logo
(Trust Registration No. 393)
Write Your Expression

भुज आशापुरा माताजी मंदिर में पितृ पूजा संपन्न

भुज(कच्छ) । आद्या शक्ति की आराधना का पर्व नवरात्रि पूरे कच्छ में मनाया जा रहा है। अष्टमी के अवसर पर आज भुज के आशापुरा माताजी मंदिर में पितृ पूजा का आयोजन किया गया. कच्छ कुलदेवी ने मात्र 30 सेकंड में एक पत्र दिया और आशीर्वाद बरसा दिया।

इस संबंध में विवरण के अनुसार राजशाही के समय से चली आ रही परंपरा के अनुसार अष्टमी के अवसर पर भुज के आशापुरा माताजी मंदिर में विभिन्न धार्मिक कार्यक्रमों का आयोजन किया जाता था। रोहा ठाकोर पुष्पेंद्रसिंहजी ने दरबारगढ़ में महामाया माताजी के मंदिर में चमार पूजा की। चमार पूजा के बाद दरबारगढ़ से आशापुरा माताजी के मंदिर तक चमार पूजा हुई, जहां पुष्पेंद्रसिंहजी ने पितृ पूजा की। जयेशभाई ओझा ने पितृ पूजा की। पितृ पूजा के बाद रोहा ठाकोर पुष्पेंद्रसिंह जडेजा ने कहा कि महारानी प्रीतिदेवी साहेबा के आदेश से मुझे पितृ पूजा करने का अवसर मिला। आशापुरा माताजी ने मात्र 30 सेकेंड में वरदान दे दिया। महारानी साहेबा ने मातनमध में पितृ पूजा की है जो एक ऐतिहासिक घटना है।

भुज आशापुरा माताजी मंदिर के पुजारी जनार्दनभाई दवे ने बताया कि बीती रात सप्तमी का हवन किया गया था. आज चमार पूजा के साथ-साथ पितृ पूजन भी संपन्न हो गया है। आशापुरा माताजी के भक्तों से हमेशा के लिए आशीर्वाद की प्रार्थना की गई। इस अनुष्ठान के दौरान बड़ी संख्या में मेरे भक्त मौजूद थे। अत: बीती रात्रि के सातवें अवसर पर हवन किया गया।

मंदिर के पुजारी जनार्दनभाई दवे, कवच दवे, मरुत दवे ने हवन शुरू किया।श्रीफल होमी हवन दोपहर 12.30 बजे संपन्न हुआ। आचार्य नरेशभाई पाठक, चंद्रकांतभाई भट्ट ने धर्मग्रंथ समारोह का संचालन किया। इस अवसर पर भुज हाटकेश्वर मंदिर एवं रुद्री समूह के सदस्य बड़ी संख्या में उपस्थित थे। नैवेद प्रसाद की व्यवस्था आरती ग्रुप ने की थी, जबकि पाटी विधि का सीधा प्रसारण मयूर चौहान और हर्षद चौहान ने किया था।

इस मौके पर पूर्व सांसद पुष्पदानभाई गढ़वी, जे.जे. मेघनानी, विनोद आर. भावसार, राजूभाई पुरोहित, अश्विनभाई सोनी, दलपतभाई दानीधरिया के साथ-साथ प्रागमहल और रंजीत विलास पैलेस के कर्मचारी मौजूद थे।

2
112 Views
29
670 Views
9 Shares
Comment
6
376 Views
4 Shares
Comment
6
455 Views
0 Shares
Comment
7
462 Views
0 Shares
Comment
0
317 Views
11 Shares
Comment