logo
logo
(Trust Registration No. 393)
aima profilepic
Devendra Kumar Pandey
All India Media Association
7
505 views    0 comment
1 Shares

अपना भारतीय सनातन पार्टी की अध्यक्षता में बैठक सम्पन्न
भारतीय सनातन पार्टी की आज 08/01/2022 को कार्यकारिणी बैठक महमूरगंज वाराणसी में सम्पन्न हुई!जिसमे पदाधिकारी के द्वारा आगामी विधानसभा चुनाव के बारे में चर्चा करते हुए पार्टी द्वारा की जाने वाली"जागो सनातन" यात्रा की पार्टी का उद्देश्य है!राष्ट्रीय महा सचिव आचार्य संतोष दास जी ने कहा हमारा सनातन धर्म कही बिखरा-बिखरा नजर आ रहा है! सनातन धर्म के मुद्दों को लेकर योगी सरकार के प्रति सहयोग करते हुए अपनी विचारधारा को लेकर आएंगे!बाद में राष्ट्रीय अध्यक्ष शेषधर पाण्डेय  ने कहा आज सनातन विलुप्त हो गया है तब इस पार्टी का गठन किया गया और पार्टी का उद्देश्य ब्राह्मण,क्षत्रिय, सुदृढ़ वैश्य को एक करके सनातन धर्म मजबूत करना है!पार्टी द्वारा सनातन धर्म को मजबूती,ऋषि और कृषि के विकास के उद्देश्य के लिए अग्रसर रहेगी!बैठक में मुख्य रूप से राष्ट्रीय अध्यक्ष-श्री शेषधर पाण्डेय,बरिष्ठ राष्ट्रीय महासचिव-आचार्य संतोष दास, राष्ट्रीय संगठन मंत्री-सुरेंद्र गिरी, राष्ट्रीय कोषाध्यक्ष-जनार्दन शुक्ला, राष्ट्रीय सह कोषाध्यक्ष-राजाराम दास, प्रदेश उपाध्यक्ष(उत्तर प्रदेश)-कृष्ण मुरारी चौबे,राष्ट्रीय प्रचार मंत्री- महामंडलेश्वर अर्जुन गिरी(जूना अखाड़ा) इत्यादि पदाधिकारी मौजूद रहे!

..........
11
491 views    0 comment
1 Shares

ब्राह्मण विकास परिषद ने एमएलसी ए के शर्मा से दिव्यांग अभिषेक को नौकरी दिलाने की मांग किए।

जनपद मऊ उत्तरप्रदेश के ब्राह्मण विकास परिषद के अध्यक्ष श्री ऋषिकेश पांडेय जी व अन्य सदस्यों ने कुछ वर्ष पूर्व ट्रेन दुर्घटना में दोनो पैर कमर से खो देने वाले ब्लॉक परदहा ग्राम परसपुरा निवासी अभिषेक पाण्डेय पुत्र लक्ष्मण पाण्डेय को साथ लेकर उत्तरप्रदेश के एमएलसी ए के शर्मा से दिव्यांग अभिषेक को नौकरी दिलाने की मांग की 

ए के शर्मा जी ने आश्वासन देते हुए कहा कि दिव्यांग अभिषेक के होनहार लड़का है।और ऐसे बच्चे को नौकरी दिलाने का भरपूर प्रयासरत हू।जिससे इसके जीवन यापन में कोई परेशानी न हो और आत्मसम्मान के साथ जीवन यापन कर सके।एमएलसी शर्मा से दिव्यांग अभिषेक बड़ी ही मासूमियत से कहा सर मुझे नौकरी दिला दीजिए मैं समझूंगा आप मुझे मेरा दोनो पैर दिला दिए।ये सुनकर वहा लोग भावुक हो गए।

शर्मा जी ने कहा आपके लिए जल्द से जल्द प्रयास करूंगा की नौकरी मिले। दिव्यांग अभिषेक के लिए पहले भी एमएलसी शर्मा से मऊ की नारी शक्ति टीम ने भी नौकरी की मांग कर चुके है।जनपद मऊ वासीयो के साथ साथ प्रदेश और देश के लोग भी दिव्यांग अभिषेक पाण्डेय के लिए नौकरी की मांग सोसल मीडिया से करते रहते हैं।अभिषेक ब्राह्मण विकास परिषद मऊ का आभार भी व्यक्त किए।

..........
3
160 views    0 comment
1 Shares

वाराणसी!वाराणसी जिलाधिकारी ने अत्यधिक ठंड के चलते नर्सरी से कक्षा 12 तक के सभी विद्यालयों को 3 जनवरी से 8 जनवरी तक बंद करने का दिए आदेश

वर्तमान समय में शीतलहर तथा तापमान में अत्यधिक गिरावट को दृष्टिगत रखते हुए
एतद्वारा राष्ट्रीय आपदा प्रबन्धन अधिनियम-2005 में उल्लिखित प्राविधानों के अन्तर्गत दिनांक:
03.01.2022 से 08.01.2022 तक जनपद वाराणसी में नर्सरी से कक्षा-12 तक के सभी सरकारी एवं गैर
सरकारी विद्यालयों एवं यू०पी० बोर्ड/सी०वी०एस०ई० बोर्ड/आई०सी०एस०ई० बोर्ड के अन्तर्गत संचालित
समस्त विद्यालयों को विद्यार्थियों हेतु बन्द किया जाता है। यदि उक्त अवधि में कोई विद्यालय ऑनलाईन
कक्षाएं संचालित करना चाहें तो इसके लिए वह स्वतंत्र है।
उक्त अवधि हेतु जनपद के समस्त आंगनबाड़ी केंद्रों को भी बच्चों के लिए बंद किया
जाता है।

..........
33
1342 views    0 comment
1 Shares

बहनों ने अपने भाइयों से चाइना मांझा  का प्रयोग न करने के लिए अपील करते हुए प्रतिबंधित मांझा का बहिष्कार किया

वाराणसी। 31 दिसम्बर भाई की कलाई पर रक्षा के धागे बांधकर भाई की रक्षा का संकल्प लेने वाली बहनों ने अपने भाइयों को चाइना के मंझे का इस्तेमाल ना करने के लिए जागरूक करने का संकल्प लिया और सामूहिक रूप से भाइयों से अपील की कि पतंग उड़ाने के शौक को जानलेवा ना बनाएं, क्योंकि चाइना निर्मित मंझे से कितनों का गला कट चुका है। और ना जाने कितने मौत के मुंह में जा चुके हैं। सामाजिक संस्था सुबह-ए-बनारस क्लब के बैनर तले संस्था के अध्यक्ष मुकेश जायसवाल,लक्ष्मी हॉस्पिटल के प्रबंध निदेशक समाजसेवी डॉ० अशोक कुमार राय, महासचिव राजन सोनी,एवं कालेज की प्रधानाचार्या डॉ० प्रियंका तिवारी के नेतृत्व में कालेज की छात्राओं ने हाथ मे पतंग व बैनर लेकर लोगों की जान पर बन आई कातिल चाइनीज मंझे का भइया मेरे याद रखना चाइनीज मंझे का बहिष्कार करना। चाइना भगाओ जान बचाओ। के नारों के साथ मैदागिन स्थित श्री हरिश्चंद्र बालिका इंटरमीडिएट कॉलेज के परिसर में चाइनीज मांझा के खिलाफ विरोध-प्रदर्शन किया।  उपरोक्त अवसर पर संस्था के अध्यक्ष मुकेश जायसवाल, समाजसेवी डॉ० अशोक कुमार राय, महासचिव राजन सोनी एवं कॉलेज की प्रधानाचार्या डा० प्रियंका तिवारी ने कहा कि चाइनीज मंझे से पतंग की ऊंची उड़ान के चक्कर में अब तक तमाम लोगों की जाने जा चुकी है। और तमाम लोग गंभीर रूप से घायल हो चुके हैं। परंतु इसके बावजूद भी चायनीज मंझे से पतंग की ऊंची उड़ान भरने वालों ने सबक नहीं सीखा। चाइनीज मंझे से इंसान ही नहीं बल्कि पशु- पक्षी भी प्रभावित होते हैं। इसके बावजूद भी प्रतिबंधित चाइनीज मंझे बाजारों में धड़ल्ले से बेरोक-टोक बिकते हैं। प्रशासन चाइनीज मंझे की बिक्री पर यदि कड़ाई से रोक लगा दे, तो तमाम लोग काल के गाल में समाने से बच सकते हैं। पतंग का शौक कुछ बच्चों के लिए  पूरे साल  का रहता है,उनके द्वारा इस्तेमाल किए गए चाइनीज मांझा से गाहे-बगाहे लोग घायल होते रहते हैं। महत्वपूर्ण बात तो यह है कि चाइनीज मंझे के लिए सिर्फ पुलिस और प्रशासन ही जिम्मेदार नहीं है। बल्कि हम और आप भी हैं। जो अपने परिवार के बच्चों को चाइनीज मंझा खरीदने से रोक नहीं पाते हैं। प्रतिबंधित चाइनीज मंझे का चोरी-छिपे कुछ दुकानदार बिक्री करते हैं। जो कानूनन अपराध है, ऐसे लोगों के खिलाफ प्रशासन सख्त से सख्त कार्रवाई करें। ताकि तमाम लोगों की जिंदगी बचाई जा सके। यूं तो चाइनीज मंझा से मरने वाले एवं घायलों की संख्या का तादाद काफी संख्या में हो चुकी है। मगर ताजा उदाहरण के रूप में दिसंबर महीने में लगातार पांच दिन से मीडिया के माध्यम से घायलों की संख्या लोगों के बीच चर्चा का विषय बना हुआ है 
 अंत में पतंग उड़ाने वाले सभी बच्चों और भाइयों से अपील किया गया कि वह चाइनीज मंझे का इस्तेमाल ना करके देसी मंझे का इस्तेमाल करें। ताकि लोगों की जान बचाया जा सके।
कार्यक्रम में मुख्य रूप से :-अध्यक्ष मुकेश जायसवाल, डा० अशोक कुमार राय, प्रधानाचार्या डा० प्रियंका तिवारी, उपाध्यक्ष अनिल केसरी,प्रदीप गुप्ता,डा० मनोज यादव, सहित सैकड़ों छात्राएं शामिल थी।

..........
0
271 views    0 comment
0 Shares

*जनपद के 36 शिक्षक छात्रों को* *विशेष शिक्षा देने हेतु हुए सम्मानित* 

कोरोना महामारी के प्रारंभिक समय से शिक्षा को अनवरत विद्यार्थियों तक पहुंचने तथा बच्चों के न्यूनतम सीखने के प्रतिफल को बनाए रखने के लिए  श्री अरविंदो सोसायटी द्वारा चलाए जा रहे कार्यक्रम के अंतर्गत सक्रिय रहे शिक्षकों को राज्य मंत्री स्वतंत्र प्रभार श्री रविन्द्र जायसवाल द्वारा माननीय जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी श्री राकेश सिंह, डायट प्राचार्य श्री उमेश शुक्ल, एडी बेसिक श्री विनोद राय, अरविन्दो सोसायटी के जनपद प्रभारी रितेश उपाध्याय व आशुतोष त्रिपाठी की गरिमामयी उपस्थिति के बीच  अरविन्द कुमार सिंह, अब्दुर्रहमान, सत्येन्द्र मौर्य, जहीर अख्तर, रविशंकर पटेल, श्रवण गुप्ता, तबस्सुम परवीन,चन्द्रकान्त त्रिपाठी सहित चयनित सभी शिक्षकों को प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया गया।  इस अवसर पर मंत्री जी ने उपस्थित शिक्षकों के साथ-साथ जनपद वाराणसी के बी एस ए श्री राकेश सिंह सहित पूरे बेसिक शिक्षा विभाग की उत्कृष्ट कार्यों व उपलब्धियों हेतु भूरि- भूरि प्रशंसा की।
          कार्यक्रम का आयोजन कम्पोजिट विद्यालय शिवपुर के प्रांगण  में हुआ जहाँ छात्रों को उत्कृष्ट विज्ञान प्रदर्शनी हेतु पुरस्कृत किया गया। इसके साथ-साथ रसोइयों की पाक कला प्रतियोगिता भी थी जिसमें रसोइयो को सम्मानित किया गया। इस अवसर पर शिक्षक कवि, गीतकार, पाठ्यक्रम आधारित कविताओं के रचयिता अरविन्द कुमार सिंह सहायक अध्यापक प्राथमिक विद्यालय धवकलगंज ने स्वरचित विज्ञान कविता- देकर के अनेक उपहार लाया खुशियाँ है अपार जादूनगरी सा विज्ञान है विश्व में। की प्रस्तुति देकर उपस्थित अतिथियों व श्रोताओं को मंत्र-मुग्ध कर दिया।

..........
40
821 views    0 comment
66 Shares

मऊ के दिव्यांग अभिषेक पांडेय यूपी योद्धा गौरव सम्मान से गाजियाबाद में पूर्व भारतीय क्रिकेटर प्रवीण कुमार द्वारा हुए सम्मानित।

मऊ उत्तरप्रदेश के दिव्यांग अभिषेक पांडेय पुत्र श्री लक्ष्मण पांडेय ब्लॉक परदहा के ग्राम परसपुरा निवासी है जो कुछ वर्ष पूर्व ट्रेन दुर्घटना में दोनो पैर खोने के बाद भी जीवन जीने की प्रेरणा देते है।और अपने हिम्मत हौसले और नेक कार्यों से हमेशा सबका दिल जीत लेते है।
एक अटल प्रयास ट्रस्ट द्वारा 25 दिसंबर महाराजा सूरजमल जी के बलिदान दिवस के उपलक्ष में गाजियाबाद उत्तप्रदेश में योद्धा गौरव अवार्ड 2020-21 जिसमे मुख्य अतिथि भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व क्रिकेटर श्री प्रवीण कुमार जी के द्वारा अभिषेक पाण्डेय को आनलाइन सम्मानित किया गया। क्योंकि अभिषेक किसी कारणवस सम्मान समारोह में नहीं पहुंच सके। सोशल मीडिया के जरिए दुनिया भर के लोगो से जुड़कर समाजसेवा का भी कार्य करते है।

जरूरतमंदों के तकलीफों के साथ साथ अपने लिए भी प्रयासरत रहते है।और करोना काल में सैकड़ों लोगो की मदद किए।जिसमे ऑक्सीजन बेड दवाईया हो या दिव्यांग जनों को ट्राइसाइकिल दिलाने से लेकर लोगों को रक्तदान अंगदान के लिए प्रेरित करते हैं।और उनकी मदद का हरसंभव प्रयास करते हैं।और अनेकों रिकार्ड बुक में अपना नाम दर्ज कर चुके हैं।साथ ही साथ अनेकों सम्मान से सम्मानित किए जा चुके हैं।और जनपद मऊ का नाम खुब रौशन करते हैं।सोसल मीडिया के जरिए आज दिव्यांग अभिषेक को हजारों लाखों लोगो के दिलो में राज करते हैं।और लोग अभिषेक पाण्डेय हर सम्भव साथ देने का प्रयास करते हैं।

..........
9
684 views    0 comment
5 Shares

मऊ के दिव्यांग अभिषेक पांडेय यूपी योद्धा गौरव सम्मान से गाजियाबाद में पूर्व भारतीय क्रिकेटर प्रवीण कुमार द्वारा हुए सम्मानित।

मऊ उत्तरप्रदेश के दिव्यांग अभिषेक पांडेय पुत्र श्री लक्ष्मण पांडेय ब्लॉक परदहा के ग्राम परसपुरा निवासी है जो कुछ वर्ष पूर्व ट्रेन दुर्घटना में दोनो पैर खोने के बाद भी जीवन जीने की प्रेरणा देते है।और अपने हिम्मत हौसले और नेक कार्यों से हमेशा सबका दिल जीत लेते है।
एक अटल प्रयास ट्रस्ट द्वारा 25 दिसंबर महाराजा सूरजमल जी के बलिदान दिवस के उपलक्ष में गाजियाबाद उत्तप्रदेश में योद्धा गौरव अवार्ड 2020-21 जिसमे मुख्य अतिथि भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व क्रिकेटर श्री प्रवीण कुमार जी के द्वारा अभिषेक पाण्डेय को आनलाइन सम्मानित किया गया। क्योंकि अभिषेक किसी कारणवस सम्मान समारोह में नहीं पहुंच सके। सोशल मीडिया के जरिए दुनिया भर के लोगो से जुड़कर समाजसेवा का भी कार्य करते है।

जरूरतमंदों के तकलीफों के साथ साथ अपने लिए भी प्रयासरत रहते है।और करोना काल में सैकड़ों लोगो की मदद किए।जिसमे ऑक्सीजन बेड दवाईया हो या दिव्यांग जनों को ट्राइसाइकिल दिलाने से लेकर लोगों को रक्तदान अंगदान के लिए प्रेरित करते हैं।और उनकी मदद का हरसंभव प्रयास करते हैं।और अनेकों रिकार्ड बुक में अपना नाम दर्ज कर चुके हैं।साथ ही साथ अनेकों सम्मान से सम्मानित किए जा चुके हैं।और जनपद मऊ का नाम खुब रौशन करते हैं।सोसल मीडिया के जरिए आज दिव्यांग अभिषेक को हजारों लाखों लोगो के दिलो में राज करते हैं।और लोग अभिषेक पाण्डेय हर सम्भव साथ देने का प्रयास करते हैं।

..........
1
288 views    0 comment
1 Shares

54
2364 views    0 comment
44 Shares

शीतलहर ठंड में डंपी तिवारी 'बाबा' ने गरीबो और असहायों के बीच कम्बल बाटा, कंबल पाकर गरीब असहायो के खिल उठे चेहरे
वाराणसी! सर्द हवाओं व शीतलहर से कड़कती ठंड को देखते हुए बेलवा बाबा लमही शनिवार की देर रात ठंड से ठिठुरते गरीब, असहाय, निर्धन लोगों के बीच राहत मिशन समाज सेवा के राष्ट्रीय अध्यक्ष डंपी तिवारी 'बाबा' ने देर रात इन जगहों पर सोये हुए लोगों के बीच पहुंचकर कंबल वितरण किया। ठंड से कंपकंपा रहे लोगों को जब रात में अचानक कंबल मिला तो ये लोग कंबल पाकर खुश हो गये और संस्था के राष्ट्रीय अध्यक्ष डंपी तिवारी 'बाबा' के लोगों को धन्यवाद किया। लाभार्थी ने शीतलहर की इस रात में उनका हाल चाल देखने आए व कंबल देकर मदद करने पर वे लोग थोड़ी देर के लिए भावुक हो गये!देर रात कंबल वितरण होता देख लोगों ने कहा कि कम्बल वितरण कर सर्दी से ठिठुरते गरीब असहाय के चेहरे पर मुस्कान ला दी। राहत संस्था के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने कम्बल वितरण कर खुले आसमान के नीचे रात गुजारते गरीबों को यह एहसास दिलाया कि समाज मे मानवता खत्म नहीं हुई है।साथ मे आर्यन सेठ,अरविंद राजभर, सलामू, संतोष, नितिन दुबे और सभी भाई मौजूद थे!

..........
18
1539 views    0 comment
1 Shares

जानलेवा हमले के आरोपियों की जमानत अर्जी ख़ारिज

वाराणसी। पुरानी रंजिश को लेकर प्राणघातक हमला करने के मामले में चार आरोपितों को जमानत नहीं मिली। प्रभारी जिला जज राजेंद्र प्रसाद त्रिपाठी की अदालत ने आरोपितों की जमानत अर्जी मामले की गंभीरता को देखते हुए खारिज कर दी। अदालत में वादी की ओर से वरिष्ठ अधिवक्ता अनुज यादव व अभिषेक कुमार दुबे ने जमानत अर्जी का विरोध किया।

अभियोजन पक्ष के अनुसार चितईपुर निवासी वादी ने चितईपुर थाने में प्राथमिकी दर्ज कराई थी। आरोप था कि दो दिसम्बर 2021 को सुबह साढ़े 10 बजे उसके लड़के प्रवीण कुमार मिश्रा, प्रशांत कुमार मिश्रा व अमित कुमार मिश्रा को पट्टीदार जयप्रकाश उपाध्याय व उसके लड़के दिवाकर उपाध्याय, रत्नाकर उपध्याय व अशोक मिश्र पुरानी रंजिश को लेकर एक राय होकर उसके दरवाजे पर चढ़ आये। उसके बाद वे लोग उसके पुत्रों प्रवीण, प्रशांत व अमित को लाठी-डंडा से मार रहे थे। बचने के लिए वे लोग जब घर के अंदर भागे तो दिवाकर उपध्याय ने रिवाल्वर से उसके पुत्र को निशाना बनाकर एक फायर किया। उसके बाद रत्नाकर ने दिवाकर से रिवाल्वर लेकर उसके पुत्रो को निशाना बनाकर तीन फायर किया, लेकिन संयोग से गोली उन्हें नहीं लगी। लेकिन लाठी-डंडे से उसके पुत्रो को काफी चोटें आयी और वे लोग गम्भीर रूप से घायल हो गए। इस दौरान वादी ने जब बीचबचाव करने की कोशिश की तो उनलोगों ने उसे भी मारापीटा, जिससे उसके हाथ व पैर में भी गंभीर चोटें आयी थी!

..........
8
259 views    0 comment
1 Shares

महिलाओं की शादी की न्यूनतम उम्र 18 से बढ़ाकर 21 करने का प्रस्ताव मोदी सरकार ने की मंजूर
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 2020 के स्वतंत्रता दिवस संबोधन में ऐलान किया था कि देश में महिलाओं की शादी की न्यूनतम उम्र को 18 वर्ष से बढ़ाकर 21 किया जाएगा। करीब साल भर बाद पीएम मोदी ने अपने ऐलान को अमलीजामा पहनाना शुरू कर दिया है। जानकारी के मुताबिक, बुधवार को हुई केंद्रीय कैबिनेट की बैठक में महिलाओं के लिए विवाह की कानूनी आयु 18 से 21 वर्ष तक बढ़ाने का प्रस्ताव पारित कर दिया गया है। अब इसे संसद में पेश किया जाएगा और वहां पास होने पर यह कानून बन जाएगा।
कैबिनेट की मंजूरी के बाद अब सरकार बाल विवाह निषेध अधिनियम 2006 में संशोधन पेश करेगी और इसके परिणामस्वरूप विशेष विवाह अधिनियम और हिंदू विवाह अधिनियम, 1955 जैसे व्यक्तिगत कानूनों में संशोधन लाएगी। बुधवार की मंजूरी दिसंबर 2020 में जया जेटली की अध्यक्षता वाली केंद्र की टास्क फोर्स द्वारा नीति आयोग को सौंपी गई सिफारिशों पर आधारित है। इस टास्क फोर्स का गठन मातृत्व की उम्र से संबंधित मामलों, मातृ मृत्यु दर को कम करने की अनिवार्यता, पोषण में सुधार से संबंधित मामलों की जांच के लिए किया गया था।
पीएम मोदी ने कहा था, बेटियों को कुपोषण से बचाने के लिए आवश्यक है कि उनका विवाह उचित समय पर हो। अभी पुरुषों की विवाह की न्यूनतम उम्र 21 और महिलाओं की 18 है। अब सरकार इसे मूर्त रूप देने के लिए बाल विवाह निषेध कानून, स्पेशल मैरिज ऐक्ट और हिंदू मैरिज ऐक्ट में संशोधन लाएगी।

..........
61
2920 views    0 comment
1 Shares

0
413 views    0 comment
0 Shares

0
21 views    0 comment
0 Shares

10
750 views    0 comment
5 Shares

26
4093 views    0 comment
42 Shares

0
323 views    0 comment
0 Shares

किसानों की आवाज रहे सरदार पटेल : पूर्व मंत्री रामप्रताप चौधरी

वाराणसी।  वाराणसी के चिरईगांव  सरदार बल्लभ भाई पटेल का जन्म उस दौर में हुआ जब हमारा देश गुलामी की जंजीरों में जकड़ा हुआ था। युवावस्था में अंग्रेजी हुकूमत के खिलाफ हमेशा मुखर होकर आवाज उठाते रहे। किसानों के साथ हो रहे अत्याचार चाहे वो अनावश्यक कर वसूली रही हो या मालगुजारी का मामला रहा हो सरदार पटेल किसानों की लड़ाई लड़ते रहे।उक्त बातें सपा नेता व पूर्व मंत्री राम प्रताप चौधरी ने 
भागीदारी संकल्प मोर्चा सुभासपा द्वारा आयोजित सरदार वल्लभ भाई पटेल एकता समारोह में बुधवार को विधानसभा शिवपुर के हटिया हनुमान मंदिर के पास आयोजित जनसभा में बतौर मुख्य अतिथि के तौर पर कही।

एकता समारोह की अध्यक्षता करते हुए पूर्व मंत्री व सुभासपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष ओमप्रकाश राजभर ने पिछड़ों के आरक्षण में छेड़छाड़ करने व बढ़ती मंहगाई, बेरोजगारी पर वर्तमान सरकार को जिम्मेदार बताते हुए जमकर भड़ास निकाली।इसके अलावा  उन्होंने सपा सुभासपा गठबंधन के प्रति कार्यकर्ताओं में उत्साह भरते हुए कहा कि आने वाले दिनों में गठबंधन की सरकार अखिलेश यादव के नेतृत्व में बनने जा रही है।

वही भाजपा पर तंज कसते हुए कहा कि पीला और लाल झंडा के मेल से कुछ लोग लखनऊ दिल्ली तक लाल पीले हो रहे हैं।

कार्यक्रम में मुख्य रूप से आयोजक सुनील पटेल, सपा जिलाध्यक्ष सुजीत यादव लक्कड़ पहलवान, पूर्व मंत्री बीरेंद्र सिंह,वरिष्ठ सपा नेता राधाकृष्ण उर्फ संजय यादव, सुनील सोनकर, भासपा मण्डल अध्यक्ष रमेश राजभर, नित्यानन्द पांडेय, भासपा जिलाध्यक्ष गणेश चौहान, राजू पटेल प्रधान हटिया, उमेश प्रधान, पूर्व एमएलसी राजदेव सिंह,पूर्व ब्लॉक प्रमुख रामबालक पटेल सहित बड़ी संख्या में भासपा नेता कार्यकर्ता उपस्थित रहे।संचालन शशि प्रताप सिंह ने किया।

अथितियों का स्वागत सपा नेता राधाकृष्ण उर्फ संजय यादव ने किया!

..........
18
723 views    0 comment
7 Shares

मऊ के दिव्यांग अभिषेक पाण्डेय वर्ल्ड बुक ऑफ रिकॉर्ड लंदन यूके  में नाम दर्ज कर नया कीर्तिमान स्थापित किए।

मऊ। उत्तरप्रदेश के ब्लॉक परदहा ग्राम परसपुरा निवासी दिव्यांग अभिषेक पाण्डेय पुत्र लक्ष्मण पांडेय जी के इकलौते लड़के है। कुछ वर्ष पूर्व ट्रेन दुर्घटना में दोनो पैर कमर से खोने के बाद कभी हार नही माने उनके हिम्मत हौसले और नेक कार्य का सराहना देश ही नहीं बल्कि विदेशों में भी प्रचलित है।

कुछ समय पूर्व वर्ल्ड बुक ऑफ रिकॉर्ड्स लंदन यूके द्वारा अखण्ड काव्यायना तंजानिया अफ्रीका जिसकी आयोजक डॉ ममता सैनी द्वारा में विश्व के विभिन्न देश विदेश व शहरों के 157 कवियों का चयन कर आयोजित आनलाईन कार्यक्रम किया गया।जिसमे मऊ के दिव्यांग अभिषेक पाण्डेय का चयन हुआ।जिसमे दिव्यांग अभिषेक के हौसले और उनकी स्वरचित रचनाओं और लेखनी को खुब सराहा गया।और प्रतिभागी बन विश्व रिकॉर्ड में नाम दर्ज कर नया कीर्तिमान स्थापित किए।

अब तक दिव्यांग अभिषेक अनेक वर्ल्ड रिकार्ड बुक में अलग अलग क्षेत्रों में अपना नाम दर्ज करा कर नए कीर्तिमान स्थापित कर जनपद मऊ का नाम रोशन कर चुके है।और अनेकों अवार्ड से भी सम्मानित किए जा चुके है।जिन परिस्थितियों में लोग टूट जाते है।और अपने भाग्य को कोसते हुए रोना रोते हैं।ऐसे तमाम संघर्षों और परेशानियों से लड़ते हुए अभिषेक पाण्डेय अपना धैर्य साहस और हौसला न खोते हुए।

अपने मेहनत काबिलियत से आगे बढ़ने का प्रयासरत हैं। जहां लोग पैर होते हुए भी विदेश जाने के लिए सौ बार सोचते हैं। वहां पैर न रहते हुए भी विदेशों से दिव्यांग अभिषेक पाण्डेय के काबिलियत को देखते हुए सम्मानित किया जा रहा है।आज सोसल मीडिया के जरिए दिव्यांग अभिषेक लाखों युवाओं के लिए प्रेरणास्रोत हैं। अभिषेक के शुभ चिंतकों द्वारा बधाई देने वालों का ताता लगा।

..........
34
2482 views    0 comment
2 Shares

मऊ के दिव्यांग अभिषेक पाण्डेय वर्ल्ड बुक ऑफ रिकॉर्ड लंदन यूके  में नाम दर्ज कर नया कीर्तिमान स्थापित किए।

मऊ। उत्तरप्रदेश के ब्लॉक परदहा ग्राम परसपुरा निवासी दिव्यांग अभिषेक पाण्डेय पुत्र लक्ष्मण पांडेय जी के इकलौते लड़के है।कुछ वर्ष पूर्व ट्रेन दुर्घटना में दोनो पैर कमर से खोने के बाद कभी हार नही माने उनके हिम्मत हौसले और नेक कार्य का सराहना देश ही नहीं बल्कि विदेशों में भी प्रचलित है।

कुछ समय पूर्व वर्ल्ड बुक ऑफ रिकॉर्ड्स लंदन यूके द्वारा अखण्ड काव्यायना तंजानिया अफ्रीका जिसकी आयोजक डॉ ममता सैनी द्वारा में विश्व के विभिन्न देश विदेश व शहरों के 157 कवियों का चयन कर आयोजित आनलाईन कार्यक्रम किया गया।जिसमे मऊ के दिव्यांग अभिषेक पाण्डेय का चयन हुआ।जिसमे दिव्यांग अभिषेक के हौसले और उनकी स्वरचित रचनाओं और लेखनी को खुब सराहा गया।और प्रतिभागी बन विश्व रिकॉर्ड में नाम दर्ज कर नया कीर्तिमान स्थापित किए।

अब तक दिव्यांग अभिषेक अनेक वर्ल्ड रिकार्ड बुक में अलग अलग क्षेत्रों में अपना नाम दर्ज करा कर नए कीर्तिमान स्थापित कर जनपद मऊ का नाम रोशन कर चुके है।और अनेकों अवार्ड से भी सम्मानित किए जा चुके है।जिन परिस्थितियों में लोग टूट जाते है।और अपने भाग्य को कोसते हुए रोना रोते हैं।ऐसे तमाम संघर्षों और परेशानियों से लड़ते हुए अभिषेक पाण्डेय अपना धैर्य साहस और हौसला न खोते हुए।

अपने मेहनत काबिलियत से आगे बढ़ने का प्रयासरत हैं। जहां लोग पैर होते हुए भी विदेश जाने के लिए सौ बार सोचते हैं। वहां पैर न रहते हुए भी विदेशों से दिव्यांग अभिषेक पाण्डेय के काबिलियत को देखते हुए सम्मानित किया जा रहा है।आज सोसल मीडिया के जरिए दिव्यांग अभिषेक लाखों युवाओं के लिए प्रेरणास्रोत हैं। अभिषेक के शुभ चिंतकों द्वारा बधाई देने वालों का ताता लगा।

..........