logo

साधना क्षेत्र अमरकंटक में योग शिक्षा की राष्ट्रीय कार्यशाला सम्पन्न योग केवल व्यायाम मात्र नहीं एक विकसित विज्ञान -


साधना क्षेत्र अमरकंटक में योग शिक्षा की राष्ट्रीय कार्यशाला सम्पन्न
योग केवल व्यायाम मात्र नहीं एक विकसित विज्ञान - राजेश
अमरकंटक/ अनूपपुर - विद्या भारती ने अपने लक्ष्य में बालक के सर्वांगीण विकास को शिक्षा का उद्देश्य माना है इस उद्देश्य की पूर्ति के लिए योग का महत्वपूर्ण स्थान है।योग केवल शारीरिक व्यायाम मात्र नहीं एक विकसित विज्ञान है।मुद्राएं,आसन शरीर को सशक्त,निरोगी,सुडोल तथा रोग निरोधक बनाती है वही प्राणायाम,धारणा,ध्यान मानसिक एकाग्रता एवं बुद्धि की प्रखरता प्रदान करती हैं।यह उद्गार नर्मदा के उद्गम स्थल साधना क्षेत्र अमरकंटक में विद्या भारती द्वारा संचालित सरस्वती शिशु मंदिर मे स्थित विद्या भारती अखिल भारतीय योग शिक्षा केंद्र पर चल रहे पंच दिवसीय अखिल भारतीय योग कार्यशाला के समापन सत्र पर रविवार को विद्या भारती के अखिल भारतीय योग संयोजक राजेश कुमार ने बतौर मुख्य वक्ता व्यक्त किए।प्रान्त योग शिक्षा प्रमुख चुन्नीलाल बोपचे कि कार्यक्रम के मुख्य अतिथि उमेश कुमार द्विवेदी बंटी महाराज नर्मदा उद्गम के मुख्य पुजारी व विशिष्ट अतिथि अशोक जैन कोषाध्यक्ष सरस्वती शिशु मंदिर अमरकंटक रहे तथा अध्यक्षता के.स्थानुमूर्ति अखिल भारतीय योग शिक्षा प्रभारी द्वारा की गई कार्यक्रम का शुभारंभ अतिथियों द्वारा मां सरस्वती एवं भारत माता के चित्र के समक्ष दीप प्रज्वलन के साथ व अतिथियों का स्वागत श्रीराम शिरोमणि शर्मा विभाग समन्वय व सरस्वती शिशु मंदिर के प्राचार्य ब्रजकिशोर शर्मा ने किया इस अवसर पर कार्यक्रम के मुख्य वक्ता द्विवेदी ने अपने विचार व्यक्त करते हुए कहा कि योग भारत की अमूल्य देन है योग से भारत पुनः विश्व गुरु बनेगा उन्होंने मां नर्मदा के उद्गम के महत्व एवं साधना क्षेत्र की जानकारी दी। समारोह का संचालन राजस्थान के योग शिक्षा प्रमुख राजेंद्र कुमार शर्मा द्वारा किया गया।वर्ग प्रतिवेदन धनंजय शर्मा ने प्रस्तुत किया।कार्यशाला में 8 क्षेत्रीय योग शिक्षा प्रमुख 19 प्रांत योग शिक्षा प्रमुख सहित देश भर के कुल 40 चयनित दक्ष प्रशिक्षक कार्यकर्ताओं ने भाग लिया।वर्ग के विभिन्न सत्रों में नियमित योगाभ्यास रहा जिसमेंब्रह्म नाद का महत्व विभिन्न प्राणायाम,मुद्रा ज्ञान,आसन,योग निन्द्रा एवं सूर्य नमस्कार की जानकारी दी। समारोह में योगाचार्य मुरलीभैया,जनजाति शिक्षा के जिला समन्वयक श्रीराम शरण चंद्रवंशी,राजेश रंजन,मधुसूदन बारीक,देवेंद्र नाथ पांडे,कमल किशोर,तिलकराम रूडकी उपस्थित रहे।अंत में उपस्थित सभी कार्यकर्ताओं को हिंदू नव वर्ष विक्रम संवत 2080 की शुभकामनाएं दी।आभार प्रदर्शन वरिष्ठ कार्यकर्ता एस कोटम राजू हैदराबाद में प्रकट किया।शांति मंत्र के साथ कार्यक्रम का समापन हुआ।

25
6676 views
  
1 shares