logo
(Trust Registration No. 393)
Write Your Expression

राज्यपाल ने झारखंड प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय में दो दिवसीय चर्चा का किया उद्घाटन

जमशेदपुर (झारखंड)l  झारखंड प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय, रांची द्वारा आयोजित दो दिवसीय संगोष्ठी "झारखंड राज्य में व्यवसायिक शिक्षा के अवसर और चुनौतियां: झारखंड प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय की भूमिका" विषय पर आयोजित संगोष्ठी में सम्मिलित होकर अपार प्रसन्नता हो रही हैl झारखंड प्राकृतिक संपदाओं एवं अद्भुत मानव संसाधनों से भरा-पूरा एक समृद्ध राज्य हैंl यहां श्रम और प्रतिभा की कोई कमी नहीं है, जरूरत है सिर्फ इन महत्वपूर्ण संसाधनों को समायोजित करने की।

झारखंड राज्य के विकास और युवा शक्ति की सृजनात्मक संभावनाओं को ध्यान में रखते हुए "झारखंड प्रदेश में व्यवसायिक शिक्षा की चुनौतियां एवं संभावनाएं: झारखंड प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय की भूमिका" विषयक विचार संगोष्ठी का आयोजन सराहनीय पहल है।

गरीबी व बेरोजगारी के अतिरिक्त शिक्षा की राह में जो सबसे बड़ा रोड़ा शैक्षणिक वातावरण के प्रति उदासीनता का भाव है। समाज की विभिन्न सकारात्मक इकाइयों की तरफ से सतत जागरूकता व अनुकूल प्रेरणा के माध्यम से इस बाधा को दूर किया जा सकता है। 

झारखंड प्रांत के निवासियों में श्रम के प्रति समर्पण की अनुपम निष्ठा सर्वविदित है। श्रम की इस शाश्वत निष्ठा को तकनीकी के सहयोग से परिपुष्ट करते हुए, इसे प्रदेश की युवाशक्ति के स्वावलंबन व उन्नयन की दिशा में एक कारगर हथियार के रूप में विकसित किया जा सकता है।

झारखंड प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय की स्थापना का स्पष्ट उद्देश्य विज्ञान, प्रौद्योगिकी, Engineering एवं प्रबंधन में शिक्षा एवं शोध के उत्कृष्ट केंद्रों के सृजन का उन्नयन करना है। साथ ही झारखंड में स्थापित विभिन्न Engineering एवं तकनीकी महाविद्यालयों द्वारा दी जा रही शिक्षा की गुणवत्ता में सुधार, Engineering, Technology के क्षेत्र में शोध सुविधाओं के विकास तथा वैश्विक परिवर्तन एवं झारखंड की आवश्यकता के अनुकूल बनाने की दिशा में पूर्णतः कार्य करना है। झारखंड प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय अपने मूल लक्ष्य को यथाशीघ्र आदर्श रूप में पूर्ण करे; ऐसी मेरी शुभकामना है।

मैं इस दो दिवसीय संगोष्ठी के सफल आयोजन की कामना करती हूँ तथा विश्वविद्यालय निरंतर प्रगति के पथ पर तीव्र गति से अग्रसर हो, ऐसी कामना करती हूँ।

63
8556 Views
1 Shares
63
9823 Views
1 Shares
Comment
63
9578 Views
66 Shares
Comment
63
8557 Views
0 Shares
Comment
63
8555 Views
4 Shares
Comment
63
9667 Views
2 Shares
Comment