logo
(Trust Registration No. 393)
अपने विचार लिखें....

चरखी दादरी। कार्यक्रम को संबोधित करते हुए उनके पौत्र पूर्व सैनिक सोमबीर फौजी ने कहा कि स्व. नान्हटाराम ने नेताजी सुभाषचंद्र बोस की अगुवाई में आजाद हिंद फौज में शामिल होकर आजादी की लड़ाई में योगदान दिया।

उन्होंने युवाओं से राष्ट्रवीरों के जीवन से प्रेरणा लेने का आह्वान किया। प्रेरक एसोसिएशन प्रदेशाध्यक्ष मास्टर विनोद मांढ़ी ने कहा कि स्वतंत्रता सेनानी नान्हटाराम का 1916 में जन्म हुआ था। वे 1936 में आईएनए में भर्ती हुए। उन्होंने दो वर्ष तक म्यांमार में जेल भी काटी। 

0
955 views