logo
(Trust Registration No. 393)

कृषि वैज्ञानिकों ने किया बगीचों का निरीक्षण


-वैज्ञानिक तरीके की खेती से बदलेगी किसानों की दशा और दिशा: एलएन महावीर
बीगोद (भीलवाड़ा, राजस्थान)। स्थानीय कस्बे सहित क्षेत्र में  उदयपुर व भीलवाड़ा के कृषि वैज्ञानिक एवं अधिकारियों ने बगीचों का निरीक्षण किया और किसानों को जानकारी दी।
कृषि विज्ञान केंद्र, उदयपुर के वैज्ञानिक एलएन महावीर ने कहा कि आज भी अधिसंख्य किसान परंपरागत खेती से मोह नहीं छोड़ रहे हैं। वैज्ञानिक ढंग से खेती करने से ही किसानों की दशा एवं दिशा बदल सकेगी।

 उन्होंने कहा कि ग्रीन हाउस और नेट हाउस लगाकर भी किसान उन्नत आर्थिक रूप से मजबूत हो रहा है। किसान खीरा ककड़ी, शिमला मिर्च, डच गुलाब,अमरूद, संतरा, पपीता सहित औषधीय फसलों से भी आत्मनिर्भर बन सकता है। 

उन्होंने कस्बे में प्रगतिशील किसान रजाक आजाद के यहां जैविक तरीके से उगाई जा रही खीरा, ककड़ी व शिमला मिर्च सहित अन्य फसलों का निरीक्षण किया और किसान के काम की सराहना की एवं कृषि सबंधी जानकारी प्रदान की। 

भीलवाड़ा कृषि विज्ञान केंद्र के वैज्ञानिक डॉक्टर सीएम यादव ने फसलों में कीट, रोग निदान की जानकारी दी और मिर्च में सफेद मक्खी, थ्रिप्स एवं मकड़ी के नियंत्रण के बारे में बताया। 
डॉक्टर एमएल चांगवाल ने कहा कि किसान कम लागत की खेती के साथ जैविक खेती को अपना कर वैज्ञानिक तरीके से खेती करें तो उन्हें सफलता जरूर मिलेगी। 

निरीक्षण के दौरान ग्राम सेवक देवेंद्र तेली, नन्दलाल सेन, कुलदीप पारिक सहित किसान मौजूद रहे।

0
1449 Views