logo
(Trust Registration No. 393)
Write Your Expression

कमिश्नर का निर्णय है जनहित का, बिना मास्क लगाए फोटो छपी तो होगी कार्रवाई

मेरठ।दूसरी लहर में कोरोना जिस रफतार से बढ़ रहा है वो किसी को बताने की आवश्यकता नहीं है। और क्यों हो रहा है यह भी सभी को पता है। और शायद जैसे यह बढ़ना शुरू हुआ था अगर बचाव के इंतजाम कर लिए जाते तो ऐसा नहीं होता। मगर कहते हैं कि अगर सुबह का भूला शाम को घर आ जाए तो भूला नहीं कहलाता। कुछ ऐसा ही आजकल शहर की सड़कों पर हर आदमी के चेहरे पर लगे मास्क को देखकर कहा जा सकता है। क्योंकि जैसे जैसे कोरोना बढ़ रहा है हाथ धोने मास्क लगाने और दूरी बनाए रखने के नियमों का पालन कराने हेतु शासन स्तर पर स्पष्ट आदेशों एवं अदालतों के निर्देशों तथा सरकारों के आहवान पर इस संदर्भ में सख्ती होना शुरू हो गई है।

आजकल सड़कों पर पुलिस अफसरों से लेकर थानों के इंस्पेक्टर और प्रशासनिक अधिकारी लोगों से नियमों का पालन कराने के लिए प्रयास करते नजर आ रहे हैं। तो अब बिना मास्क लगाए पकड़े जाने पर दस गुना तक जुर्माना होने की चल रही चर्चा का परिणाम कह सकते हैं या नागरिकों में आई जागरूकता। जो भी हो गली मौहल्लों से लेकर मुख्य मार्गों तक साईकिल सवार हो या रिक्शा। दो पहिया हो या चार पहिया गाड़ी वाला। 60 प्रतिशत के करीब लोग मास्क लगाए नजर आते हैं। लेकिन कोरोना की रोकथाम के लिए जी जान से लगे इससे संबंध नियमों का पालन कराने में व्यस्त मेरठ मंडलायुक्त श्री सुरेंद्र सिंह का जो नया प्रयास है उससे 90 प्रतिशत लोग मास्क लगाना शुरू कर सकते है।
स्मरण रहे कि बीते दिनों हंसमुख और मिलनसार तथा प्रशासनिक कार्यों में दक्ष मंडलायुक्त सुरेंद्र सिंह द्वारा एक आदेश किया गया है कि मास्क नहीं पहना तो बैठक में आएं या अपने कार्यलय में बैठने वाले अफसर को प्रतिकूल प्रविष्टि दी जाएगी और बिना मास्क अफसर का फोटो छपने पर होगी कार्रवाई। आप और हम सभी जानते हैं कि अपने देश के ग्रामों में प्रचलित कहावत भय बिन प्रीत न होए गोपाला भूखे भजन पेट ना हो पाए गोपाला को ध्यान में रखकर सोचें तो यह आदेश कोरोना महामारी को रोकने में अत्यंत महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकता है।
आज कई लोगों से सुनने को मिला और मेरा भी मत है कि जिस प्रकार से अधिकारियों के बिना मास्क के फोटो छपने पर कार्रवाई की बात की जा रही है उसी प्रकार से अगर होने वाले समारोह राजनीतिक दलों के लोगों, खिलाड़ियों कहने का मतलब है कि कोई भी हो अगर वह बिना मास्क लगाए कभी किसी फोटो में नजर आता है तो उसकी जांच कराकर इनके विरूद्ध भी कार्रवाई की जाने की व्यवस्था हो तो मुझे लगता है कि तमाम चेहरे पर मास्क तो दिखाई देंगे ही अन्य नियमों का भी पालन होने लगेगा और कोरोना के बढ़ते प्रकोप में काफी कमी आ सकती हैं। कमिश्नर साहब जो आदेश आपने दिया उसके लिए आपको बधाई है।

बस आम आदमी के हित में अपनी स्पष्ट कार्यप्रणाली के तहत लाॅकडाउन के नियमों का उल्लंघन करने वालों के खिलाफ पहली गलती को छोड़ दूसरी बार में हो सख्त कार्रवाई क्योंकि जन और देशहित से बड़ा कुछ भी नहीं है। 


14
9338 Views
18
9653 Views
0 Shares
Comment
16
10267 Views
33 Shares
Comment
16
9260 Views
0 Shares
Comment
19
9241 Views
25 Shares
Comment
25
9875 Views
20 Shares
Comment