबसे ऊपर है. उसके बाद दिल्ली में 370 मामले और केरल 100 मामलों के साथ तीसरे स्थान पर है. 


केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के शुक्रवार सुबह जारी आंकड़ों के अनुसार, अभी तक 23 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेश से ओमिक्रोन के 1,270 मामले आए हैं और 374 लोग स्वस्थ हो गए या देश छोड़कर चले गए हैं. महाराष्ट्र में सबसे अधिक 450 मामले आए. इसके बाद दिल्ली में 320, केरल में 109 और गुजरात में 97 मामले सामने आए.

..........
14
2475 views    0 comment
10 Shares

बिहार के कई जिलों के डीएम बदले, बड़े पैमाने पर आईएएस अधिकारियों का तबादला

PATNA: राज्य सरकार ने आज बड़े पैमाने पर अधिकारियों का तबादला किया है. इसमें कई जिलों के डीएम को बदल दिया गया है. सरकार ने दरभंगा, गया, नालंदा, समस्तीपुर, सुपौल समेत कई जिलों के डीएम का तबादला कर दिया है.

गया के डीएम अभिषेक सिंह को वहां से हटा कर पटना लाया गया है. उन्हें बुडको के प्रबंध निदेशक के पद पर पदस्थापित किया गया है. अभिषेक सिंह के जिम्मे बिहार राज्य आवास बोर्ड का भी काम रहेगा. सरकार ने बुडको औऱ आवास बोर्ड का काम देख रहे आनंद किशोर को सिर्फ नगर विकास विभाग के प्रधान सचिव रहने दिया है.

सरकार ने समस्तीपुर औऱ नालंदा के डीएम की अदला बदली कर दी है. यानि समस्तीपुर के डीएम शशांक शुभंकर को नालंदा का डीएम बना दिया गया है. वहीं नालंदा के जिलाधिकारी योगेंद्र सिंह को समस्तीपुर का नया डीएम बना दिया गया है।उधर राजीव रौशन को दरभंगा के डीएम के पद पर तैनात किया गया है। वे ग्रामीँण विकास विभाग में अपर सचिव का काम देख रहे थे।सहरसा के डीएम कौशल कुमार को सुपौल भेज दिया गया है। वे सुपौल के नये जिलाधिकारी होंगे। सहकारिता विभाग में संयुक्त सचिव के पद पर तैनात आनंद शर्मा को सहरसा का नया जिलाधिकारी बनाया गया है। सुपौल के जिलाधिकारी महेंद्र कुमार को सामान्य प्रशासन विभाग में अपर सचिव के पद पर पदस्थापित कर दिया गया है।

अनिमेष पराशर को पटना नगर निगम के नगर आय़ुक्त पद पर स्थायी तौर पर तैनात कर दिया गया है. अनिमेष कुमार पाराशर अब तक नगर आयुक्त का अतिरिक्त प्रभार संभाल रहे थे. उन्हें राज्य स्वास्थ्य समिति के अपर कार्यपालक निदेशक पद से हटा कर नगर आयुक्त का स्थायी प्रभार दिया गया है.

राज्य सरकार ने समाज कल्याण विभाग के विशेष सचिव दयानिधान पांडेय का ट्रांसफर करते हुए उन्हें समाज कल्याण विभाग में ही सचिव बना दिया है. वे समाज कल्याण विभाग में सामाजिक सुरक्षा निदेशक का अतिरिक्त प्रभार भी संभालेंगे.बिहार सरकार में वित्त विभाग के विशेष सचिव पद पर तैनात गोरखनाथ को स्वास्थ्य विभाग के सचिव पद पर तैनात किया गया है.

जेल आईजी पद पर तैनात मिथलेश मिश्र का ट्रांसफर करते हुए उन्हें वित्त विभाग में अपर सचिव बनाया गया है. मिथलेश मिश्र को बिहार राज्य शिक्षा वित्त निगम के एमडी का अतिरिक्त प्रभार भी दिया गया है. राज्य सरकार ने दरभंगा के नगर आय़ुक्त पद पर तैनात मनेश कुमार मीणा का ट्रांसफर करते हुए उन्हें सूबे का नया जेल आईजी बनाया है. 

वहीं गया के नगर आय़ुक्त सावन कुमार को ग्रामीँण विकास विभाग में संयुक्त सचिव बनाया गया है. बांका के डीडीसी रवि प्रकाश को माध्यमिक शिक्षा का निदेशक बनाया गया है. उधर जहानाबाद के डीडीसी मुकुल कुमार गुप्ता को नार्थ बिहार पावर डिस्ट्रीब्यूशन कंपनी का नया एमडी बनाया गया है. 

औरंगाबाद के डीडीसी अंशुल कुमार को खान एवं भूतत्व विभाग में संयुक्त सचिव बनाया गया है. वहीं नवादा के डीडीसी वैभव चौधरी को सहकारिता विभाग में संयुक्त सचिव पद पर तैनात किया गया है. वैशाली के डीडीसी विजय प्रकाश मीणा को श्रम संसाधन विभाग में नियोजन एवं प्रशिक्षण निदेशक बनाया गया है.

..........
7
2548 views    0 comment
28 Shares