logo
(Trust Registration No. 393)
Write Your Expression

कोरोना संक्रमित हो रहे बच्चों को बचाने के लिए सभी को टीका लगाने की हो व्यवस्था

कोरोना की दूसरी लहर में संक्रमितों की बढ़ रही संख्या की लपेट में बच्चें भी भारी तादाद में आ रहे है और सरकार है कि पहले अग्रमी पंक्ति के कोरोना योद्धाओं को टीका लगवाने में व्यस्त रही और अब 45 साल के ऊपर के लोगों के लिए यह सीमा निर्धारित कर दी गई है। लेकिन आंकड़ों के अनुसार देश में इस समय 80 हजार के आसपास बच्चें कोरोना संक्रमित बताये जाते है जिनमें 5 साल की उम्र के बच्चे शामिल है।


अपने देश में ब्राजील जैसी स्थिति कोरोना संक्रमण से बच्चों को लेकर न हो इस तथ्य को ध्यान में रखते हुए भावी भविष्य को बचाने के लिए मेरी माननीय प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी से मांग है कि अब समय आ गया है कि टीके की दवाई के उत्पादन युद्धस्तर पर बढ़ाकर हर उम्र के व्यक्ति चाहे वह बच्चा हो या बड़ा सबको वैक्सीन टीका लगाने की व्यवस्था की जाए।

बीते शुक्रवार को गुजरात के सुरत में 15 दिन की नवजात बच्ची कोरोना का शिकार बन गई। दूसरी लहर में बच्चों के संक्रमित होने और मरने के मामलों में यह भी शामिल है। बताते चले कि महाराष्ट्र में 1 मार्च से 4 अप्रैल तक 1484 बच्चे संक्रमित हो चुके है। जिनमें से 9882 बच्चों की उम्र बताई जा रही है। उप्र में 3004 बच्चें संक्रमित बताये गये है जिनमें से 471 बच्चें 5 साल तक के बताये जाते है। महाराष्ट्र के बाद सबसे अधिक 5940 बच्चें छत्तीसगढ़ में संक्रमित होने की खबर है। इनमें से 922 छोटी उम्र के बताये जाते है। देश की राजधानी दिल्ली में 4 अप्रैल तक 2733 बच्चें पाॅजीटिव जिनमें से 441 बच्चें 5 साल से कम के है।

यह तो सूचनाऐं अखबारों में छपी लेकिन ऐसे कितने ही मामले होंगे जो प्रकाश में नहीं आ पाए। आदरणीय प्रधानमंत्री जी अभिभावकों की जान बच्चों में बसती है उसे बचाने के लिए वो कुछ भी कर सकते है। इस तथ्य को ध्यान में रखते हुए अब हर व्यक्ति चाहे वो छोटा हो या बड़ा अब सबको ही टीका लगवाने की व्यवस्था की जाए। जनहित में यह सबसे जरूरी विषय है।

13
8764 Views
13
8367 Views
0 Shares
Comment
13
9277 Views
0 Shares
Comment
13
9083 Views
0 Shares
Comment
13
9987 Views
28 Shares
Comment
16
10091 Views
53 Shares
Comment