logo
(Trust Registration No. 393)
Write Your Expression

अखिलेश यादव की सभा जुटी 50 हजार की भीड़

चार साल से सत्ता से दूर रहने पार्टी के एक प्रमुख स्तंभ चाचा शिवपाल यादव के अलग हो जाने तथा पार्टी संस्थापक पूर्व मुख्यमंत्री और केन्द्रीय रक्षामंत्री रहे श्री मुलायम सिंह यादव की सभा में उपस्थिति के बिना पश्चिमी उत्तर प्रदेश में लगभग 50 हजार की भीड़ अखिलेश यादव के नाम पर जुटना अपने आप में भविष्य के लिए राजनीति में सक्रिय लोगों को एक संदेश दे रही थी। मेरठ जनपद के तहसील मवाना के मखदूम पुर रोड़ स्थित नवजीवन कालेज के मैदान पर शहीद धनसिंह कोतवाल की मूर्ति का अनावरण तथा शहीदों को श्रद्धाजंलि देने पहुंचे श्री अखिलेश यादव का जो स्वागत पार्टी के नेता और कार्यकर्ताओं ने किया वो तो एक अलग बात है लेकिन सभा में जुटी भीड़ ने जो उप्र के पूर्व युवा मंत्री सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री अखिलेश यादव की सभा में पहुंचकर उनके प्रति जो समर्थल व्यक्त किया वो कई मायनों में अत्यंत महत्वपूर्ण कहा जा सकता है।


वर्तमान समय में जब 2022 में उप्र विधान सभा के चुनाव की तैयारियां चल रही है ऐसे में बिना किसी सुविधा और सत्ता के उपयोग के मौसम खराब होने के चलते सभा स्थल पर दूर दूर तक भीड़ और लगा जाम अनकहे रूप में इस समय जो भविष्य की कहानी कह रहा था उसे समझने वालों की राय थी कि जनता को आर्कषित करने और पुलिस वालों को लुभाने में अपने संबोधन में सफल रहे अखिलेश यादव तथा कोई भी मौका वर्तमान सरकार और सत्ताधारी दल पर राजनीति हमले करने का ना चूकने वाले श्री अखिलेश यादव ने जब कहा कि वर्तमान सरकार के पास सिवाए टेलीविजन के कोई विजन नहीं है हमारे द्वारा किये गये विकास कार्यों पर लगी पट्टिकाओं को हटाकर अपनी लगाने के अलावा कोई विकास कार्य प्रदेश में नहीं हो रहा है। अखिलेश बोले हमने 100 नंबर बनाई उन्होंने उसका नाम 112 रख दिया है सब कुछ वो ही हां पुलिस वालों की तनख्वाह जरूर घट गई। जितने प्रमोशन सपा सरकार ने दिये उतने किसी ने नहीं। सरधना विधान सभा से चुनाव लड़ चुुके अतुल प्रधान सीमा प्रधान प्रदेश सरकार के पूर्व मंत्री शहिद मंजूर आदि का सभा में भीड़ जुटाने का अभूतपूर्व योगदान बताया जा रहा था। अखिलेश यादव बोले अगली सरकार हमारी बनेगी आप अतुल प्रधान और अन्य जो एक्ट पूर्व हो गये है उन्हें भी जीतकर भेजिए।
कुल मिलाकर आज की इस सभा की भीड़ श्री अखिलेश यादव और सपा की बढ़ती लोकप्रियता का एहसास करा रही थी। लेकिन सपा में नये शामिल हुए योगेश वर्मा और प्रदेश सरकार में मंत्री रहे प्रभू दयाल वाल्मीकि आदि को इस अवसर पर छपवाये गये विज्ञापनों से अलग रखा जाना भी चर्चाओं का विषय तो रहा ही अगर समय रहते अखिलेश यादव जी ने इस गुटबंदी को दूर नहीं किया तो जितना लाभ इन सभाओं में जुटी भीड़ का मिलना चाहिए शायद वो नहीं मिल पाएगा। इस सभा में सपा नेता डिम्पल यादव और स्वामी अग्निवेश की उपस्थिति भी बताई गई।
सभा स्थल पर अन्य सपा नेता और कार्यकर्ताओं के साथ ही छावनी क्षेत्र विधानसभा से सपा से घोषित उम्मीदवार रहे युवा सपा नेता सरदार परमिन्दर सिंह ईशू भी नजर आये।

– रवि कुमार विश्नोई

सम्पादक – दैनिक केसर खुशबू टाईम्स
अध्यक्ष – ऑल इंडिया न्यूज पेपर्स एसोसिएशन
आईना, सोशल मीडिया एसोसिएशन (एसएमए)
MD – www.tazzakhabar.com

13
8614 Views
13
8433 Views
1 Shares
Comment
13
8554 Views
2 Shares
Comment
13
8500 Views
1 Shares
Comment
13
8369 Views
4 Shares
Comment
13
8457 Views
5 Shares
Comment